CTET पास करने के फायदे: CTET क्या होता है? पूरी जानकारी

यदि आप एक उच्च कोटि के टीचर के पद के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आपके पास CTET का प्रमाण पत्र होना चाहिए। बहुत से ऐसे भी लोग है जिनको यह भी नही मालूम है कि CTET क्या होता है और CTET पास करने के फायदे क्या क्या है। यदि आपको भी यह सभी चीज़े नही पता है तो आप बिल्कुल सही जगह पर हैं।

इस लेख में हम आपको CTET क्या होता है, CTET पास करने के फायदे, CTET एग्जाम के लिए योग्यता, CTET एग्जाम पैटर्न और CTET पास करने के बाद नौकरी जैसी और भी कई महत्वपूर्ण चीज़ों के बारे में आपको विस्तार से बतायेगें।

CTET क्या होता है?

CTET का मतलब “Central Teacher Eligibility Test” होता है। जिसको हम हिंदी में केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा कहते हैं। CTET एक तरह से एक राष्ट्रीय स्तर का एग्जाम होता है।

CTET के एग्जाम को पास करने के बाद आप केंद्रीय विद्यालय संगठन, नवोदय विद्यालय समिति, और अन्य केंद्र सरकार के स्कूलों में टीचर की नौकरी के लिए आवेदन करने के योग्य हो जाते हैं। इसके अलावा आप राज्य सरकार के स्कूलों में जो टीचर की भर्ती निकलती है उसमें आवेदन करने के भी योग्य आप हो जाते हैं।

CTET का एग्जाम दो स्तरों में होता है। जिसमे पहला स्तर आपको 1 से 5 तक के बच्चों को पढ़ाने के लिए योग्यता निर्धारित करती है। वही दूसरा स्तर 6 से 8 तक के बच्चों को पढ़ाने के लिए योग्यता निर्धारित करता है। CTET एग्जाम का आयोजन केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) द्वारा किया जाता है।

CTET एग्जाम में कुल 150 सवाल होते हैं। हर एक सवाल 1 नंबर का होता है। CTET एग्जाम की अवधि 2 घंटे 30 मिनट की होती है। CTET एग्जाम पास करने के लिए आपको कम से कम 60% से ज्यादा अंक लाना होता है।

CTET का फुल फॉर्म क्या होता है | CTET Full Form in Hindi?

CTET का फुल फॉर्म Central Teacher Eligibility Test होता है। जिसको हिंदी मतलब केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा होता है। CTET एक तरह से एक एग्जाम होता है जिसको पास करके आप भारत सरकार और राज्य सरकार के टीचर के पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं। कई सारे ऐसे टीचर के पद होते हैं जिसमे आवेदन करने के लिए विद्यार्थी को CTET पास होना होता है।

CTET पास करने के फायदे | CTET Pass Karne Ke Fayde?

CTET पास करने के फायदे बहुत सारे हैं इसके कुछ महत्वपूर्ण फायदे निम्नलिखित हैं।

  • CTET एग्जाम पास करने के बाद आपको सरकारी स्कूलों में टीचर के पदों के लिए आवेदन करने का मौका मिलता है। एक तरह से कह सकते हैं कि CTET एग्जाम पास करने के बाद आप एक टीचर के रूप में नौकरी पा सकते हैं।
  • CTET एग्जाम पास करने वाले विद्यार्थियों को सरकारी स्कूलों में टीचर के पोस्ट पर नियुक्ति मिलने की संभावना बढ़ जाती है। जिससे उनको एक उच्च कोटि की हाई सैलरी वाली नौकरी मिल जाती है।
  • CTET एग्जाम पास करने के बाद आपका आत्मविश्वास और सम्मान बढ़ता है। क्योंकि लोग CTET एग्जाम को एक प्रतिष्ठित एग्जाम मानते हैं।
  • CTET एग्जाम पास करने वाले विद्यार्थियों को आगे एजुकेशन के फील्ड में विकास के और अवसर मिलते हैं। CTET एग्जाम पास करके विद्यार्थी एक टीचर के रूप में काम कर सकते हैं या फिर आगे उच्च कोटि की पढ़ाई या फिर शोध भी कर सकते हैं।
  • CTET एग्जाम पास करने के बाद आप एक सरकारी टीचर के रूप में काम करके बच्चों की शिक्षा और समाज के विकास में अपना एक बेहतरीन योगदान दे सकते हैं।
  • CTET एग्जाम पास करने के बाद विद्यार्थी एक ट्यूशन टीचर के रूप में भी अपना एक बढ़िया कैरियर बना सकते हैं। इसके अलावा विद्यार्थी किसी प्रशिक्षण संस्थानों में टीचर के रूप में भी काम कर सकते हैं।
इसको भी पढ़े-   आर्ट साइड से मेडिकल कोर्स: नए दौर का 7 बेस्ट मेडिकल कोर्स?

