BPED Course Details in Hindi: बीपीएड क्या है? पूरी जानकारी

इस लेख की रूपरेखा:

यदि आप भी खेल और शारीरिक शिक्षा के फील्ड में उच्च कोटि की शिक्षा प्राप्त करना चाहते है तो BPED कोर्स आपके लिए एक बेहतर विकल्प हो सकता है। BPED कोर्स के माध्यम से छात्र शारीरिक शिक्षा के क्षेत्र में अपना एक बढ़िया करियर बना सकते है।

आज हम इस लेख में आपके साथ BPED Course Details in Hindi के बारे में हर एक महत्वपूर्ण चीज़ को साझा करेगें। इस पूरे लेख को पढ़ने के बाद आपको BPED कोर्स के बारे में हर एक महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हो जायेगी। तो चलिए शुरू करते हैं।

BPED कोर्स क्या होता है? | What is BPED Course in Hindi

BPED का मतलब “बैचलर ऑफ़ फिजिकल एजुकेशन” होता है। BPED एक ग्रेजुएशन स्तर का कोर्स होता है। BPED कोर्स छात्रों को शारीरिक शिक्षा और खेल के फील्ड में उच्च शिक्षा प्रदान करता है। BPEd कोर्स की अवधि 3 साल होती है। कोई भी 12वीं पास छात्र BPEd कोर्स में एडमिशन ले सकता है।

BPEd कोर्स में छात्रों को मुख्य रूप से शारीरिक शिक्षा, खेल विज्ञान, खेल में प्रशिक्षण और शारीरिक प्रशिक्षण तकनीको को सिखाया जाता है। इस कोर्स को पूरा करने के बाद छात्र स्पोर्ट्स और फिजिकल टीचर के रूप में अपना करियर बना सकते हैं।

BPED कोर्स क्यों करना चाहिये?

BPEd कोर्स करने के कई सारे कारण है। इसके कुछ महत्वपूर्ण कारणों को हम यहाँ शेयर कर रहे है। BPEd कोर्स में एडमिशन लेने से पहले आपको इन कारणों का पता होना चाहिए।

  • BPEd कोर्स करके आप शारीरिक शिक्षा और खेल क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं। इस कोर्स को करने के बाद छात्रों को सरकारी और प्राइवेट शिक्षा विभाग में, खेल संगठनों, खेल प्रशासनिक संगठनों और खेल प्रशिक्षण संस्थानों में नौकरी मिल सकती हैं।
  • BPEd कोर्स छात्रों के शारीरिक और मानसिक विकास में मदद करता है। इसके साथ साथ यह कोर्स छात्रों के विकास और स्वास्थ्य को सुधारने में मदद करता है।
  • BPED कोर्स पूरा करने के बाद छात्रों को खेल के क्षेत्र में मान्यता डिग्री मिल जाती है। जिसकी वजह से छात्रों को संगठित खेल के आयोजन में सहयोग करने का अवसर मिलता है और साथ ही साथ वे खेल के प्रशासनिक कार्यों के करने के भी योग्य होते हैं।
  • BPED कोर्स छात्रों को शारीरिक स्वास्थ्य और धैर्य को बेहतर बनाने में भी मदद करता है। BPEd कोर्स छात्रों को स्वस्थ और सक्रिय जीवनशैली अपनाने के लिए प्रेरित करता है। BPEd कोर्स करने का यह भी एक महत्वपूर्ण कारण है।

BPED कोर्स करने के कुछ महत्वपूर्ण कारण को हमने आपको बताया है। इन कारणों के अलावा और भी बहुत से कारण है जिनकी वजह से आप BPEd कोर्स कर सकते है।

BPED कोर्स कैसे करें ?

BPEd कोर्स करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करना होगा। हर एक चरण को हम यहाँ नीचे शेयर कर रहे है। इन सभी चरणों का पालन करके आप BPED कर सकते है।

  • BPEd कोर्स में एडमिशन लेने के लिए सबसे पहले छात्र को योग्यता मानदंडों की जांच करना होगा। छात्र को मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं 50% अंक से पास होना जरूरी है।
  • BPEd कोर्स में एडमिशन लेने के लिए छात्र को एंट्रेंस टेस्ट देना होता है। एंट्रेंस टेस्ट के बाद कॉलेज या विश्वविद्यालय मेरिट लिस्ट निकालते है। यदि छात्र का नाम मेरिट लिस्ट में आता है उसके बाद ही एडमिसन मिलता है।
  • मेरिट लिस्ट में नाम आने के बाद छात्र चयनित कॉलेज या विश्वविद्यालय में आवेदन पत्र भरें। आवेदन पत्र में हर एक जानकारी और दस्तावेज़ सही सही डालें।
इसको भी पढ़े-   GDA Nursing Course Details in Hindi: सभी जानकारी एक जगह पाएं

