PhD Karne Ke Fayde: पीएचडी की योग्यता, फीस, नौकरी और सैलरी?

इस लेख की रूपरेखा:

PhD Course Details In Hindi-

कोर्स लेवलडॉक्टरेट
PhD का फुल फॉर्म डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी
कोर्स की अवधि 3-6 साल
कोर्स की फीस ₹15000- ₹500000 प्रति साल
एडमिसन योग्यता 55% से ज्यादा अंक मास्टर डिग्री में होना चाहिए
PhD में स्कॉलरशिप मिलती हैहाँ, PhD में स्कॉलरशिप मिलता है।
PhD पीएचडी के बाद नौकरी असिस्टेंट प्रोफेसर, असिस्टेंट रिसर्च कानूनी सहायक
लेखक, वरिष्ठ सलाहकार, रिसर्च एसोसिएट, सहायक प्रोफेसर, अनुसंधान सलाहकार, अर्थशास्त्री, इतिहासकार
PhD के बाद सैलरी औसतन ₹40000- ₹140000 प्रति महीना

यदि आप PhD करने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको PhD Karne Ke Fayde के बारे में अच्छी जानकारी होनी चाहिए। यदि आपको इसके बारे में ज्यादा जानकारी नही है तो आप बिल्कुल सही जगह पर हैं।

इस आर्टिकल में हम आपको PhD क्या होता है, PhD Karne Ke Fayde, PhD करने के लिए योग्यता, पीएचडी की फीस कितनी होती है और पीएचडी करने के बाद सैलरी जैसी और भी बहुत से चीज़ों के बारे में उच्च कोटि का ज्ञान प्रदान करेगें। तो चलिये शुरू करते हैं।

पीएचडी क्या होता है? | PhD Kya Hota Hai

PhD Kya Hota Hai

PhD का मतलब “Doctor of Philosophy” होता है। यदि आप PhD का कोर्स कर लेते हैं तो आपके नाम के आगे डॉक्टर लग जाता है। PhD कोर्स की अवधि 3 साल से लेकर 6 साल तक कि हो सकती है।

भारत मे एजुकेशन के फील्ड में PhD सबसे बड़ा कोर्स माना जाता है। PhD का कोर्स करके आप उच्च कोटि के यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर और लेक्चरर बन सकते हैं। PhD का कोर्स केवल एक विषय से किया जाता है। जिस विषय से आप PhD करते हैं उस विषय को पुरा निचोड़ कर आपको ज्ञान दिया जाता है।

PhD का कोर्स करके आप सहायक प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर, अनुसंधान सलाहकार और अनुसंधान सलाहकार के रूप में उच्च कोटि की हाई सैलरी वाली नौकरी पा सकते हैं।

पीएचडी का फुल फॉर्म क्या होता है? | PhD Ka Full Form

पीएचडी का फुल फॉर्म ‘डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी’ होता है। PhD भारत की सबसे उच्च कोटि की पढ़ाई मानी जाती है। PhD का कोर्स करने के बाद आपके नाम के साथ डॉक्टर नाम जुड़ जाता है। जिन लोगो के नाम के साथ डॉक्टर नाम जुड़ता है उसको समाज मे काफी इज्जत की नजर से देखा जाता है।

पीएचडी करने के फायदे | PhD Karne Ke Fayde

PhD Karne Ke Fayde

PhD का कोर्स करने से पहले आपको PhD के फायदे के बारे में पता होना चाहिए। यहाँ हम आपको कुछ महत्वपूर्ण PhD Karne Ke Fayde के बारे में बताने जा रहे हैं। उम्मीद है ये जानकारी आपके काम की होगी।

