जूलॉजी से एमएससी करने के फायदे: जानिए विस्तार से?

बहुत से स्टूडेंट ऐसे होते हैं जो बीएससी के बाद जूलॉजी से एमएससी करना चाहते है लेकिन उनको इस चीज़ की जानकारी नही होती है कि जूलॉजी से एमएससी करने के फायदे कौन कौन से हो सकते है। यदि आप भी जूलॉजी से एमएससी करने के फायदे के बारे में जानना चाहते हैं तो आप बिल्कुल सही जगह पर हैं।

इस उच्च कोटि के लेख में हम आपको जूलॉजी क्या होता है, जूलॉजी में कौन कौन सी चीज पढ़ाई जाती है, एमएससी क्या होता है, जूलॉजी से एमएससी करने के फायदे और जूलॉजी से एमएससी करने के बाद क्या करें के बारे में विस्तार से बतायेगें। तो चलिए शुरू करते हैं।

जूलॉजी क्या होता है | What is Zoology in Hindi

जूलॉजी जीव विज्ञान की एक शाखा है। जूलॉजी को प्राणि विज्ञान के नाम से भी जाना जाता है। जूलॉजी में मुख्य रूप से पृथ्वी पर जितने भी जीव-जंतु है और जिनका विनाश भी हो गया है उनके बारे में पढ़ते हैं।

जैसे जानवरों की अंदर और बाहर की संरचना, जानवरों के व्यवहार, भोजन, प्रजनन और उनके पर्यावरण के बारे में अध्ययन किया जाता है।

जूलॉजी में हम जीव-जंतु के अलावा पेड़ पौधों के बारे में भी काफी गहराई से पढ़ते है। इस तरह से हम कह सकते हैं कि इस पृथ्वी पर जितने भी जीव जंतु और पेड़ पौधे हैं उन सभी का अध्ययन हम जूलॉजी में करते हैं।

जूलॉजी में कौन कौन सी विषय पढ़ाई जाती है।

जूलॉजी में कई सारी विषयों के बारे में पढ़ाया जाता है। जूलॉजी में पढ़ाए जाने वाले कुछ प्रमुख विषय निम्नलिखित हैं।

  • प्राणी वर्गीकरण
  • प्राणी शरीर रचना
  • प्राणी व्यवहार
  • प्राणी प्रजनन
  • प्राणी पारिस्थितिकी

एमएससी क्या होता है | What is MSc in Hindi

एमएससी (MSc) का मतलब मास्टर ऑफ़ साइंस (Master of Science) होता है। एमएससी एक उच्च कोटि का पोस्टग्रेजुएट कोर्स होता है जिसको स्टूडेंट बीएससी की पढ़ाई पूरा करने के बाद करते हैं।

एमएससी कोर्स की अवधि आमतौर पर 2 साल की होती है। एमएससी की पढ़ाई पूरा करने के बाद आप साइंस के फील्ड में मास्टर बन जाते है। एमएससी कोर्स की औसतन फीस ₹6000- ₹62000 प्रति साल तक हो सकती है।

एमएससी की पढ़ाई पूरा करने के बाद आप प्रोजेक्ट असिस्टेंट, लैब मैनेजर, फार्मा एसोसिएट, पेटेंट एसोसिएट और खाद्य सुरक्षा विश्लेषक जैसी उच्च कोटि की हाई सैलरी वाली जॉब पा सकते हैं।

जूलॉजी से एमएससी करने के फायदे | Zoology Se MSc Karne Ke Fayde

जूलॉजी से एमएससी करने के फायदे बहुत सारे हैं इसके कुछ महत्वपूर्ण फायदे निम्नलिखित हैं।