इन सभी चरणों के बाद छात्र को कॉलेज या विश्वविद्यालय में प्रवेश प्राप्त हो जाता है। प्रवेश प्राप्त करने के बाद कॉलेज या विश्वविद्यालय के निर्देश अनुसार ही BPEd कोर्स की पढ़ाई शुरू करना होता है।

इस तरह से, आप BPEd कोर्स में एडमिशन ले सकते है। BPEd कोर्स में आपको शारीरिक शिक्षा और खेल क्षेत्र के बारे में विस्तार से ज्ञान दिया जाता है। BPEd कोर्स करने के बाद आप अपने करियर को नए ऊंचाइयों तक ले जा सकते हैं।

BPED का फुल फॉर्म क्या होता है | BPED Ka Full Form Kya Hota Hain

BPED का फुल फॉर्म “Bachelor of Physical Education” होता है। BPEd एक ग्रेजुएशन स्तर का कोर्स है। BPEd कोर्स छात्रों को एक स्वास्थ्यपूर्ण, गतिशील और जीवंत शिक्षा के क्षेत्र में उच्चतर शिक्षा प्राप्त करने का मौका देता है।

BPEd कितने साल का कोर्स है?

BPEd कोर्स आमतौर पर 3 साल का होता है। इन 3 सालो को 6 सेमेस्टर में बांटा जाता है। हर एक सेमेस्टर 6 महीने का होता है। हर एक सेमेस्टर में अलग अलग विषयो का ज्ञान छात्रो को दिया जाता है। छात्रों को अंतिम वर्ष में परीक्षा देना होता है। परीक्षा में पास होने बाद छात्रो को BPED की डिग्री मिल जाती है।

BPED कोर्स के लिए आयु सीमा क्या है?

BPED कोर्स के लिए एक औसत न्यूनतम आयु सीमा 17 साल होता है। वही अधिकतम आयु सीमा 25 साल होता है। छात्रों को BPEd कोर्स में आवेदन करने से पहले आयु सीमा को ध्यान में रखना चाहिए और निर्धारित आयु सीमा के अनुसार आवेदन करना चाहिए।

BPED कोर्स के लिए योग्यता | BPED Course Qualification?

BPED कोर्स के लिए छात्रों को कई सारे योग्यता की जरूरत होती है। निम्नलिखित मानदंडों को पूरा करने वाले छात्रों को ही BPED कोर्स में प्रवेश मिल सकता है।

  • छात्र मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 परीक्षा 50% अंकों से पास होना चाहिए।
  • छात्र को शारीरिक शिक्षा और खेल के फील्ड में रुचि और ज्ञान होना चाहिए। इसके साथ साथ उनको स्पोर्ट्स, फिटनेस, योग और अन्य शारीरिक गतिविधियों में रुचि होनी चाहिए।
  • BPEd कोर्स में प्रवेश लेने के लिए न्यूनतम आयु सीमा 17 साल होता है। वही अधिकतम आयु सीमा 25 साल होनी चाहिये।
  • भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • शारीरिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए।

BPED कोर्स की फीस कितनी होती है? | BPED Course Fees

BPED कोर्स की फीस हर एक विश्वविद्यालय और कॉलेज के आधार पर भिन्न भिन्न होती है। सरकारी कॉलेज में BPEd कोर्स की फीस कम होती है वही प्राइवेट कॉलेजो में यही फीस ज्यादा हो जाती है। आपको एक सटीक फीस की जानकारी आधिकारिक कॉलेज के वेबसाइट पर जाकर पता चलेगा।

सरकारी कॉलेजो में BPED कोर्स की औसत फीस ₹5000 से ₹10,000 प्रति साल तक हो सकता है। वही प्राइवेट कॉलेजो में BPEd कोर्स की औसत फीस ₹30,000 से ₹45,000 तक प्रति साल के लिए लग सकता है।