  • जिस विषय से आप PhD का कोर्स करते हैं उस विषय के बारे में आपको काफी उच्च कोटि का ज्ञान हो जाता है। एक तरह से आप उस विषय के एक्सपर्ट बन जाते हैं।
  • PhD कोर्स में यदि आप कुछ रिसर्च करते हैं तो आप अपने रिसर्च पेपर को इंटरनेशनल मंच पर छपवाकर पूरी दुनिया मे प्रसिद्ध हो सकते हैं।
  • PhD का कोर्स करके आप भारत के साथ साथ दूसरे देशों में भी उच्च कोटि की हाई सैलरी वाली जॉब पा सकते हैं।
  • जब आप PhD का कोर्स खत्म कर लेने हैं तो आपके नाम के आगे डॉक्टर लग जाता है। किसी व्यक्ति के नाम के आगे डॉक्टर लगना मतलब काफी सम्मान का बात होता है।
  • PhD का कोर्स करने के बाद आप प्रोफेसर और लेक्चरर जैसे उच्च पदो पर नौकरी पा सकते हैं।
  • यदि आप NET या GATE को क्लीयर करके PhD का कोर्स करते हैं तो आपको एक काफी अच्छा पैसा स्कॉलरशिप के रूप में दिया जाता है। यह भी एक बढ़िया PhD Karne Ke Fayde है।
  • PhD का कोर्स करने के बाद आपको जो नौकरी मिलती है। उन सभी नौकरियों की सैलरी बहुत अधिक होती है। इसलिए कह सकते हैं कि PhD का कोर्स करने के बाद आपकी वित्तीय स्तिथि बहुत अच्छी हो जाती है।
  • PhD का कोर्स करने से आपके अंदर समस्याओं को नए दृष्टिकोण से देखने और उन्हें हल करने की क्षमता विकसित हो जाती है। यह भी एक बढ़िया PhD Karne Ke Fayde है।
  • PhD का कोर्स करने से आपका आत्म-सम्मान बढ़ता है और आप अपने व्यक्तिगत और पेशेवर लक्ष्यों को प्राप्त करने में सफल होते हैं। यह आपके व्यक्तिगत के विकास में एक महत्वपूर्ण योगदान देता है।
  • PhD का कोर्स करने से आप गहरे ज्ञान और समझ का आदान-प्रदान करते हैं, जो आपके जीवन के हर क्षेत्र में आपके आत्म-विश्वास को बढ़ावा देता है।

PhD करने के लिए योग्यता | PhD Karne Ke Liye Qualification

PhD करने के लिए योग्यता

PhD में एडमिशन लेने के लिए कुछ क्वालिफिकेशन की जरुरत पड़ती है। यहाँ हम आपको PhD में एडमिशन लेने के लिए क्या क्या योग्यता चाहिए उसके बारे में बताने जा रहे हैं।

  • PhD में एडमिशन लेने के लिए आपके पास एक मास्टर डिग्री मतलब की पोस्टग्रेजुएट होना जरूरी है।
  • जिस विषय से आप PhD का कोर्स करने की सोच रहे हैं उसी विषय से आप पोस्ट ग्रेजुएशन किये होना चाहिए।
  • PhD में एडमिशन लेने के लिए आपकी ग्रेजुएशन में 55% से ज्यादा अंक रहना चाहिए।
  • यदि आप PhD का कोर्स Prestigious College से करने की सोच रहे हैं तो उसके लिए आपको NET और AILE का प्रवेश परीक्षा देना पड़ता है। प्रवेश परीक्षा पास करने के बाद ही आपका एडमिशन PhD में होगा।
  • PhD के लिए कोई भी उम्र सीमा नही होती है। किसी भी उम्र के विद्यार्थी PhD कर सकते हैं।
  • भारत मे PhD करने के लिए आपके पास भारत की नागरिकता होनी चाहिए।

पीएचडी में कितने विषय होते हैं?

PhD में कितने सब्जेक्ट होते हैं

PhD कोर्स में आमतौर पर एक ही विषय होता है। विद्यार्थी एक ही विषय से PhD करते हैं। PhD करने के लिए जिस विषय का विद्यार्थी चुनाव करते हैं उसके बारे में विद्यार्थी को हर एक चीज़ का अध्ययन करना होता है। एक तरह से विद्यार्थी को PhD में उस विषय को घोलकर पी जाना होता है।

PhD में कई सारे विषय होते हैं आप अपनी रुचि और करियर लक्ष्य के अनुसार किसी एक विषय का चुनाव कर सकते हैं। PhD के कुछ मुख्य विषयो को हम यहाँ शेयर करने जा रहे हैं।

  • भूगोल
  • अर्थशास्त्र
  • इतिहास
  • जीव विज्ञान
  • समाज विज्ञान
  • विज्ञान
  • व्यवसाय
  • शिक्षा
  • कला
  • सामाजिक विज्ञान
  • शास्त्रीय संस्कृति
  • शासन विज्ञान
  • संगीत
  • जनसंख्या विज्ञान
  • प्राकृतिक संसाधन
  • संचार विज्ञान
  • भाषा विज्ञान

PhD कितने साल का कोर्स है?

