B.Ed Karne Ke Fayde: बीएड की योग्यता, नौकरी, फीस और सैलरी?

इस लेख की रूपरेखा:

भारत मे बहुत से विद्यार्थी ऐसे होते हैं जो B.Ed का कोर्स करके एक उच्च कोटि का टीचर बनाना चाहते हैं। यदि आप भी B. Ed का कोर्स करते हैं तो इससे आप भी अपना एक बढ़िया करियर बनाकर एक सुखी जीवन जी सकते हैं इसके अलावा भी B.Ed Karne Ke Fayde बहुत सारे होते है।

इस उच्च कोटि की लेख में हम आपको B.Ed क्या होता है, B.Ed Karne Ke Fayde, B.Ed कोर्स करने के लिए योग्यता, B.Ed कोर्स की फीस, B.Ed के लिए बेस्ट कॉलेज और B.Ed के बाद सैलरी जैसी और भी कई महत्वपूर्ण चीज़ों के बारे काफी अच्छे से आपको बतायेगें।

बीएड क्या होता है | B.Ed Kya Hota Hai

B.Ed का मतलब “बैचलर ऑफ एजुकेशन” होता है। B.Ed एक अंडरग्रेजुएट डिग्री होती है। B.Ed कोर्स करके आप एक टीचर बन सकते हैं। B.Ed एक तरह से एक टीचर ट्रेनिंग का कोर्स होता है।

यदि आप 12वीं के बाद B.Ed का कोर्स करते हैं तो आपको इसमे 5 साल का समय लग सकता है। वही यदि आप किसी बैचलर डिग्री लेने के बाद B.Ed कोर्स करते हैं तो आपको 2 साल का समय लगेगा।

B.Ed का कोर्स करने के बाद आप सरकारी और गैर-सरकारी स्कूलों, कॉलेजों, ट्यूशन केंद्रों, शैक्षिक संगठनों में एक टीचर के रूप में उच्च कोटि की हाई सैलरी वाला जॉब पा सकते हैं।

B.Ed का कोर्स करने में आपको ₹40000 से ₹200000 तक का खर्चा लग सकता है। यदि आप B.Ed सरकारी कॉलेज से करते हैं तो खर्चा कम होता है जबकि प्राइवेट कॉलेज से B.Ed करने में खर्चा ज्यादा लगता है।

बीएड करने के कुछ बेहतरीन फायदे | B.Ed Karne Ke Fayde

यदि आप B.Ed के बारे में सोच रहे हैं तो आपको इसके फायदे के बारे में पता होना चाहिए। यहाँ हम आपके साथ B.Ed Karne Ke Fayde को बताने जा रहे हैं। इनको जानने के बाद आपको एक आईडिया लग जायेगा कि आपको B.Ed करना चाहिए कि नही करना चाहिए।

  • B.Ed का कोर्स करने का सबसे बड़ा फायदा ये होता है कि इसको करने के बाद आप एक उच्च कोटि के टीचर बनने के योग्य हो जाते हैं।
  • B.Ed का कोर्स करने के बाद आपके अंदर छोटे बच्चों को पढ़ाने का कौसल आ जाता है। जिससे आप छोटे बच्चों को काफी अच्छे तरह से पढ़ा सकते हैं।
  • B.Ed का कोर्स करने के बाद आपको काफी कम समय मे एक टीचर के रूप में सरकारी और प्राइवेट नौकरी मिल सकती है।
  • B.Ed का कोर्स करने के बाद आपके अंदर एक उच्च कोटि की पढ़ाने की कला विकशित हो जाती है। जिससे आप अपना एक खुद का कोचिंग संस्थान खोलकर अपना कैरियर बना सकते है।
  • B.Ed का कोर्स करने के बाद आप TET, CTET और LT जैसी परीक्षाये निकालकर एक उच्च कोटि के सरकारी टीचर बन सकते हैं। यह भी एक बढ़िया B.Ed Karne Ke Fayde हैं!
  • B.Ed का कोर्स करने के बाद आप विभिन्न स्कूलों, कॉलेजों या कोचिंग संस्थानों में एक टीचर के रूप में जॉब पा सकते हैं।
  • B.Ed कोर्स के द्वारा आप कई सारी विषयों में एक्सपर्ट बन जाते हैं। जिससे आपको कई सारी चीज़ों का काफी बढ़िया ज्ञान हो जाता है। यह भी एक बढ़िया B.Ed Karne Ke Fayde हैं!
  • B.Ed का कोर्स करने के बाद आप शिक्षा के क्षेत्र में काम करके हमारे समाज मे अपना एक सकारात्मक प्रभाव डाल सकते हैं।
  • B.Ed कोर्स के दौरान आपको थ्योरी के साथ साथ प्रैक्टिकल अनुभव ज्यादा मिलता है। जो आपको एक बढ़िया शिक्षक बनने में काफी मदद करता है।
  • B.Ed कोर्स आपके कॉम्युनिकेशन स्किल को बहुत अच्छा कर देता है जिससे आप लोगो से काफी अच्छे तरह से बात करके उनको इम्प्रेस कर सकते हैं। यह भी एक बढ़िया B.Ed Karne Ke Fayde हैं!
  • B.Ed कोर्स के बाद एक शिक्षक के रूप में काम करके अपने छात्रों के लिए एक प्रेरणा बन सकते हैं। इसके साथ साथ आप उनकी शिक्षा में सहायता करके उन्हें सफल बनाने में मदद कर सकते हैं।
इसको भी पढ़े-   बैचलर डिग्री क्या है: बैचलर डिग्री के बारे में सबकुछ जाने