BPEd Course Syllabus in Hindi | बीपीएड कोर्स का सिलेबस

हमने आपको ऊपर पहले ही बताया है कि BPED एक 3 साल का कोर्स होता है। हर एक साल में क्या क्या पढ़ाया जाता है उसके बारे में हम आपको यहाँ बताने जा रहे है। इनको जानने के बाद आपको BPED Course Syllabus in Hindi के बारे में काफी अच्छी जानकारी हो जायेगी।

प्रथम वर्ष

  • अंग्रेजी और संचार कौशल
  • इतिहास और संस्कृति
  • शारीरिक शिक्षा का इतिहास
  • शैक्षिक मनोविज्ञान, मार्गदर्शन और परामर्श
  • एप्लाइड एनाटॉमी और फिजियोलॉजी
  • प्रकाश उपकरण/गतिविधि
  • व्यायाम
  • फ़ुटबॉल
  • कुश्ती
  • मुक्केबाज़ी
  • वेट ट्रेनिंग
  • वेट लिफ्टिंग
  • पावर लिफ्टिंग
  • तैरना
  • जूदो
  • केलिस्थेनिक्स

द्वितीय वर्ष

  • अंग्रेजी और संचार कौशल – 2
  • शारीरिक शिक्षा की नींव
  • शारीरिक शिक्षा में शिक्षण पद्धति
  • व्यायाम की फिजियोलॉजी
  • व्यायाम
  • बैडमिंटन
  • शैक्षणिक पद्धति
  • खो-खो
  • खेल मनोविज्ञान
  • कबड्डी
  • टेबल टेनिस
  • वालीबाल
  • हेन्डबोल
  • शिक्षण की प्रैक्टिस
  • सॉफ्टबॉल

तृतीय वर्ष:-

  • अंग्रेजी और संचार कौशल – 3
  • खेल का समाजशास्त्र
  • व्यायाम
  • काइन्सियोलॉजी और बायो-मैकेनिक्स
  • खेल प्रबंधन
  • टेनिस
  • मापन और मूल्यांकन
  • क्रिकेट
  • स्वास्थ्य शिक्षा
  • हॉकी
  • योग
इसको भी पढ़े-   DAMS Course Details in Hindi: योग्यता, फीस, सैलरी और नौकरी?

BPED प्रैक्टिकल सिलेबस

सेमेस्टर – 1

  • ट्रैक और फील्ड
  • तैराकी/जिमनास्टिक/शूटिंग
  • खो-खो, डम्बल, टिपरी, वैंड, घेरा, छाता
  • कबड्डी / मलखंभ / लेज़िम / मार्च पास्ट

सेमेस्टर – 2

  • ट्रैक और फील्ड
  • योग, एरोबिक्स
  • जिम्नास्टिक, तैराकी
  • बैडमिंटन, टेबल टेनिस
  • स्क्वैश, टेनिस

सेमेस्टर – 3

  • ट्रैक और फील्ड
  • मार्शल आर्ट
  • कराटे या जूडो
  • तलवारबाजी
  • मुक्केबाजी, तायक्वोंडो
  • बेसबॉल, क्रिकेट, फुटबॉल
  • हॉकी, सॉफ्टबॉल, वॉलीबॉल
  • हैंडबॉल, बास्केटबॉल

सेमेस्टर – 4

  • ट्रैक एंड फील्ड
  • तैराकी, जिम्नास्टिक
  • कबड्डी, खो-खो, बेसबॉल
  • क्रिकेट, फुटबॉल, हॉकी
  • सॉफ्टबॉल/वॉलीबॉल
  • हैंडबॉल, बास्केटबॉल/नेटबॉल
  • बैडमिंटन, टेबल टेनिस/स्क्वैश

BPED कोर्स करने के फायदे | BPED Course Karne Ke Fayde

BPED कोर्स करने के कई महत्वपूर्ण फायदे होते है। इसके कुछ महत्वपूर्ण फायदे को हम यहाँ शेयर कर रहे है। उम्मीद है ये जानकारी आपको पसंद आयेगी।