CTET एग्जाम देने के लिए योग्यता?

CTET एग्जाम देने के लिए निम्नलिखित योग्यता की जरूरत पड़ती है।

  • CTET के लेवल 1 का एग्जाम देने के लिए आवेदक को किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं पास होना चाहिए
  • CTET के लेवल 2 का एग्जाम देने के लिए आवेदक के पास किसी भी तरह की स्नातक की डिग्री होना चाहिए और प्रारंभिक शिक्षा में 2 साल के डिप्लोमा में पास होना चाहिए या लास्ट साल में होना चाहिए।
  • CTET एग्जाम देने के लिए आवेदक की उम्र 17 साल से ज्यादा होना चाहिए।
  • CTET एग्जाम देने के लिए आवेदक भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • CTET एग्जाम देने के लिए आवेदन शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए।

CTET एग्जाम का पैटर्न | CTET Exam Pattern in Hind

CTET एग्जाम के 2 लेवल होते हैं। दोनों लेवल में प्रश्नों की संख्या 150 होती है। हर एक सवाल 1-1 अंक का होता है। CTET एग्जाम के पेपर का समय आमतौर पर 2 घंटा 30 मिनट का होता है।

लेवल 1 का एग्जाम पास करने पर आप प्राथमिक कक्षाओं ( 1-5 ) के टीचर के लिए आवेदन कर सकते हैं। वही लेवल 2 का एग्जाम पास करने के बाद आप माध्यमिक कक्षाओं ( 6- 8 ) के टीचर के लिए आवेदन कर सकते हैं।

दोनों लेवल के एग्जाम में किस किस विषय से सवाल आते हैं उसके बारे में यहाँ हम आपको बतानें जा रहे हैं।

CTET एग्जाम लेवल 1 के विषय

  • बाल विकास
  • शिक्षाशास्त्र
  • भाषा 1 (हिंदी या अंग्रेजी)
  • भाषा 2 (कोई भी भारतीय भाषा)
  • गणित
  • पर्यावरण विज्ञान

CTET एग्जाम लेवल 2 के विषय-

  • बाल विकास
  • शिक्षाशास्त्र
  • भाषा 1 (हिंदी या अंग्रेजी)
  • भाषा 2 (कोई भी भारतीय भाषा)
  • गणित
  • विज्ञान
  • सामाजिक अध्ययन
  • सामाजिक विज्ञान

CTET एग्जाम के प्रमाणपत्र की वैधता कितनी होती है?

कुछ साल पहले CTET एग्जाम के प्रमाणपत्र की वैधता आमतौर पर 7 साल की होती थी लेकिन 2021 में इसको बढ़ाकर आजीवन कर दिया गया। इस तरह से कह सकते हैं की यदि आप एक बार CTET एग्जाम को पास कर लेते हैं तो उसके बाद आप इसके प्रमाणपत्र का उपयोग पूरे जीवनभर कर सकते हैं।

CTET एग्जाम की आवेदन फीस कितनी होती है?

यदि आप सामान्य या ओबीसी कैटेगरी से आते है तो आपके CTET एग्जाम की आवेदन शुल्क ₹1000- ₹1200 तक लग सकती है वही यदि आप एसटी और अन्य कैटेगरी से आते हैं तो आपकी CTET एग्जाम की आवेदन शुल्क 500- ₹600 तक लग सकती है।

CTET एग्जाम पास करने के बाद कौन सी नौकरी मिल सकती है?

