GNM Kya Hota Hai: योग्यता, फीस, सिलेबस, बेस्ट कॉलेज और सैलरी

इस लेख की रूपरेखा:

GNM Kya Hota Hai?

कोर्स के प्रकार डिप्लोमा
GNM का फुल फॉर्म General Nursing and Midwifery (जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी)
GNM कोर्स की अवधि 3.5 साल
GNM के लिए योग्यता इंटरमीडिएट में 50% से ज्यादा मार्क से पास हो
एडमिशन प्रक्रियामेरिट या प्रवेश परीक्षा द्वारा
GNM कोर्स की औसतन फीस सरकारी कॉलेज में ₹5000 – ₹40000 प्रति साल और
प्राइवेट कॉलेज में ₹50000- ₹300000 प्रति साल
जॉब प्रोफाइल्स स्टाफ नर्स, नर्सिंग ट्यूटर/प्रशिक्षक, गृह स्वास्थ्य नर्स,
क्लीनिकल नर्स स्पेशलिस्ट, फॉरेंसिक नर्सिंग
GNM कोर्स के बाद सैलरी औसत सैलरी ₹25000- ₹70000 प्रति महीना

आज के समय मे भारत मे बहुत से ऐसे लोग है जो मेडिकल क्षेत्र में आपका कैरियर बनाना चाहते है। यदि आप भी मेडिकल क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना चाहते है। तो GNM आपके लिए एक बेस्ट ऑप्शन होगा।

GNM के कोर्स को पूरा करके आप एक नर्स बन सकते है। अभी भी बहुत से ऐसे लोग है। जिनको GNM Kya Hota Hai इसके बारे में कोई जानकारी नही है।

GNM Course Details in Hindi के इस लेख में आप GNM Kya Hota Hai, GNM कोर्स करने के फायदे, GNM नर्सिंग कोर्स के लिए योग्यता, GNM कोर्स की फीस, GNM कोर्स सिलेबस, GNM Course के बाद नौकरी और जीएनएम नर्स की सैलरी कितनी होती है के बारे में विस्तार से जानेंगें! इस आर्टिकल को पूरा पढ़ने के बाद आपको GNM के बारे में हर एक चीज़ की जानकारी हो जायेगी।

GNM क्या होता है | GNM Kya Hota Hai

GNM Kya Hota Hai

GNM Kya Hota Hai: यदि आप मेडिकल क्षेत्र से अपनी पढ़ाई कर रहे है! तो अपने कही ना कही GNM का नाम जरूर सुना होगा। GNM का मतलब General Nursing And Midwifery होता है।

GNM एक तरह का एक कोर्स होता है जिसको करके आप मेडिकल क्षेत्र में जॉब पा सकते है। GNM एक डिप्लोमा कोर्स है। जिनको करने के बाद आपको हॉस्टिपल या अन्य जगह पर नर्स का जॉब मिलता है।

जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी ( GNM ) का डिप्लोमा कोर्स 3.5 साल का होता है। इस डिप्लोमा कोर्स में स्टूडेंट को रोगियों के लिए बुनियादी देखभाल करने के बारे में ट्रेन किया जाता है।

इसके साथ साथ इस डिप्लोमा कोर्स में गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशुओं की कैसे देखभाल करनी है इसके बारे के भी अच्छी तरह से सिखाया जाता है।

भारत मे कई सारे नर्सिंग स्कूल और कॉलेज में GNM का डिप्लोमा कोर्स लोगो को कराया जाता है। GNM के डिप्लोमा कोर्स में नर्सिंग का practical और theoretical दोनों की training दी जाती है। मुझे उम्मीद है की अब तक आपको GNM Kya Hota Hai इसके बारे में एक आईडिया लग गया होगा!

GNM का फुल फॉर्म क्या होता है | GNM Full Form in Hindi?