  • BPED कोर्स करने से छात्रों की शारीरिक स्वास्थ्य और फिटनेस में काफी सुधार होता है। BPED कोर्स के माध्यम से छात्र शारीरिक व्यायाम, योग, और खेल की विभिन्न तकनीको को सीखते हैं। यह सभी चीज़े उनके स्वास्थ्य को सुधारने में मदद करते हैं।
  • BPED कोर्स करने के बाद छात्र खेल के क्षेत्र में अच्छा करियर बना सकते है। BPED कोर्स करने के बाद छात्र खेल संगठनों, खेल प्रशासनिक संगठनों, स्पोर्ट्स अथॉरिटीज़, और शैक्षणिक संस्थानों में नौकरी पा सकते है।
  • BPED कोर्स करने के बाद छात्र शारीरिक शिक्षा के फील्ड में एक्सपर्ट बन जाते है। एक तरह से वह शिक्षा और प्रशिक्षण के क्षेत्र में अच्छे टीचर बन जाते है।
  • BPED कोर्स के बाद छात्रों के अंदर टीम वर्क, और नेतृत्व कौशल का विकास हो जाता है। यह भी एक बढ़िया फायदा है BPED कोर्स करने का।
  • BPED कोर्स छात्रों को शारीरिक सुरक्षा और दक्षता के बारे में बेहतरीन ज्ञान प्रदान करता है। जिसकी वजह से छात्र खेल के दौरान सुरक्षा के नियमों का पालन करना सीख जाते है।

BPED कोर्स के लिए भारत के बेस्ट कॉलेज?

भारत में बहुत से कॉलेज है जहाँ से आप BPEd कोर्स के लिए उच्च कोटि की शिक्षा ले सकते है। यहाँ हम आपके साथ BPEd कोर्स के लिए भारत के बेस्ट कॉलेज को शेयर कर रहे है। आप इन कॉलेजो में BPED कोर्स के लिए उच्च कोटि की शिक्षा पा सकते है।

  • लक्ष्मी बाई नेशनल कॉलेज फॉर फिजिकल एजुकेशन, ग्वालियर
  • नेताजी सुभाष नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ स्पोर्ट्स,
  • पटना एजुकेशन एंड रिसर्च, मैसूर
  • अमृता विश्वविद्यालय, कोयंबटूर
  • जमिया मिलिया इस्लामिया, दिल्ली
  • रायल स्पोर्ट्स अकादमी, भोपाल
  • महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय
  • महात्मा गांधी विश्वविद्यालय
  • चंडीगढ़ विश्वविद्यालय
  • कालीकट विश्वविद्यालय
  • कलिंगा विश्वविद्यालय
  • पांडिचेरी विश्वविद्यालय
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी
  • बीपीसीए कॉलेज ऑफ फिजिकल एजुकेशन, मुंबई
  • ज्योतिबा कॉलेज ऑफ फिजिकल एजुकेशन, नागपुर
  • ईश्वर देशमुख कॉलेज ऑफ फिजिकल एजुकेशन, नागपुर
  • चन्द्रशेखर अगाशे कॉलेज ऑफ फिजिकल एजुकेशन, पुणे
  • लक्ष्मीबाई राष्ट्रीय शारीरिक शिक्षा संस्थान, ग्वालियर

BPED कोर्स के करने के बाद कौन कौन सी नौकरी मिल सकती है?

BPED कोर्स के करने के बाद छात्रों को कई तरह की नौकरियां मिल सकती है। यहाँ हम आपके साथ कुछ महत्वपूर्ण नौकरियों की लिस्ट को शेयर कर रहे हैं। आप BPED कोर्स करने के बाद यहाँ नौकरी करके अपना सुखी जीवन जी सकते है।

  • एथलेटिक ट्रेनर
  • पर्सनल ट्रेनर
  • फिजिकल एजुकेशन टीचर
  • स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट
  • एक्सरसाइज फिजियोलॉजिस्ट
  • ग्रुप एक्सरसाइज इंस्ट्रक्टर
  • खेल प्रशासक
  • खेल प्रशिक्षक
  • योग प्रशिक्षक
  • खेल व्यायामशाला संचालक
  • स्वास्थ्य सलाहकार
  • खेल प्रशासनिक अधिकारी
  • ग्रुप एक्सरसाइज इंस्ट्रक्टर
  • एथलेटिक ट्रेनर
  • पर्सनल ट्रेनर
  • फिजिकल एजुकेशन टीचर
  • स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट
  • योग ट्रेनर
  • स्पोर्ट्स नूट्रियनिस्ट
  • रेहबलिटिटेशन स्पेशलिस्ट
  • स्ट्रेंथ एंड कंडीशनिंग कोच
  • एक्सरसाइज फिजियोलॉजिस्ट