PhD कोर्स की अवधि आमतौर पर 3 से 6 साल के बीच मे होती है। यह आपके ऊपर निर्भर करता हैं कि आप PhD का कोर्स कितने साल में खत्म कर देते हैं। कुछ लोग PhD का कोर्स 3 साल में ही पूरा कर लेते हैं। वही कुछ लोगो को PhD का कोर्स करने में 6 साल तक का भी समय लग जाता है।

क्या 2 साल में PhD पूरी की जा सकती है?

नही, आप 2 साल में PhD पूरी नही कर सकते हैं। PhD का कोर्स पूरा करने में कम से कम 3 साल तक का समय लग सकता है। क्योंकि PhD के रिसर्च में ज्यादा समय लगता है। कुछ विशेष परिस्थितियों में, 2 साल के दौरान PhD पूरी की जा सकती है, लेकिन यह अत्यधिक दुर्लभ होता है। इसलिए हम कह सकते हैं कि 2 साल में PhD पूरी नही की जा सकती है।

भारत में PhD के लिए शीर्ष 15 कॉलेज?

यहाँ हम आपके साथ भारत में PhD के लिए शीर्ष 15 कॉलेजो को शेयर कर रहे हैं आप यहाँ से PhD के लिए उच्च कोटि की पढ़ाई और रिसर्च कर सकते हैं।

  • जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, बेंगलुरु
  • सवित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय, पुणे
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, बॉम्बे
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, खड़गपुर
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, कानपुर
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस, बैंगलोर
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, दिल्ली
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मद्रास
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, रुड़की
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, गुवाहाटी
  • जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय, वाराणसी
  • अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, अलीगढ़
  • राजीव गांधी विश्वविद्यालय, इतानगर
  • कोलकाता विश्वविद्यालय, कोलकाता
  • पंजाब विश्वविद्यालय, चंडीगढ़

पीएचडी की फीस कितनी होती है? | PhD Ki Fees Kitni Hoti Hai

यदि आप एक बढ़िया सरकारी कॉलेज से PhD का कोर्स करते हैं तब आपको PhD के लिए औसत फीस ₹15000 से ₹30000 प्रति साल तक लग सकती है। वही यदि आप एक प्राइवेट कॉलेज से PhD का कोर्स करते तब आपकी औसत फीस ₹100000 से ₹500000 प्रति साल तक लग सकती है। मुझे पूरी उम्मीद है की इनको जानने के बाद पीएचडी की फीस कितनी होती है इसके बारे में अच्छी जानकारी हो गई होगी!

पीएचडी में स्कॉलरशिप कितनी मिलती है | PhD Scholarship in Hindi

बहुत से कम लोगो को पता होता है कि PhD की पढ़ाई में भी स्कॉलरशिप मिलता है। यदि आप PhD में स्कॉलरशिप कितना मिलता है ये जानना चाहते हैं तो आप सही जगह पर हैं। हम आपको बता दे कि PhD में आपको ₹10,000 से ₹25,000 तक के बीच मे स्कॉलरशिप मिल सकती है। यह स्कॉलरशिप आपके PhD कोर्स के खर्चे को कम करने में काफी मदद करता है।

PhD के बाद क्या करें?

PhD की पढ़ाई पूरी करने के बाद आपके पास कई सारे विकल्प होते हैं। यहाँ हम आपके साथ कुछ महत्वपूर्ण विकल्प को शेयर करने जा रहे है। आप अपनी रुचि और कैरियर लक्ष्य के अनुसार किसी एक का चुनाव कर सकते हैं।

अकैडमिक कैरियर: PhD की पढ़ाई पूरी करने के बाद आप उच्च शिक्षा के फील्ड में शिक्षक या शोधकर्ता के रूप में काम करके अपना करियर बना सकते हैं।