बीएड करने के कुछ नुकसान? | B.Ed Karne Ke Nuksan

जिस तरह से बीएड करने के फायदे बहुत सारे है ठीक वैसे ही बीएड करने के कुछ नुकसान भी है। यहाँ हम आपके साथ B.Ed Karne Ke Nuksan को बताने जा रहे हैं।

  • B.Ed का कोर्स करने में समय और पैसा बहुत ज्यादा खर्च होता है। एक गरीब आदमी के पास इतना पैसा नही होता है।
  • कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो B.Ed का कोर्स करने के बाद भी उनको कही पर भी नौकरी नही मिलती है। क्योंकि आज के समय मे शिक्षा के क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा काफी बढ़ गई है।
  • कई ऐसे भी लोग होते हैं जिनको B.Ed का कोर्स करने के बाद एक टीचर के रूप में जॉब भी मिल जाती है। लेकिन उनको छात्रों को पढ़ाने में कोई रुचि नही होती है।
  • एक टीचर के रूप में काम करने के दौरान, आपको छात्रों के साथ विभिन्न प्रकार की चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है।
  • कुछ ऐसे लोग भी होते हैं जो B.Ed कोर्स बिना अपनी रुचि और करियर लक्ष्य को ध्यान में रखकर करते है। यदि आप भी ऐसे हैं तो यह कोर्स आपके लिए सही नहीं हो सकता।

B.Ed कोर्स के लिए योग्यता | B.Ed Course Eligibility

B.Ed कोर्स में एडमिशन लेने के लिए भारत सरकार द्वारा कुछ मानदंड निर्धारित की गई है। बिना इस मानदंड के आपका एडमिशन B.Ed कोर्स में नही होगा। इसके महत्वपूर्ण मानदंड को यहाँ हम शेयर करने जा रहे हैं।

  • B.Ed कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपके पास एक बैचलर डिग्री होना चाहिए। यदि आपके पास एक बैचलर डिग्री नही हैं और अपने 12वीं पास किया हैं तब भी आपका एडमिशन B.Ed कोर्स में हो जायेगा।
  • B.Ed कोर्स में एडमिशन लेने के लिए विद्यार्थी का ग्रेजुएशन में 50% से ज्यादा अंक होना चाहिए।
  • B.Ed कोर्स में एडमिशन लेने के लिए विद्यार्थी की उम्र 21 से 35 साल के बीच मे होनी चाहिय।
  • भारत के कुछ कॉलेजो में B.Ed कोर्स में एडमिशन लेने के लिए विद्यार्थी को प्रवेश परीक्षा देना पड़ता है। प्रवेश परीक्षा में पास होने के बाद ही वहाँ एडमिशन मिलता है।
  • B.Ed कोर्स में एडमिशन लेने के लिए विद्यार्थी भारत का नागरिक होना चाहिए।

B.Ed में कितने सब्जेक्ट होते है?

