BFA Course Details in Hindi: योग्यता, फीस, सेलेबस और सैलरी?

इस लेख की रूपरेखा:

BFA Course Details in Hindi

कोर्स का नामबैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स (BFA)
कोर्स का लेवलअंडरग्रेजुएट
कोर्स की अवधि3 साल
कोर्स के लिए योग्यता12वीं 50% अंक से पास
एडमिशन प्रोसेसप्रवेश परीक्षा, मेरिट लिस्ट और डायरेक्ट एडमिशन
औसतन फीस₹10000- ₹50000 प्रति साल
टॉप जॉब प्रोफाइलग्राफिक डिजाइनर, आर्टिस्ट स्क्रिप्ट राइटर, विजुअल आर्टिस्ट एनिमेटर, कार्टूनिस्ट, टेक्सटाइल डिजाइनर, आर्ट टीचर, फाइन आर्टिस्ट
औसतन शुरुआती सैलरी₹15000- ₹30000 प्रति महीना

यदि आप एक ऐसे विद्यार्थी हैं जो ग्राफिक डिजाइनर, आर्ट डायरेक्टरविजुअल, आर्टिस्ट स्क्रिप्ट राइटर और मल्टीमीडिया मास्टर जैसे फील्ड में अपना एक बेहतरीन करियर बनाना चाहते हैं तो BFA का अंडरग्रेजुएट कोर्स आपके लिए एक बेहतरीन विकल्प हो सकता है।

BFA Course Details in Hindi के इस लेख में हम आपको BFA कोर्स क्या होता है, BFA कोर्स करने के फायदे, BFA कोर्स करने के लिए योग्यता, BFA Course Syllabus, BFA कोर्स के बाद जॉब और BFA कोर्स करने के बाद मिलते वाली सैलरी जैसी कई महत्वपूर्ण चीज़ो के बारे में विस्तार से बतायेगें। तो चलिये शुरू करते हैं।

BFA कोर्स क्या होता है | What is BFA in Hindi

BFA का मतलब बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स होता है जिसको हम हिंदी में ललित कला में स्नातक कहते हैं। BFA एक अंडरग्रेजुएट कोर्स होता है जिसको विद्यार्थी 12वीं के बाद करना पसंद करते हैं। BFA कोर्स की अवधि आमतौर पर 3 साल की होती है।

यदि आप एक ऐसे विद्यार्थी है जिसकी रुचि ललित कला के क्षेत्र में है तो BFA कोर्स आपके लिए एक बेहतरीन विकल्प हो सकता है। BFA कोर्स में विद्यार्थियों को कला, डिजाइनिंग, पेंटिंग, एनिमेशन, म्यूजिक, फोटोग्राफी, डांस और मूर्तिकला जैसी चीज़ो के बारे में उच्च कोटि का ज्ञान दिया जाता है।

BFA कोर्स में एडमिशन का विद्यार्थी एंट्रेंस एग्जाम, मेरिट लिस्ट और डायरेक्ट एडमिशन के माध्यम से होता है। BFA कोर्स की पढ़ाई पूरा करने के बाद विद्यार्थी एंटरटेनमेंट, मीडिया, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, डिज़ाइन, टेक्सटाइल, फैशन डिजाइनिंग कंपनियां, डांस एंड कोरियोग्राफी एंजेसी और एनिमेशन कंपनियां जैसी जगहों पर उच्च कोटि का कैरियर बना सकते हैं।

BFA का फुल फॉर्म क्या होता है? | BFA Full Form in Hindi

BFA का फुल फॉर्म Bachelor of Fine Arts होता है। जिसको हम आम भाषा मे ललित कला में स्नातक कहते हैं। BFA एक 3 साल का अंडरग्रेजुएट कोर्स होता है। जिसको ज्यादातर विद्यार्थी 12वीं की पढ़ाई को पूरा करने के बाद करना पसंद करते हैं। BFA कोर्स की पढ़ाई करके आप अपना एक बढ़िया कैरियर बना सकते हैं।

इसको भी पढ़े-   BTA Course Details in Hindi: बीटीए कोर्स से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी

BFA कोर्स करने के फायदे | BFA Course Karne Ke Fayde?