BPED कोर्स करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है

BPEd कोर्स करने के बाद मिलने वाली सैलरी नौकरी के प्रकार, अनुभव, क्षेत्र, स्थान और कंपनी पर निर्भर करता है। भारत मे एक शारीरिक शिक्षा अध्यापक की सैलरी मुख्य रूप से 20,000 से 40,000 रुपये प्रतिमाह तक मिलता है।

यही यदि आप एक खेल प्रशिक्षक के रूप में नौकरी करते है तब आपको सामान्य सैलरी 30,000 से 50,000 रुपये प्रतिमाह तक मिल सकता है। इसके साथ साथ एक फिटनेस सेंटर या व्यायामशाला संचालक की सैलरी 25,000 से 50,000 रुपये प्रतिमाह तक हो सकती है।

इस तरह से कह सकते हैं कि BPEd कोर्स करने के बाद मिलने वाली हर एक नौकरियो की सैलरी अलग अलग हो सकती है। समय के साथ साथ अनुभव होने पर सभी पदों पर मिलने वाली सैलरी और अधिक हो जाती है।

BPED का स्कोप कितना होता है?

भारत मे BPED का स्कोप बहुत अच्छा है। आने वाले समय मे इसका डिमांड और अधिक होने वाला है। निम्नलिखित क्षेत्रों में BPED कोर्स के प्रति मांग बढ़ रही है।

इसको भी पढ़े-   VLDA Course Details in Hindi: VLDA क्या है? पूरी जानकारी

1. शारीरिक शिक्षा अध्यापन: शारीरिक शिक्षा के क्षेत्र में BPED पास विद्यार्थियों की मांग काफी है। BPED पास विद्यार्थी सरकारी और प्राइवेट स्कूल में शारीरिक शिक्षा अध्यापक के रूप में नौकरी पा सकते हैं।

2. खेल प्रशासन: BPED कोर्स करने के बाद आप खेल संगठनों, खेल प्रशासनिक संगठनों, खेल फेडरेशन, खेल मंत्रालय, और खेल संस्थानों में उच्च स्तरीय नौकरियां पा सकते हैं।

3. जिम ऑपरेटर: BPED कोर्स करने के बाद आप फिटनेस सेंटर, व्यायामशाला, स्पोर्ट्स कंप्लेक्स जैसी जगहों पर जिम ऑपरेटर की जॉब पा सकते हैं।

4. खेल प्रशिक्षण: BPED पास करने वाले विद्यार्थियों को खेल प्रशिक्षण केंद्रों, खेल अकादमियों, खेल संस्थानों, और खेल क्लबों में खेल प्रशिक्षक के रूप में नौकरी मिल सकती है।

5. योग शिक्षा: योग और मेडिटेशन की मांग दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। BPED पास करने के बाद आप योग प्रशिक्षक के रूप में नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

क्या 12वीं के बाद BPED कोर्स कर सकते हैं?

हाँ, आप 12वीं के बाद BPED कोर्स कर सकते हैं। BPED कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको 12वीं कम से कम 50% अंक से पास होना जरूरी है। यदि अपने 12वीं पास कर लिए है तो उसके बाद आप BPED कोर्स करके शारीरिक शिक्षा और खेल क्षेत्र में अपनी करियर बना सकते हैं। BPED एक उच्च कोटि का कोर्स है। जो आपके कैरियर को आगे ले जाने में काफी मदद करेगा।

क्या बीएससी के बाद BPED कर सकते हैं?

हाँ, आप बीएससी (B.Sc.) के बाद BPED कोर्स कर सकते हैं। यदि आपने बीएससी की पढ़ाई पूरी कर ली है और आगे शारीरिक शिक्षा के क्षेत्र में पढ़ाई करने के बारे में सोच रहे हैं तो इस स्तिथि में BPED कोर्स आपके लिए एक परफेक्ट विकल्प होगा। BPED कोर्स आपको नौकरी के अवसरों में वृद्धि करने के साथ-साथ और भी कई सारे महत्वपूर्ण मुद्दों में सशक्त बनाने में मदद करता है।

BPED Course के बाद कौन सा कोर्स करें?

BPED Course करने के बाद आप कई कोर्स कर सकते हैं! कुछ महत्तपूर्ण कोर्स के नाम निम्नलिखित है!