B.Ed के कोर्स में मुख्य रूप से 9-10 सब्जेक्ट होते है। इसमे से आप 2 सब्जेक्ट आप अपनी रुचि के हिसाब से चुनते हैं। बाकी के सब्जेक्ट आपके चुने हुए सब्जेक्ट के अनुसार कॉलेज निर्धारित करता है।

जब आप B.Ed में एडमिशन लेने जाते हैं तो आपको उस समय 2 सब्जेक्ट का चुनाव करना होता है। आपके द्वारा चुने गये 2 सब्जेक्ट के अनुसार ही आप आगे चलकर इन्हीं सब्जेक्ट के टीचर बनते हैं।

B.Ed के कोर्स में हर साल इन 9-10 सब्जेक्ट को पढ़ने के अलावा प्रैक्टिकल और इंटर्नशिप भी देना पड़ता है। प्रैक्टिकल और इंटर्नशिप के माध्यम से आपकी पढ़ाई कैसी चल रही है इसका एक आईडिया मिलता है।

B.Ed कोर्स करने की उम्र क्या होती है?

B.Ed कोर्स में एडमिशन लेने की उम्र आमतौर पर 21 से 35 के बीच मे होती है। इसके अलावा कुछ कॉलेजो में B.Ed कोर्स में एडमिशन लेने की उम्र 25 से 30 साल के बीच मे भी होती है। इसलिए B.Ed कोर्स में एडमिशन लेने से पहले आप अपने कॉलेज के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर उम्र के बारे में एकदम सटीक जानकारी जरूर ले लें।

इसको भी पढ़े-   बैंक मैनेजर बनने के लिए कौन सा कोर्स करे? जानिए विस्तार से

B.Ed कोर्स कितने साल का होता है?

यदि आप 12वीं के बाद B.Ed कोर्स करते हैं तो आपको 5 साल का समय लग सकता है। वही यदि आप ग्रेजुएशन के बाद B.Ed कोर्स करते हैं तो आपको 2 साल का समय लगता है। इसके अलावा यदि आप पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद B.Ed कोर्स करते हैं तो आपको 1 साल का समय लगता है। मुझे उम्मीद है कि आपको अब B.Ed कोर्स कितने साल का होता है इसके बारे में काफी अच्छी जानकारी हो गई होगी।

B.Ed कोर्स की फीस कितनी होती है | B.Ed Course Fees

यदि आप एक उच्च कोटि के सरकारी कॉलेज से B.Ed कोर्स करती हैं तो आपको औसतन ₹10000 से ₹15000 प्रति साल तक फीस लग सकती है। वही यदि आप एक प्राइवेट कॉलेज से B.Ed कोर्स करते हैं तो आपको औसतन ₹40000 से ₹100000 प्रति साल तक फीस लग सकती हैं। प्राइवेट कॉलेज के मुकाबले सरकारी कॉलेज में फीस थोड़ा कम होती है।

B.Ed कोर्स में स्कॉलरशिप कितनी मिलती है | B.Ed Course Scholarship

यदि आप B.Ed कोर्स के लिए सरकारी कॉलेज में एडमिशन लेते हैं तो आपको ₹10000 तक स्कॉलरशिप मिल सकती है। वही यदि आप B.Ed कोर्स के लिए एक प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन लेते हैं तो आपको ₹31000 से ₹33000 तक स्कॉलरशिप मिल सकती है। मुझे उम्मीद है कि आपको B.Ed कोर्स में स्कॉलरशिप कितनी मिलती है इसके बारे में काफी अच्छी जानकारी हो गई होगी।

B.Ed कोर्स के लिए बेस्ट कॉलेज?

यदि आप B.Ed कोर्स के लिए कुछ बढ़िया कॉलेज की तलाश में हैं तो आप बिल्कुल सही जगह पर हैं। यहाँ हम आपके साथ B.Ed कोर्स के लिए बेस्ट कॉलेज को शेयर करने जा रहे हैं। आप इन सभी कॉलेजो में B.Ed कोर्स के लिए उच्च कोटि की ज्ञान ले सकते हैं।

  • ​डॉ.भीमराव अंबेडकर यूनिवर्सिटी, आगरा​
  • ​वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल यूनिवर्सिटी, गोरखपुर​
  • ​बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी, झांसी​
  • ​महात्मा ज्योतिबा फुले रोहिलखंड विश्वविद्यालय, बरेली​
  • लेडी श्री राम कॉलेज फॉर वुमेन, नई दिल्ली
  • सेंट जेवियर्स कॉलेज, मुंबई
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू), वाराणसी
  • जामिया मिलिया इस्लामिया, नई दिल्ली
  • टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (टीआईएसएस), मुंबई
  • गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ एजुकेशन, चंडीगढ़
  • हिंदू कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • मिरांडा हाउस, दिल्ली विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • उस्मानिया विश्वविद्यालय, हैदराबाद

B.Ed करने के बाद कौन सी नौकरी मिलती है?