CTET एग्जाम पास करने के बाद आप कई तरह की नौकरियों के लिए आवेदन करके अपना एक बढ़िया कैरियर बना सकते हैं। कुछ महत्वपूर्ण विकल्प निम्नलिखित हैं।।

सरकारी स्कूलों में टीचर: CTET एग्जाम पास करने के बाद आप केंद्रीय विद्यालय संगठन, नवोदय विद्यालय समिति, और अन्य केंद्र सरकार के स्कूलों में टीचर के पद के लिए आवेदन करके उच्च कोटि की हाई सैलरी वाली नौकरी पा सकते हैं।

प्राइवेट स्कूलों में टीचर: CTET एग्जाम पास करने के बाद आप प्राइवेट स्कूल में भी टीचर के रूप में नौकरी पा सकते हैं। प्राइवेट स्कूल में भी टीचर सैलरी काफी अच्छी होती है।

ट्यूशन टीचर: CTET एग्जाम पास करने के बाद आप ट्यूशन टीचर के रूप में भी काम कर सकते हैं। इसके अलावा आप अपना खुद का ट्यूशन क्लास भी शुरू कर सकते हैं।

इसको भी पढ़े-   2023 में नीट के लिए कौन सी बुक पढ़े?

प्रशिक्षण संस्थानों में टीचर: CTET एग्जाम पास करने के बाद आप प्रशिक्षण संस्थानों में टीचर के रूप में नौकरी पा सकते हैं। प्रशिक्षण संस्थानों में टीचर छात्रों को विभिन्न विषयों में प्रशिक्षण देते हैं।

शिक्षा क्षेत्र में अन्य पद: CTET एग्जाम पास करने के बाद आप शिक्षा सलाहकार, शिक्षा प्रबंधक, या शिक्षा शोधकर्ता जैसी पदों पर भी आवेदन करके उच्च कोटि की हाई सैलरी वाली नौकरी पा सकते हैं।

निष्कर्ष:

यदि आप एक उच्च कोटि का सरकारी या प्राइवेट टीचर बनना चाहते हैं तो आपके पास CTET का प्रमाणपत्र होना बेहद ही जरूरी है। CTET प्रमाणपत्र होने पर आपकी सरकारी स्कूलों, निजी स्कूलों, ट्यूशन सेंटरों, प्रशिक्षण संस्थानों, और शिक्षा क्षेत्र में अन्य पदों पर नौकरी पाने की संभावनाएं काफी बढ़ जाती हैं।

इस तरह से कह सकते हैं कि यदि आप एक टीचर बनना चाहते हैं, तो CTET एग्जाम पास करना आपके लिए एक बढ़िया विकल्प हो सकता है। CTET एग्जाम की अच्छे से तैयारी के लिए आप कोई बढ़िया कोचिंग संस्थान भी जॉइन कर सकते हैं।

इस पूरे लेख को पढ़ने के बाद आपको CTET क्या होता है, CTET पास करने के फायदे, CTET के लिए योग्यता, CTET एग्जाम पैटर्न और CTET पास करने के बाद नौकरी जैसी और भी कई महत्वपूर्ण चीज़ों के बारे में काफी उच्च कोटि की जानकारी हो गई होगी।

यदि यह लेख आपके लिए उपयोगी लगा हो तो इसको अपने मित्रों के साथ शेयर करना ना भूलें। इस पूरे लेख को पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद!

मेरा नाम सद्दाम हुसैन है और मैं इस ब्लॉग का फाउंडर और कंटेंट राइटर हूँ। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन, सरकारी नौकरी, जॉब, कैरियर, बिजनेस, कोर्सेज और सेलेबस से रिलेटेड हर नई और महत्वपूर्ण लेख को रेगुलर बेसिक पर प्रकाशित करता रहता हूँ।

1 thought on “CTET पास करने के फायदे: CTET क्या होता है? पूरी जानकारी”

Leave a Comment

error: Content is protected !!