BFA कोर्स करने के फायदे बहुत सारे हैं। इसके कुछ महत्वपूर्ण फायदे निम्नलिखित हैं।

  • BFA कोर्स की पढ़ाई करने से आपको कला के विभिन्न सिद्धांतों, तकनीकों और शैलियों के बारे में गहराई से पता चलता है। जिससे आपकी रचनात्मक क्षमताओं में काफी वृद्धि होती है।
  • BFA कोर्स करने के बाद कला, डिजाइन, मीडिया और मनोरंजन के फील्ड में कलाकार, डिजाइनर, एनिमेटर, संगीतकार, फोटोग्राफर, कला शिक्षक, आर्ट लेखक और आर्ट संग्रहालय प्रशासक जैसी उच्च कोटि की नौकरियों के मिलने की संभावना बढ़ जाती है।
  • BFA कोर्स करने के बाद आपको जो जॉब मिलता है वह जॉब काफी उच्च कोटि का होता है। इसके साथ साथ उन जॉब की सैलरी भी काफी अच्छी होती है।
  • BFA कोर्स करने से आपके अंदर रचनात्मकता और समस्या समाधान की क्षमता बढ़ जाती है। इसके साथ साथ आपके अंदर कला के माध्यम से दुनिया को देखने और समझने के नए तरीकों को विकसित करने में भी मदद मिलती है।

BFA कोर्स करने के लिए योग्यता | BFA Course Qualification

BFA कोर्स में एडमिशन लेने के लिए निम्नलिखित योग्यता की जरूरत होती है।

  • BFA कोर्स में एडमिशन लेने के लिए विद्यार्थी किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं पास होना चाहिए।
  • विद्यार्थी की 12वीं क्लास में 50% से ज्यादा अंक रहना चाहिए।
  • BFA कोर्स में एडमिशन लेने के लिए विद्यार्थी की उम्र 17 साल से ज्यादा होना चाहिए।
  • BFA कोर्स के लिए विद्यार्थी का भारतीय होना बेहद जरूरी है।
  • विद्यार्थी को कला और संस्कृति में रुचि होना चाहिए।
  • BFA कोर्स में विद्यार्थी का एडमिशन प्रवेश परीक्षा, मेरिट के आधार पर और डायरेक्ट एडमिशन के माध्यम से होता है।

BFA कोर्स का सेलेबस | BFA Course Syllabus in Hindi

BFA एक 3 साल का अंडरग्रेजुएट कोर्स है। हर साल इस कोर्स में क्या क्या पढ़ाया जाता है उसके बारे में यहाँ आपको बताने जा रहे हैं। इसको जानने के बाद आपको BFA Course Syllabus in Hindi के बारे में काफी अच्छी जानकारी हो जायेगी।

BFA Course 1st Year Syllabus

  • भाग I भारतीय कला का इतिहास (प्रागैतिहासिक काल से छठी शताब्दी ईसवी तक)
  • भाग II कला के मूल तत्व
  • स्थिर वस्तु चित्रण
  • लैंडस्केप (व्यावहारिक)
  • क्ले मॉडलिंग
  • आंतरिक/सत्रीय कार्य
  • एस्थेटिक
  • प्रेस एडवरटाइजिंग
  • पेंटिंग
  • कम्पोजीशन पेंटिंग
  • मथोड्स एंड मटेरियल – i
  • हिस्ट्री एंड एप्रिसिएशन ऑफ आर्ट
  • पोस्टर डिज़ाइन पोर्ट्रेट पेंटिंग