  • M.P.Ed. (Master of Physical Education)
  • P.G.D.C.A. (Post Graduate Diploma in Coaching)
  • M.Phil (Physical Education)
  • P.G.D.F.T. (Post Graduate Diploma in Fitness Training)
  • D.P.Ed. (Diploma in Physical Education)
  • D.F.T. (Diploma in Fitness Training)

निष्कर्ष:

इस पूरे लेख को पढ़ने के बाद हम इस निष्कर्ष पर पहुँचते हैं कि BPED कोर्स के माध्यम से आप अपना एक स्थिर और सत्यापित करियर बना सकते हैं। इसके साथ साथ BPED कोर्स आपको कई सरकारी और निजी संगठनों में नौकरी के अवसर भी प्रदान करता है। इसलिए यदि आपकी रुचि खेल और शारीरिक शिक्षा के फील्ड में है तो BPED कोर्स आपके लिए एक बेहतर विकल्प हैं।

मुझे पूरी उम्मीद है कि इस पूरे लेख को पढ़ने के बाद आपको BPED Course Details in Hindi के बारे में काफी अच्छी जानकारी हो गई होगी। यदि आपको यह लेख पसंद आया हो तो इसको सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

BPED Course Details in Hindi के बारे में सामान्य प्रश्न?

BPED कोर्स में कितने विषय होते हैं?

BPED कोर्स में कई सारे विषय हैं जो इस प्रकार हैं।

1. एनाटोमी एंड फिजियोलॉजी
2. हेल्थ एजुकेशन
3. एनवायर्नमेंटल स्टडीज़
4. योग एजुकेशन
5. एजुकेशनल टेक्नोलॉजी एंड मेथड्स ऑफ टीचिंग इन फिजिकल एजुकेशन
6. संगठन और एडमिनिस्ट्रेशन

BPED कोर्स के लिए प्रवेश कैसे मिलता है?

BPED कोर्स में प्रवेश लेने के लिए आपको कॉलेजो में प्रवेश परीक्षा देना पड़ता है। उसके बाद कॉलेज एक मेरिट लिस्ट निकालती है। यदि आपका नाम मेरिट लिस्ट में आ जाता है तो आपका उस कॉलेज में प्रवेश सुनिश्चित हो जाता है।

BPED टीचर की सैलरी कितनी है?

BPED टीचर की शुरुआती सैलरी 20,000 हजार रुपये प्रति महीना तक होती है। समय के साथ साथ अनुभव होने पर एक BPED टीचर की सैलरी 40,000 हजार रुपये से अधिक तक हो सकती है।

राजस्थान में BPED की कॉलेज कितनी है?

राजस्थान में BPED कोर्स के लिए 14 से अधिक कॉलेज हैं। कुछ महत्वपूर्ण कॉलेजो के नाम नीचे बताये गये हैं।

1. राजस्थान पीईटी कॉलेज, जयपुर
2. जयपुरिया कॉलेज ऑफ शारीरिक शिक्षा, जयपुर
3. सीमा शर्मा बीपीएड महिला महाविद्यालय, जयपुर
4. अरविन्द भारती शारीरिक शिक्षा महाविद्यालय, जयपुर
5. राजस्थान महिला शारीरिक शिक्षा महाविद्यालय, उदयपुर
6. महाराणा प्रताप शारीरिक शिक्षा महाविद्यालय, उदयपुर
7. जैन शारीरिक शिक्षा संस्थान, अजमेर
8. माहराजा सर्वेश्वर शारीरिक शिक्षा महाविद्यालय, जोधपु

क्या मैं ग्रेजुएशन के बाद BPED कोर्स कर सकता हूँ?

हाँ, आप ग्रेजुएशन (स्नातक) के बाद BPED कोर्स कर सकते हैं। यदि आपको शारीरिक शिक्षा और खेल क्षेत्र में आगे अध्ययन करने की इच्छा है तो आप ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद BPED कोर्स की ओर बढ़ सकते हैं।

मेरा नाम सद्दाम हुसैन है और मैं इस ब्लॉग का फाउंडर और कंटेंट राइटर हूँ। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन, सरकारी नौकरी, जॉब, कैरियर, बिजनेस, कोर्सेज और सेलेबस से रिलेटेड हर नई और महत्वपूर्ण लेख को रेगुलर बेसिक पर प्रकाशित करता रहता हूँ।

Leave a Comment

error: Content is protected !!