GNM का फुल फॉर्म “General Nursing And Midwifery” होता है। GNM को हिंदी में सामान्य पोषण एवं दाई के नाम से भी जाना जाता है।

GNM को हम इंडिया में अपने देशी भाषा मे दाई या फिर नर्स कहते है। यदि आप अपने जीवन मे कभी किसी हॉस्टिपल में भर्ती हुए होगें तो अपने देश होगा कि दवा दवाई का बेसिक काम एक नर्स ही करती है। उस नर्स को वह नौकरी GNM जैसी कोई डिप्लोमा कोर्स करने के बाद ही मिला होगा।

GNM कोर्स करने के फायदे | GNM Karne ke Fayde

GNM Karne ke Fayde

GNM Karne Ke Fayde: GNM नर्सिंग का डिप्लोमा कोर्स करने के कई सारे फायदे है GNM कोर्स करने के बाद होने वाले मुख्य फायदे को हम आपके साथ शेयर करने जा रहे है। मुझे उम्मीद है कि इन फायदे को जानने के बाद आप भी GNM का डिप्लोमा कोर्स करेगें।

  • GNM करने का सबसे बड़ा फायदा ये है कि इसके माध्यम से आपको स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में काम करने का मौका मिलता है। सबको पता है कि स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में काम करके आप अच्छा पैसा और समाज मे इज्जत कमा सकते है। इसके साथ साथ GNM कोर्स करने के बाद आप जरूरतमंद मरीजों की सेवा करके समाज में अपना योगदान दें सकते है।
  • निःस्वार्थ सेवा और समर्पण के कारण GNM को एक अत्यधिक सम्मानित पेशा माना जाता है। GNM नर्सिंग की पढ़ाई करके आप समाज और लोगो का सम्मान और प्रशंसा पा सकते है। GNM का ये भी एक फायदा है।
  • नर्स और दाई का डिमांड इंडिया में बहुत ज्यादा है। इसलिए GNM का कोर्स करके आप एक बढ़िया कैरियर बना सकते है। इसको करने के बाद आप अस्पतालों, क्लीनिकों और नर्सिंग होम में आसानी से जॉब पा सकते है। GNM नर्सिंग का ये एक बहुत ही अच्छा फायदा है।
  • भारत में नर्स और दाई की सैलरी बहुत ही अच्छी होती है। इसलिए इसमें जॉब करने से आपको वित्तीय स्थिरता मिलती है। इसके साथ साथ इन जॉब में स्वास्थ्य बीमा, सेवानिवृत्ति लाभ और सवेतन अवकाश जैसी सुविधाएं भी मिलती है। ये भी एक महत्पूर्ण GNM Karne ke Fayde है!
  • GNM नर्सिंग के द्वारा आप कई सारी skills को develop कर सकते है जैसे communication, critical thinking और problem-solving उसमे से मुख्य है। ये सभी skills आपके व्यक्तिगत और पेशेवर जीवन मे बहुत काम आती है।
इसको भी पढ़े-   GNM Entrance Exam की तैयारी कैसे करें: जानिये विस्तार से?

ऊपर की बातों से हम कह सकते है कि GNM एक अत्यधिक लाभकारी पाठ्यक्रम है। ये कोर्स आपको कैरियर की संभावनाएं, वित्तीय स्थिरता, व्यक्तिगत विकास जैसी अनगिनत फायदे देता है।

इस कोर्स को करने के बाद यदि आपको कोई जॉब मिलता है तो आप उस जॉब के माध्यम से समाज मे एक अच्छा काम कर सकते है। इस जॉब की इज्जत समाज मे बहुत ज्यादा होती है। अबतक आपको GNM Karne Ke Fayde के बारे में अच्छी जानकारी हो गई होगी!

GNM नर्सिंग कोर्स करने के लिए योग्यता क्या चाहिए | GNM Ke Liye Qualification in Hindi

GNM Ke Liye Qualification in Hindi

GNM नर्सिंग कोर्स में एडमिशन के लिए सबसे पहले आपको इंटरमीडिएट साइंस साइड से पास होना अनिवार्य है। साइंस साइड में आप फिसिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी तीनो में से किसी भी विषय से पास होना जरूरी है।