BFA Course 2nd Year Syllabus-

  • भाग I भारतीय कला का इतिहास (7वीं शताब्दी ई. से 18वीं शताब्दी ई. तक)
  • भाग II कला के मूल तत्व
  • लैंडस्केप द्वितीय
  • क्ले मॉडलिंग II
  • कम्पोजीशन
  • एनवायर्नमेंटल एजुकेशन
  • सिरेमिक एंड मौलड्स
  • एस्थेटिक
  • डायमेंशन, स्टोन, वुड करविंग
  • ग्राफ़िक्स प्रिंट
  • मैगज़ीन एडवरटाइजिंग
  • मथोड्स एंड मटेरियल

BFA Course 3rd Year Syllabus-

  • दृश्य कला की प्रशंसा और बुनियादी बातें
  • 2D और 3D डिज़ाइन
  • चित्रकला
  • निर्वाचित
  • अनुसंधान परियोजना
  • एस्थेटिक
  • प्रिंट मेकिंग
  • लाइफ स्टडी
  • ड्राइंग
  • मथोड्स एंड मटेरियल
  • इंडियन एस्थेटिक
  • हिस्ट्री एंड एप्रिसिएशन
  • कम्पोजीशन पेंटिंग

BFA कोर्स में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

BFA कोर्स में कई सारे सब्जेक्ट होते हैं। कुछ महत्वपूर्ण सब्जेक्ट के नाम निम्नलिखित हैं।

  • कला का इतिहास
  • कला के मूल सिद्धांत
  • ड्राइंग
  • पेंटिंग
  • मूर्तिकला
  • डिजाइन के मूल सिद्धांत
  • कंप्यूटर एडेड डिजाइन (सीएडी)
  • कला इतिहास और आलोचना
  • आधुनिक और समकालीन कला
  • रंग सिद्धांत
  • एनाटॉमी फॉर आर्टिस्ट्स
  • परिप्रेक्ष्य ड्राइंग
  • एनिमेशन के मूल सिद्धांत
  • ग्राफिक डिजाइन
  • पोर्टफोलियो विकास
  • कला और समाज
  • वैकल्पिक विषय:
  • संगीत
  • फोटोग्राफी
  • फिल्म निर्माण
  • थिएटर कला

BFA कोर्स कितने साल का होता है?

BFA कोर्स की अवधि आमतौर पर 3 साल की होती है। कुछ कॉलेजो में BFA कोर्स की अवधि 4 साल भी होती है। BFA कोर्स के पहले भाग की पढ़ाई में विद्यार्थियों को कला के मूल सिद्धांतों और तकनीकों के बारे में पढ़ाया जाता है जबकि दूसरे भाग में विद्यार्थियों को अपने पसंदीदा क्षेत्र में विशेषज्ञता प्राप्त करने का मौका मिलता है।

इसको भी पढ़े-   GDA Nursing Course Details in Hindi: सभी जानकारी एक जगह पाएं

BFA कोर्स की पढ़ाई के लिए सबसे बढ़िया कॉलेज कौन सा है?

भारत मे बहुत सारे ऐसे कॉलेज हैं जहाँ पर BFA कोर्स की पढ़ाई के लिए उच्च कोटि की शिक्षा दी जाती है। कुछ महत्वपूर्ण और प्रसिद्ध कॉलेजो के नाम निम्नलिखित हैं।

  • गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ आर्ट एंड क्राफ्ट, कोलकाता
  • रवीन्द्र भारती विश्वविद्यालय, कोलकाता
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी
  • सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ हिमाचल प्रदेश, धर्मशाला, हिमाचल प्रदेश
  • चंडीगढ़ विश्वविद्यालय, चंडीगढ़
  • छत्रपति शिवजी महाराज यूनिवर्सिटी, मुंबई
  • जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी, दिल्ली
  • जवाहर लाल नेहरू गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज ऑफ फाइन आर्ट्स, शिमला
  • गोवा कॉलेज ऑफ आर्ट्स, पणजी
  • एमजीएम कॉलेज ऑफ फाइन आर्ट, औरंगाबाद
  • कानपुर इंस्टीटूट ऑफ टेक्नोलॉजी, टिकरिया, उत्तर प्रदेश
  • गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ फाइन आर्ट, त्रिसूर, केरल
  • गवर्नमेंट डूंगर कॉलेज, बीकानेर, राजस्थान
  • लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी, लखनऊ
  • बैंगलोर यूनिवर्सिटी
  • गोवेर्मेंट कॉलेज ऑफ फाइन आर्ट्स, तमिलनाडु