अनुसंधान: PhD की पढ़ाई पूरी करने के बाद अनुसंधान क्षेत्र में काम कर सकते हैं और नवाचार और नवीनतम तकनीकों की खोज में योगदान दे सकते हैं।

व्यापार: PhD की पढ़ाई पूरी करने के बाद आप अपना व्यापार शुरू करके नए व्यापारिक प्रोजेक्टों की शुरुआत कर सकते हैं।

सरकारी नौकरी: भारत सरकार समय समय पर PhD वालो के लिए सरकारी विभाग में भर्ती निकालती रहती है। आप उसमे आवेदन करके अपने लिए एक बढ़िया सरकारी नौकरी ले सकते है।

कॉर्पोरेट सेक्टर: PhD की पढ़ाई पूरी करने के बाद आप विभिन्न कॉर्पोरेट क्षेत्रों में मानव संसाधन, मार्केटिंग, वित्त, और अन्य क्षेत्रों में काम कर सकते हैं।

पीएचडी करने के बाद कौन सी नौकरी मिलती है?

PhD करने के बाद आपको कई तरह की नौकरियां मिल सकती हैं। PhD करने के बाद मिलने वाली कुछ महत्वपूर्ण नौकरियों को हम यहाँ शेयर करने जा रहे हैं।

  • असिस्टेंट प्रोफेसर
  • कंसल्टेंट
  • रिसर्च असिस्टेंट
  • रिसर्च साइंटिस्ट
  • कम्प्यूटर इंजीनियर
  • कानूनी सहायक
  • एसोसिएट प्रोफेसर
  • प्रोफेसर
  • सलाहकार
  • वरिष्ठ लेखक
  • वैज्ञानिक लेखक
  • अनुसंधान सहायक
  • मुख्य अनुसंधान प्रबंधक
  • व्याख्याता
  • वरिष्ठ सलाहकार
  • रिसर्च एसोसिएट
  • सहायक प्रोफेसर
  • शोध वैज्ञानिक
  • रसायन अनुसंधानकर्ता
  • कनिष्ठ वैज्ञानिक
  • फोरेंसिक केमिस्ट
  • मेडिकल टेक्नोलॉजिस्ट
  • कॉर्पोरेट वकील
  • वित्तीय प्रबंधक
  • अर्थशास्त्री
  • इतिहासकार
  • वकील

पीएचडी करने के बाद सैलरी | PhD Karne Ke Baad Salary

पीएचडी करने के बाद सैलरी मिलने वाली हर एक जॉब की अलग अलग होती है। यहाँ हम आपके साथ कुछ महत्वपूर्ण नौकरी की सैलरी को टेबल के माध्यम से बताने जा रहे हैं। इनको जानने के बाद आपको एक आईडिया लग जायेगा की पीएचडी करने के बाद सैलरी कितनी मिल सकती है!

नौकरी का नाम प्रति साल की सैलरी
असिस्टेंट प्रोफेसर₹400000- ₹800000
कंसल्टेंट₹800000- ₹1000000
रिसर्च असिस्टेंट₹300000- ₹500000
रिसर्च साइंटिस्ट₹600000- ₹1200000
कम्प्यूटर इंजीनियर₹400000- ₹900000
कानूनी सहायक₹400000- ₹800000
एसोसिएट प्रोफेसर₹400000- ₹800000
प्रोफेसर₹800000- ₹3000000
सलाहकार₹800000- ₹1000000
वरिष्ठ लेखक₹1000000- ₹1400000
वैज्ञानिक लेखक₹700000- ₹900000
अनुसंधान सहायक₹300000- ₹500000
मुख्य अनुसंधान प्रबंधक₹500000- ₹900000
वरिष्ठ सलाहकार₹800000- ₹1200000
रिसर्च एसोसिएट₹300000- ₹600000
शोध वैज्ञानिक₹600000- ₹1200000
रसायन अनुसंधानकर्ता₹700000- ₹900000
कनिष्ठ वैज्ञानिक₹800000- ₹1200000
फोरेंसिक केमिस्ट₹600000- ₹800000
मेडिकल टेक्नोलॉजिस्ट₹400000- ₹700000
कॉर्पोरेट वकील₹700000- ₹1000000
अर्थशास्त्री₹700000- ₹1100000
इतिहासकार₹500000- ₹900000
वकील₹400000- ₹700000