  • दूसरे कंडीशन में आपको एक बढ़िया स्कूल से इंटरमीडिएट में 50% से ज्यादा मार्क लाना अनिवार्य है। तभी जाकर आपका GNM नर्सिंग में एडमिसन होगा।
  • अगर बात करे उम्र की तो GNM नर्सिंग में एडमिसन के लिए आपकी उम्र 17-35 साल के बीच मे होना चाहिए है।
  • भारत मे कई सारे ऐसे कॉलेज है जहां पर GNM में एडमिसन लेने के लिए एक प्रवेश परीक्षा देना पड़ता है। यदि आप प्रवेश परीक्षा में पास होते है तभी आपका एडमिसन GNM में होता है। प्रवेश परीक्षा में फेल होने पर आपका GNM नर्सिंग में एडमिसन नही होता है।
  • इसके साथ साथ भारत में कई सारे ऐसे भी कॉलेज है जहां पर आप बिना प्रवेश परीक्षा दिये मेरिट बेस पर GNM नर्सिंग में एडमिसन ले सकते है।
  • भारत के किसी भी कॉलेज में GNM नर्सिंग में एडमिसन लेने के लिए medically fit होना भी जरूरी होता है। medical चेक करने का हर कॉलेज का अपना अलग अलग नियम होता है।

ऊपर बताये गए सभी से हम कह सकते है कि GNM नर्सिंग में एडमिसन लेने के लिए आपके अंदर सभी criteria का होना बहुत जरूरी हैं। यदि ऊपर बताये गए चीज़ों में कोई एक criteria आपके अंदर नही है तो आपका एडमिसन GNM डिप्लोमा कोर्स में नही हो सकता है। अबतक आपको जीएनएम के लिए योग्यता के बारे में अच्छी जानकारी हो गई होगी!

GNM कोर्स की फीस कितनी होती है | GNM Course Fees in Hindi

भारत के हर एक कॉलेज जो GNM डिप्लोमा Course करवाते है उनकी फीस अलग अलग होती है। अगर एक औसत फीस की बात करे तो भारत मे GNM Course fees 20000 से 150000 रुपये हर साल की होती है।

यदि आप सरकारी कॉलेज के माध्यम से GNM का कोर्स करते है तो आपकी फीस निजी कॉलेजों के मुकाबले बहुत कम लगती है। सरकारी कॉलेज में GNM कोर्स की फीस 5000 से 40000 रुपये हर साल के लिए होता है। वही निजी कॉलेजों यह फीस 50000 से 300000 रुपये हर एक साल के लिए हो जाता है।

ऊपर हमने केवल कोर्स की फीस बताई है। इनके अलावा भी आपके कई सारे खर्चे होते है जैसे छात्रावास शुल्क, परीक्षा शुल्क और वर्दी शुल्क!

जो स्टूडेंट गरीब है और यह फीस अफोर्ड नही कर सकते है उनके लिए सरकार ने छात्रवृत्ति की सुविधा भी दी है। छात्रवृत्ति के लिए अप्लाई करके आप अपनी GNM कोर्स की फीस को और कम कर सकते है।

GNM कोर्स सिलेबस | GNM Syllabus in Hindi

हमने आपको ऊपर बताया है कि GNM एक 3 साल का डिप्लोमा कोर्स है। और इस डिप्लोमा कोर्स में कई सारे विषयो को पढ़ाया जाता है।

यहां पर हम आपके साथ GNM Syllabus in Hindi को शेयर करने जा रहे है। जब आप GNM का कोर्स करते है तो यही सभी Subject आपको आने वाले तीन सालों में पढ़ाया जाता है।

इसको भी पढ़े-   CCH Course Details in Hindi: CCH कोर्स क्या है? पूरी जानकारी

GNM Syllabus For First Year?

  • माइक्रोबायोलॉजी
  • एनाटोमी एंड फिजियोलॉजी
  • बायो साइंसेज
  • एप्लाइड साइंस
  • सिविक्स
  • साइकोलॉजी
  • बेसिक्स ऑफ़ नर्सिंग
  • नर्सिंग फाउंडेशन
  • प्राथमिक चिकित्सा
  • पर्यावरण स्वच्छता
  • सामुदायिक नर्सिंग
  • पर्यावरण स्वच्छता
  • स्वास्थ्य शिक्षा और संचार कौशल
  • अंग्रेज़ी
  • पोषण
  • सह पाठ्यक्रम गतिविधियां
  • कंप्यूटर शिक्षा

GNM Syllabus For 2nd Year?

  • मेडिकल-सर्जिकल नर्सिंग
  • बाल स्वास्थ्य नर्सिंग
  • मानसिक स्वास्थ्य और मनोरोग नर्सिंग
  • सह पाठ्यक्रम गतिविधियां

GNM Syllabus For 3rd Year?