BFA कोर्स की फीस कितनी होती है | BFA course fees

BFA कोर्स की फीस हर एक कॉलेज में अलग अलग होती हैं। सरकारी कॉलेज में BFA कोर्स की फीस कम होती है जबकि प्राइवेट कॉलेज में फीस ज्यादा होती हैं। अगर बात करें BFA कोर्स की एक औसतन फीस की तो वह ₹10000- ₹50000 प्रति साल तक हो सकती है। कुछ प्राइवेट कॉलगो में BFA कोर्स की फीस लाखो रुपये तक भी प्रति साल की होती है।

BFA कोर्स में एडमिशन लेने के लिए क्या क्या डाक्यूमेंट्स चाहिए।

BFA कोर्स में एडमिशन लेने के लिए कई सारे डाक्यूमेंट्स की जरूरत पड़ती है। कुछ महत्वपूर्ण डाक्यूमेंट्स के नाम निम्नलिखित हैं।

  • 10वीं और 12वीं की मार्कशीट
  • 10वीं और 12वीं की सनधी
  • आधार कार्ड
  • स्कूल लिविंग सर्टिफिकेट
  • ट्रांसफर सर्टिफिकेट
  • डोमिसाइल सर्टिफकेट/रेजिडेंशियल सर्टिफिकेट
  • पासपोर्ट साइज फ़ोटो
  • स्वास्थ्य प्रमाण पत्र
  • कला पोर्टफोलियो

BFA कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आवेदन प्रक्रिया क्या होती है

BFA कोर्स में एडमिशन 3 तरीको से होता है। उन 3 तरीको के नाम और प्रक्रिया निम्नलिखित हैं।

प्रवेश परीक्षा के आधार पर: भारत के ज्यादातर कॉलेजो में BFA कोर्स में एडमिशन लेने के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जाता है। प्रवेश परीक्षा पास करने के बाद ही विद्यार्थी का एडमिशन उन कॉलेजो में होता है। BFA कोर्स में एडमिशन लेने के लिए प्रसिद्ध प्रवेश परीक्षा BHU UET, AUCET, UPSEE, ITM NEST हैं।

मेरिट लिस्ट के आधार पर: कुछ ऐसे भी कॉलेज होते है जो BFA कोर्स में एडमिशन मेरिट लिस्ट के आधार पर देते हैं। इन कॉलेजो में विद्यार्थी अपनी 12वीं क्लास की मार्कशीट जमा करते हैं उसके बाद कॉलेज वाले सभी विद्यार्थियों के द्वारा जमा किये गए 12वीं क्लास के अंक के आधार पर एक मेरिट लिस्ट निकालते हैं। यदि आपका नाम उस मेरिट लिस्ट में आ जाता है तो आपका एडमिशन BFA कोर्स में हो जाता है।

डायरेक्ट एडमिशन: बहुत सारे ऐसे भी प्राइवेट कॉलेज हैं जहाँ पर विद्यार्थियों को डायरेक्ट BFA कोर्स में एडमिशन मिल जाता है। इन प्राइवेट कॉलेजो में ना ही कोई प्रवेश परीक्षा देना पड़ता है और नाम ही कोई मेरिट लिस्ट निकलती है। इन कॉलेजो में डायरेक्ट एडमिशन मिल जाता है।

क्या BFA कोर्स के लिए स्कॉलरशिप मिलती है |

हाँ, ज्यादातर कॉलेजो में BFA कोर्स के लिए स्कॉलरशिप मिलती है। भारत में, BFA कोर्स के लिए आमतौर पर ₹5,000- ₹50,000 तक स्कॉलरशिप मिल सकती है। स्कॉलरशिप के बारे में और अधिक और सटीक जानकारी आप अपने कॉलेज के ऑफिस में जाकर पता कर सकते हैं।

इसको भी पढ़े-   DOTT Course Details: DOTT कोर्स क्या है? पूरी जानकारी

BFA कोर्स करने के बाद किन किन फिल्ड में जॉब मिलती है!