  • जूलॉजी से एमएससी करने से आपको जानवरों और उनके व्यवहार के बारे में गहन ज्ञान हो जाता है। इस ज्ञान की मदद से आप जानवरों के संरक्षण करने में मदद कर सकते हैं।
  • जूलॉजी से एमएससी करने से आपके अंदर अनुसंधान कौशल विकसित हो जाता है। इस कौशल की मदद से आप अपने करियर को और आगे तक ले जा सकते हैं।
  • जूलॉजी से एमएससी करने के बाद आपके अंदर एक टीचिंग स्किल विकसित हो जाती है। आप इस टीचिंग स्किल की मदद से शिक्षक या प्रशिक्षक के रूप में काम कर सकते हैं। यह भी एक बढ़िया जूलॉजी से एमएससी करने के फायदे है!
  • जूलॉजी से एमएससी करने के बाद आप शोधकर्ता, शिक्षक, वन्यजीव संरक्षण, पर्यावरण परामर्श, प्रशिक्षक, प्राणी विज्ञानी, चिड़ियाघर कल्याण विशेषज्ञ, और पर्यावरण संरक्षण कार्यकर्ता जैसी उच्च कोटि की हाई सैलरी वाली जॉब पा सकते हैं।
  • जूलॉजी से एमएससी करने के बाद आप प्राइवेट और सरकारी दोनों फील्ड में उच्च कोटि हाई सैलरी वाली जॉब पा सकते हैं।
  • जूलॉजी से एमएससी करने के बाद आप जूलॉजिस्ट, एनिमल ट्रेनर, वाइल्डलाइफ एजुकेटर, रिसर्चर्स और वाइल्डलाइफ बायोलॉजिस्ट के रूप में हाई सैलरी वाली नौकरियां पा सकते हैं। यह भी एक बढ़िया जूलॉजी से एमएससी करने के फायदे है!
  • जूलॉजी से एमएससी करने के बाद आप छात्र स्कूलों, कॉलेजों, चिड़ियाघरों, राष्ट्रीय उद्यानों, खाद्य उद्योग और कृषि जैसे क्षेत्र में भी काफी अच्छी अच्छी नौकरी पा सकते हैं।
  • जूलॉजी से एमएससी करने से आपको दुनिया भर में अध्ययन और शोध करने का अवसर मिल सकता है। आप इसकी मदद से अपने ज्ञान और कौशल को और विकसित कर सकते है।
  • जूलॉजी से एमएससी करना एक कठिन पढ़ाई मानी जाती है। इसलिए यदि आप यह पढ़ाई कर लेते हैं तो इससे आपका आत्मविश्वास बढ़ता है और आपको अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद मिलती है।
  • जूलॉजी से एमएससी करने के बाद आप आगे पीएचडी और एमफिल जैसे उच्च कोटि के कोर्स करने के लिए भी तैयार हो जाते है।
  • जूलॉजी से एमएससी करने से आपको शोध करने के बेहतरीन अवसर मिलते है। आप जानवरों से लेकर जेनेटिक्स जैसे विभिन्न विषयों पर अपना शोध कर सकते हैं। यह भी एक बढ़िया जूलॉजी से एमएससी करने के फायदे है!
  • कई कॉलेजो में जूलॉजी से एमएससी करने पर आपको कई ऐसी शोध करने का मौका मिलता है जिसके बारे में आप सोच भी नही सकते हैं।
  • जूलॉजी से एमएससी करते समय आपको सहयोगी छात्रों, प्रोफेसरों, और क्षेत्र में पेशेवरों के साथ नेटवर्क बनाने का मौका मिलता है।
इसको भी पढ़े-   [Updated] भारत में MSW कोर्स के लिए 17 सर्वश्रेष्ठ कॉलेज

जूलॉजी से एमएससी करने के बाद क्या करें?

जूलॉजी से एमएससी करने के बाद आपके पास कई सारे करियर विकल्प उपलब्ध हैं। इसके कुछ महत्वपूर्ण करियर विकल्प निम्नलिखित हैं।

शोधकर्ता: जूलॉजी से एमएससी करने के बाद आप विश्वविद्यालयों, सरकारी एजेंसियों और निजी कंपनियों में शोधकर्ता के रूप में जॉब कर सकते हैं।

शिक्षक: जूलॉजी से एमएससी करने के बाद आप कॉलेजों, विश्वविद्यालयों और हाई स्कूलों में शिक्षक के रूप में काम कर सकते हैं।

प्रशिक्षक: जूलॉजी से एमएससी करने के बाद आप चिड़ियाघरों, वन्यजीव आश्रयों और अन्य संगठनों में प्रशिक्षक के रूप में जॉब कर सकते हैं।

प्राणी विज्ञानी: जूलॉजी से एमएससी करने के बाद आप विज्ञानी के रूप में काम कर सकते हैं।

चिड़ियाघर कल्याण विशेषज्ञ: जूलॉजी से एमएससी करने के बाद आप चिड़ियाघर कल्याण विशेषज्ञ के रूप में काम कर सकते हैं।

पर्यावरण संरक्षण कार्यकर्ता: जूलॉजी से एमएससी करने के बाद आप पर्यावरण संरक्षण कार्यकर्ता के रूप में काम कर सकते हैं।

निष्कर्ष:

जूलॉजी से एमएससी करना आपके लिए एक बढ़िया विकल्प हो सकता है। आप इसके माध्यम से अपना एक बढ़िया करियर बना सकते हैं। जूलॉजी से एमएससी करने के बाद आपको जो जॉब मिलता है उसके सैलरी काफी उच्च कोटि की होती है। इसलिए कह सकते हैं कि जूलॉजी से एमएससी करना एक बढ़िया सौदा हो सकता है।

इस पूरे लेख को पढ़ने के बाद आपको जूलॉजी क्या होता है, जूलॉजी में कौन कौन सी चीज पढ़ाई जाती है, एमएससी क्या होता है, जूलॉजी से एमएससी करने के फायदे और जूलॉजी से एमएससी करने के बाद क्या करें के बारे में काफी अच्छी जानकारी हो गई होगी।

यदि आपको यह लेख पसंद आया हो तो इस लेख को अपने मित्रों के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें। ऐसा करके आप हमारा उत्साह बढ़ा सकते हैं।

मेरा नाम सद्दाम हुसैन है और मैं इस ब्लॉग का फाउंडर और कंटेंट राइटर हूँ। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन, सरकारी नौकरी, जॉब, कैरियर, बिजनेस, कोर्सेज और सेलेबस से रिलेटेड हर नई और महत्वपूर्ण लेख को रेगुलर बेसिक पर प्रकाशित करता रहता हूँ।

Leave a Comment

error: Content is protected !!