  • दाई का काम और स्त्री रोग संबंधी नर्सिंग
  • सह पाठ्यक्रम गतिविधियां
  • सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग
  • व्यावसायिक रुझान और समायोजन
  • नर्सिंग शिक्षा
  • सामान्य नर्सिंग और मिडवाइफरी में नैदानिक क्षेत्र
  • नर्सिंग प्रशासन और वार्ड प्रबंधन
  • अनुसंधान और सांख्यिकी का परिचय

GNM कोर्स में इन सभी विषयो के अलावा व्यावहारिक प्रशिक्षण और क्लिनिकल एक्सपोजर को भी पढ़ाया जाता है। व्यावहारिक प्रशिक्षण में स्टूडेंट को नर्सिंग देखभाल, रोगी प्रबंधन और क्लीनिकल स्किल्स को सिखाया जाता है। अबतक आपको GNM Syllabus in Hindi के बारे में अच्छी समझ हो गई होगी!

भारत में सर्वश्रेष्ठ GNM नर्सिंग कॉलेज की सूची?

List Of Best GNM Colleges in India

भारत मे GNM का डिप्लोमा कोर्स करवाने वाले कई सारे कॉलेज है। और ये कॉलेज स्टूडेंट को उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा और प्रशिक्षण देते है। यहां पर हम आपको भारत में सर्वश्रेष्ठ GNM कॉलेजों की सूची को शेयर कर रहे है। आप इन कॉलेज में एडमिसन लेकर GNM का कोर्स कर सकते है।

  • अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), नई दिल्ली
  • राम मनोहर लोहिया अस्पताल, नई दिल्ली
  • क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज, वेल्लोर
  • आर्म्ड फोर्सेज मेडिकल कॉलेज, पुणे
  • स्नातकोत्तर चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (पीजीआईएमईआर), चंडीगढ़
  • सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा, पुणे
  • सेंट जॉन्स मेडिकल कॉलेज, बैंगलोर
  • शारदा विश्वविद्यालय, ग्रेटर नोएडा, उत्तर प्रदेश
  • SRM इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी, चेन्नई
  • गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज और अस्पताल, चंडीगढ़
  • राजीव गांधी कॉलेज ऑफ नर्सिंग, बैंगलोर
  • इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान, पटना
  • राष्ट्रीय नर्सिंग शिक्षा संस्थान, चंडीगढ़

ऊपर के बताये गए सभी कॉलेज स्टूडेंट को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और प्रशिक्षण कई सालों से दे रहे है। इन कॉलेज में अच्छी तरह से सुसज्जित प्रयोगशाला, पुस्कालय और clinical ​​सुविधाए है।

इन सभी कॉलेज के अलावा और भी कई सारे कॉलेज इंडिया में है जो विद्यार्थी को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और प्रशिक्षण देते है। इसलिए किसी भी कॉलेज में एडमिसन लेने से पहले आपको अच्छे से रिसर्च जरूर कर लेना चाहिए।

जीएनएम नर्स की सैलरी कितनी होती है | GNM ki Salary Kitni Hoti hai?

भारत मे GNM नर्स की सैलरी कई सारी बातों पर निर्भर करती है। यदि आपको GNM में जॉब करने का अनुभव कम होता है तो आपकी सैलरी भी कम होगी है और यदि आपका अनुभव ज्यादा होता तो आपकी सैलरी भी ज्यादा होगी।

एक औसत GNM नर्स की सैलरी भारत मे 15000 से 25000 रुपये महीना तक हो सकती है। जैसे जैसे आपका अनुभव और विशेषज्ञता बढ़ेगी वैसे वैसे आपकी सैलरी भी बढ़ेगी।

यदि आप metro cities या निजी अस्पताल में जॉब करते है तो आपकी सैलरी ज्यादा होती है वही यदि आप छोटे शहरों या सरकारी अस्पतालों में जॉब करते है तो आपको सैलरी कम मिलती है।

GNM नर्स को सैलरी के अलावा स्वास्थ्य बीमा, सेवानिवृत्ति लाभ भी मिलता है। कुछ जगहों पर GNM नर्स को आवास और परिवहन भत्ता भी मिलता है।

GNM कोर्स के बाद सरकारी नौकरी कैसे प्राप्त करें?