निष्कर्ष:

आज के समय मे यदि आप PhD का कोर्स कर लेते हैं तो यह आपके करियर के लिए बहुत बढ़िया साबित हो सकता है। PhD का कोर्स करके आप एक उच्च कोटि की हाई सैलरी वाली नौकरी लेकर अपना एक बेहतरीन करियर बना सकते हैं।

इस पूरे लेख को पढ़ने के बाद PhD क्या होता है, PhD Karne Ke Fayde, PhD करने के लिए योग्यता, पीएचडी की फीस कितनी होती है और पीएचडी करने के बाद सैलरी जैसी चीज़ों के बारे में काफी अच्छी जानकारी हो गई होगी।

यदि इस लेख के माध्यम से आपको कुछ अच्छी जानकारी मिली हो तो इसको अपने दोस्तों के साथ शेयर करके उनको भी PhD के बारे में ये सभी जानकारी जरूर दें।

PhD Karne Ke Fayde के बारे में सामान्य प्रश्न?

PhD करने में कितना समय लगता है?

PhD करने में आमतौर पर 3 से 6 साल का समय लगता है!

PhD करने से पहले कौन सी डिग्री चाहिए?

PhD करने से पहले आपके पास एक मास्टर डिग्री होनी चाहिए! इसके अलावा आपके मास्टर डिग्री में 60% से ज्यादा अंक होना चाहिए!

PhD करने के लिए सबसे आसान सब्जेक्ट्स कौन से हैं?

PhD करने के लिए सबसे आसान सब्जेक्ट्स सामाजिक विज्ञान को माना जाता है!

PhD प्रोफेसर की सैलरी कितनी होती है?

एक PhD प्रोफेसर की सैलरी ₹60000- ₹250000 प्रति महीना तक हो सकती है!

मेरा नाम सद्दाम हुसैन है और मैं इस ब्लॉग का फाउंडर और कंटेंट राइटर हूँ। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन, सरकारी नौकरी, जॉब, कैरियर, बिजनेस, कोर्सेज और सेलेबस से रिलेटेड हर नई और महत्वपूर्ण लेख को रेगुलर बेसिक पर प्रकाशित करता रहता हूँ।

31 thoughts on “PhD Karne Ke Fayde: पीएचडी की योग्यता, फीस, नौकरी और सैलरी?”

    • Haan, aap M.A. me Geography ke baad koi aur subject se PhD kar sakti hain. Lekin ismein aapko kuchh kritriyaon ko pura karna hoga.

      Sabse pahle, aapko us subject me M.A. ya uske barabar ka koi degree hona chahiye.
      Dusri baat, aapke research proposal ko ek relevant faculty member approve karna chahiye.
      Teesri baat, aapko entrance exam dene ki jarurat ho sakti hai.

      Agar aap in sab kritriyaon ko pura karti hain, to aap koi aur subject se PhD kar sakti hain.

      Reply
    • Haan, PhD course hone ke bad company compus selection ho sakta hai. PhD course complete karne ke baad aapke pass research skills, problem solving skills aur critical thinking skills bahut strong hote hain. Ye skills companyon ke liye bahut important hoti hain.

      PhD course complete karne ke baad aap companyon mein research scientist, data scientist, software engineer, machine learning engineer, artificial intelligence engineer jaise positions par apply kar sakte hain. In positions par aapke research skills aur problem solving skills ka bahut fayda hoga.

      Reply
    • Haan, aap English Grammar se PhD kar sakte hain. English Grammar se PhD karne ke liye aapko English Grammar mein ek strong foundation hona chahiye. Aapko English Grammar ke basic concepts, rules aur principles ko samajhna chahiye. Aapko English Grammar ke different areas, jaise ki syntax, morphology, semantics aur pragmatics ke bare mein bhi jaankari honi chahiye.

      Reply
  1. Currently I’m persuing Btech in Artificial intelligence and robotics branch… Kya mein iske baad phd kr sakti hu.. Ye course kitne saal ka hoga or meri branch ke liye eske scopes kya kya honge

    Reply
  2. Hi.. I’m Sandeep Arya from Lucknow UP main political science se m.a. kar raha hoon kya main polotical science se phd ker sakta hoon..

    Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!