BFA कोर्स करने के बाद आपको कई सारी फील्ड में बढ़िया बढ़िया जॉब मिल सकती है। कुछ प्रसिद्ध और महत्वपूर्ण फील्ड के नाम निम्नलिखित हैं।

  • मार्केटिंग एजेंसिस
  • फ़िल्म और टेलीविज़न
  • डिजिटल मीडिया और एनीमेशन
  • म्यूजियम और गैलरी क्यूटरशिप
  • वेब डिज़ाइन और डेवलपमेंट
  • पब्लिशिंग और प्रिंट मीडिया
  • एडवर्टाइजमेंट एजेंसी
  • एनिमेशन कंपनियां
  • फिल्म प्रोडक्शन हाउस
  • टेक्सटाइल कंपनियां
  • एजुकेशन इंस्टिट्यूट
  • फैशन डिजाइनिंग कंपनियां
  • डांस एंड कोरियोग्राफी एंजेसी
  • एडवरटाइजिंग एजेंसिस
  • टेक्सटाइल

BFA कोर्स करने के बाद कौन कौन सी जॉब मिलती है?

BFA कोर्स करने के बाद आपको कई सारी पदो पर जॉब मिल सकती है। कुछ महत्वपूर्ण जॉब के नाम निम्नलिखित हैं।

  • ग्राफिक डिजाइनर
  • आर्टिस्ट स्क्रिप्ट राइटर
  • आर्ट डायरेक्टर
  • विजुअल आर्टिस्ट
  • स्क्रिप्ट राइटर
  • एनिमेटर
  • कार्टूनिस्ट
  • फोटोग्राफर
  • मल्टीमीडिया मास्टर
  • टेक्सटाइल डिजाइनर
  • आर्ट कंजरवेटर
  • आर्ट टीचर
  • इंटीरियर डिजाइनर
  • कोरियोग्राफर
  • इंटीरियर डिजाइनर
  • पेंटर
  • आर्ट डीलर
  • म्यूजियम क्यूरेटर
  • फ़िल्म कोरियोग्राफर
  • स्कूल टीचर
  • प्रोफेसर
  • प्रोडक्ट डिज़ाइनर
  • इंडस्ट्रियल डिज़ाइनर
  • टेक्निकल डिज़ाइनर
  • फाइन आर्टिस्ट
  • UX डिज़ाइनर
  • स्क्रीन राइटर
  • मूर्तिकार
  • ज्वेलरी डिज़ाइनर
  • फैशन डिज़ाइनर
  • क्रिएटिव डायरेक्टर
  • कंटेंट राइटर
  • मार्केटिंग स्पेशलिस्ट
  • कला इतिहासकार
  • कला और डिजाइन शोधकर्ता

BFA कोर्स करने के बाद कितनी सैलरी वाली जॉब मिलती है?

BFA कोर्स करने के बाद सैलरी आपकी योग्यता, अनुभव, और जॉब पर निर्भर करती है। यदि आपकी जॉब ग्राफिक डिज़ाइन, वेब डिज़ाइन, और इंटरैक्टिव डिज़ाइन जैसे पदों पर लगती है तो आपको शुरुआती औसतन सैलरी ₹20000- ₹30000 प्रति महीना तक मिल सकती है। समय के साथ साथ अनुभव होने पर यह सैलरी ₹150000 प्रति महीना तक भी हो सकती है।