B.Ed का कोर्स करने के बाद आपको एजुकेशन के फील्ड में कई प्रकार की नौकरियाँ मिल सकती हैं। यहाँ हम आपके साथ कुछ मुख्य नौकरियों की सूची को शेयर कर रहे हैं। उम्मीद है कि ये उच्च कोटि की जानकारी आपके काम की होगी।

  • टीचर
  • प्रिंसिपल
  • स्कूल प्रबंधक
  • शिक्षा पाठ्यक्रम डिज़ाइनर
  • स्वतंत्र प्रशिक्षण संस्थान
  • ऑनलाइन ट्यूटर
  • एजुकेशन कंसलटेंट
  • कंटेंट राइटर
  • अकादमिक काउंसलर

B.Ed के बाद मुझे क्या करना चाहिए?

B.Ed का कोर्स करने के बाद आपके पास कई सारे विकल्प होते हैं। आप अपनी रुचि और करियर लक्ष्य के अनुसार किसी एक का चुनाव कर सकते हैं। यहाँ हम आपके साथ B.Ed करने के बाद कुछ महत्वपूर्ण विकल्प को शेयर कर रहे हैं। आप अपनी रुचि के अनुसार किसी एक का चुनाव कर सकते हैं।

शिक्षक बनें: B.Ed का कोर्स करने के बाद आप स्कूलों, कॉलेजों, विश्वविद्यालयों में एक शिक्षक के रूप में नौकरी करके अपना एक उच्च कोटि का करियर बना सकते हैं।

शिक्षा-संगठनों में काम करें: B.Ed का कोर्स करने के बाद आप शिक्षा-संगठनों, शिक्षा प्रौद्योगिकी कंपनियों, शैक्षिक संस्थानों में भी नौकरी पा सकते हैं। यह भी एक बढ़िया विकल्प है।

शिक्षा प्रबंधन: B.Ed का कोर्स करने के बाद आप स्कूल अध्यक्ष, प्रिंसिपल, स्कूल प्रबंधक, शिक्षा संगठनों में कार्यकारी पदों पर भी नौकरी करके अपना एक बढ़िया करियर बना सकते हैं।

इसको भी पढ़े-   सरकारी नौकरी पाने के लिए कितने घंटे पढ़ना चाहिए?

शिक्षा अनुसंधान: B.Ed का कोर्स करने के बाद आप शिक्षा अनुसंधान क्षेत्र में भी काम करके अपना एक बढ़िया करियर बना सकते हैं।

शिक्षा परामर्शक: B.Ed के बाद आप शिक्षा परामर्शक के रूप में भी काम कर सकते हैं, जैसे कि विद्यार्थियों, शिक्षकों और अभिभावकों को शिक्षा से संबंधित सलाह उनमे से मुख्य काम है।

शिक्षा पोर्टल या ब्लॉग संचालन: B.Ed के बाद आप शिक्षा से संबंधित ज्ञान और अनुभव को आपके अपने वेबसाइट, ब्लॉग, या सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर साझा करके शिक्षा क्षेत्र में अपने विचारों को प्रस्तुत कर सकते हैं।

अध्ययन जारी रखें: B.Ed के बाद आप बढ़ाने के लिए अध्ययन जारी रख सकते हैं। आप आगे B.Ed से भी उच्च कोटि के कोर्स को करके काफी ज्यादा ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं।

B.Ed के बाद सैलरी कितनी मिलती है?

B.Ed करने के बाद यदि आप एक टीचर के रूप में नौकरी पाते हैं तो आपको औसतन ₹40000 से ₹50000 प्रति महीना तक कि सैलरी मिल सकती हैं। समय के साथ साथ जैसा जैसा आपको अनुभव होते जायेगा वैसे ही वैसे आपकी सैलरी भी और अधिक होती जायेगी। इस तरह से कह सकते हैं कि B.Ed करने के बाद एक अच्छी सैलरी मिलती है।

क्या हम मास्टर्स और B.Ed एक साथ कर सकते हैं?

जी हां, मास्टर्स और B.Ed एक साथ कर सकते हैं। भारत मे कई ऐसे कॉलेज हैं जहाँ से आप मास्टर्स और B.Ed एक साथ कर सकते हैं। किसी भी कॉलेज में एडमिशन लेने से पहले आपको उस कॉलेज की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर इस बारे में अच्छे से जानकारी जरूर ले लें।

आपको ऐसे ही कॉलेज में एडमिशन लेने होगा जहाँ से आप मास्टर्स और B.Ed एक साथ बिना किसी समस्या के कर सकते हैं। इस तरह से आपको इस बारे में ज्ञान हो गया होगा कि मास्टर्स और B.Ed एक साथ कर सकते हैं कि नही।

निष्कर्ष:

इस पूरे पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको B.Ed के कोर्स के बारे में काफी कुछ जानकारी हो गई होगी। इसके अलावा आपको B.Ed क्या होता है, B.Ed Karne Ke Fayde, B.Ed कोर्स करने के लिए योग्यता, B.Ed कोर्स की फीस, B.Ed के लिए बेस्ट कॉलेज और B.Ed के बाद सैलरी जैसी और भी कई महत्वपूर्ण चीज़ों के बारे उच्च कोटि का ज्ञान हो गया होगा।

मुझे पूरी उम्मीद है कि ऊपर दी गई जानकारी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। यदि आपका कोई सवाल है तो हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है। हम आपके सवाल का जबाब जल्द से जल्द देने की कोशिश करेगें।

यदि आपको इस लेख के माध्यम से कुछ नया जानने और सीखने को मिला हो तो इस लेख को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें।

B.Ed Karne Ke Fayde के बारे में सामान्य प्रश्न?

मैं 12वीं के बाद B.Ed कर सकते हैं?

हां, आप 12वीं के बाद B.Ed कर सकते हैं। इसके लिए आप 12वीं 50% से ज्यादा अंको से पास होना चाहिए। 12वीं के बाद B.Ed कोर्स की अवधि 5 साल हो जाती है।

क्या B.Ed एक अच्छी डिग्री है?

हां, B.Ed एक उच्च कोटि की काफी अच्छी डिग्री है। B.Ed करके आप एक टीचर के रूप में नौकरी करके अपना एक उच्च कोटि का करियर बना सकते हैं।

ग्रेजुएशन के बाद B.Ed कितने साल का होता है?

यदि आप ग्रेजुएशन के बाद B.Ed कोर्स करते हैं तो आपको 2 साल का समय लगता है। वही यदि आप 12वीं के बाद B.Ed करते हैं तो इसमे आपको 5 साल तक का समय लग सकता है।

क्या मैं 47% अंकों के साथ B.Ed कर सकता हूं?

यदि आप जनरल कैटेगरी आते हैं तो आपको B.Ed में प्रवेश पाने के लिए 45% अंक लाना होगा। वही ओबीसी और एससी/एसटी कैटेगरी को B.Ed में प्रवेश पाने के लिए 45% तक अंक लाना होगा। इस तरह से कह सकते हैं कि 47% अंकों के साथ आप B.Ed कर सकते हैं।

B.Ed एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करने के लिए कितने मार्क्स चाहिए?

B.Ed एंट्रेंस एग्जाम में कुल 200 अंक होते हैं। B.Ed एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करने के लिए आपको 111 और 130 के बीच में अंक लाना होगा।

मेरा नाम सद्दाम हुसैन है और मैं इस ब्लॉग का फाउंडर और कंटेंट राइटर हूँ। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन, सरकारी नौकरी, जॉब, कैरियर, बिजनेस, कोर्सेज और सेलेबस से रिलेटेड हर नई और महत्वपूर्ण लेख को रेगुलर बेसिक पर प्रकाशित करता रहता हूँ।

1 thought on “B.Ed Karne Ke Fayde: बीएड की योग्यता, नौकरी, फीस और सैलरी?”

Leave a Comment

error: Content is protected !!