वही यदि आपकी जॉब आर्ट और डिज़ाइन एजुकेशन अथवा आर्ट और डिज़ाइन कंसल्टिंग जैसे फील्ड में जॉब लगती है तो वहाँ पर आपको शुरुआती औसतन सैलरी ₹15000- ₹25000 प्रति महीना तक मिलती है। इनमे भी अनुभव होने पर सैलरी और अधिक होती जाती है।

इन सभी बातों को ध्यान में रखकर हम कह सकते हैं कि BFA कोर्स करने के बाद आपको जो जॉब मिलेगी उसकी शुरुआती औसतन सैलरी ₹15000- ₹30000 प्रति महीना तक हो सकती है। समय के साथ साथ अनुभव होने पर यह सैलरी ₹100000 प्रति महीना तक भी हो सकती है।

क्या मैं 12वीं आर्ट्स के बाद BFA कर सकता हूं?

हां, आप 12वीं आर्ट्स के बाद BFA कर सकते हैं। BFA कोर्स करने के लिए आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आपका 12वीं में 50% से ज्यादा अंक रहना चाहिए। इसके साथ साथ आपको कला और डिजाइन जैसी चीज़ो में रुचि होनी चाहिए। यदि आपके अंदर यह सब चीज़ हैं तो आप बिना किसी परेशानी के 12वीं आर्ट्स के बाद BFA कोर्स कर सकते हैं।

BFA कोर्स करने के बाद आगे कौन सा कोर्स कर सकते हैं?

BFA कोर्स करने के बाद आगे पढ़ाई के कई सारे विकल्प मौजूद हैं। कुछ महत्वपूर्ण कोर्सेज के नाम निम्नलिखित हैं जिसको आप BFA कोर्स करने के बाद कर सकते हैं।

  • मास्टर ऑफ फाइन आर्ट्स (MFA)
  • मास्टर ऑफ आर्ट्स (MA)
  • मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (MBA)
  • मास्टर ऑफ एजुकेशन (MEd)
  • डिजिटल मीडिया और एनीमेशन कोर्सेज
  • आर्ट थेरेपी सर्टिफिकेशन कोर्स
  • फोटोग्राफी मास्टरक्लास
  • फैशन डिज़ाइन डिप्लोमा
  • क्रिएटिव राइटिंग वर्कशॉप
  • फ़िल्म और वीडियो प्रोडक्शन कोर्सेज
  • एडवरटाइजिंग और मार्केटिंग स्ट्रेटेजीज कोर्स

निष्कर्ष?

यदि आप कला और डिजाइन के फील्ड में कैरियर बनाना चाहते हैं तो BFA कोर्स आपके लिए एक बेहतरीन विकल्प हो सकता है। BFA कोर्स आपको एक सफल कैरियर बनाने के लिए आवश्यक कौशल और ज्ञान प्रदान करता है।

BFA कोर्स करके आप ग्राफिक डिजाइनर, आर्टिस्ट स्क्रिप्ट राइटर, आर्ट डायरेक्टर, विजुअल आर्टिस्ट, स्क्रिप्ट राइटर, एनिमेटर, कार्टूनिस्ट और फोटोग्राफर के रूप में अपना एक बढ़िया कैरियर बना सकते हैं।

मुझे उम्मीद है कि BFA Course Details in Hindi के इस लेख को पूरा पढ़ने के बाद BFA कोर्स क्या होता है, BFA कोर्स करने के फायदे, BFA कोर्स करने के लिए योग्यता, BFA Course Syllabus, BFA कोर्स के बाद जॉब और BFA कोर्स करने के बाद मिलते वाली सैलरी के बारे में काफी अच्छा ज्ञान हो गया होगा।

मेरा नाम सद्दाम हुसैन है और मैं इस ब्लॉग का फाउंडर और कंटेंट राइटर हूँ। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन, सरकारी नौकरी, जॉब, कैरियर, बिजनेस, कोर्सेज और सेलेबस से रिलेटेड हर नई और महत्वपूर्ण लेख को रेगुलर बेसिक पर प्रकाशित करता रहता हूँ।

Leave a Comment

error: Content is protected !!