एक बार जब आप Gnm का कोर्स एक बढ़िया कॉलेज से पूरा कर लेते है फिर उसके बाद आप कई तरीकों से स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में सरकारी नौकरी प्राप्त कर सकते है। यहां पर हम कुछ तरीको को आपके साथ शेयर करने जा रहे है। आप इन तरीकों के माध्यम से सरकारी नौकरी ले सकते है।

1. स्टाफ नर्स भर्ती परीक्षा:

भारत सरकार और राज्य सरकार Staff Nurse के लिए हर साल एम्स, ईएसआईसी और आर्मी मेडिकल कोर में भर्ती परीक्षा के माध्यम से Nurse की भर्ती करती है। यदि आपने GNM का कोर्स किया है तो आप इन एग्जाम को क्वालीफाई करके अपने लिए एक नर्स की जॉब ले सकती है।

2. लोक सेवा आयोग (पीएससी):

भारत के हर एक राज्य कालोक सेवा आयोग होता है। हर एक राज्य का लोक सेवा आयोग समय समय पर nursing की भर्ती निकालता है। आप इनके एग्जाम को पास करके अपने लिए एक nursing की जॉब ले सकते है।

3. नौकरी पोर्टल:

भारत के कई सारे healthcare facilities समय समय पर nurses के लिए भर्ती National Health Mission और Indian Nursing Council की website पर निकालते रहते है। आप इन पोस्टो पर अप्लाई करके अपने लिए nursing की नौकरी ले सकते है।

4. वॉक-इन इंटरव्यू:

कुछ सरकारी अस्पताल नर्सिंग पदों के लिए वॉक-इन इंटरव्यू आयोजित करते है। जिनको ये नौकरी लेनी होती है वह इनके बताये गए स्थान पर अपने महत्वपूर्ण दस्तावेज़ लेकर जाता है और इंटरव्यू देता है। यदि आपके इंटरव्यू से वह प्रभावित हो जाते है तो वह आपको नर्सिंग की नौकरी दे देते है।

5. बोंडेड सर्विस:

कुछ राज्य सरकारें GNM nurses को बोंडेड सर्विस आफर करते है। जहां पर वह ग्रामीण या दूरस्थ क्षेत्र में में कुछ समय तक काम करती है। जब राज्य सरकार आपके काम से खुश हो जाते है फिर उसके बाद वह आपको सरकारी नौकरी दे देती है।

इसको भी पढ़े-   CDAC Course Details: CDAC कोर्स क्या होता है? पूरी जानकारी

इस तरह से कह सकते है कि Gnm कोर्स करने के बाद आप कई तरीके से सरकारी नौकरी ले सकते है। अब ये आपके ऊपर निर्भर करता है कि आप Gnm कोर्स करने के बाद किस तरह से सरकारी नौकरी लेना चाहते है।

GNM कोर्स करने के बाद करियर कहाँ बनाये?

जीएनएम कोर्स करने के बाद करियर कहाँ बनाये

एक बार जब आप GNM का कोर्स पूरा कर लेते है उसके बाद आपके सामने कई सारे कैरियर के विकल्प खुल जाते है। यहां पर हम आपके साथ GNM का कोर्स पूरा करने के बाद के कुछ कैरियर के विकल्प को शेयर कर रहा हु। आप इन जगहों पर अपना कैरियर बना सकते है।

1. स्टाफ नर्स:

स्टाफ नर्स मुख्य रूप से अस्पतालों और क्लीनिकों में काम करते है। स्टाफ नर्स का मुख्य काम रोगी की देखभाल, दवा देना और डॉक्टरों की सहायता करना होता है। GNM कोर्स के बाद आप किसी अस्पताल या फिर क्लीनिक में Staff Nurse के जॉब के द्वारा अपना कैरियर बना सकते है।

2. नर्सिंग ट्यूटर/प्रशिक्षक:

Nursing Tutor मुख्य रूप से colleges and training institutes में काम करते है। Nursing Tutor nursing को उनके नैदानिक ​​प्रशिक्षण का पर्यवेक्षण करते है। GNM के बाद ये भी एक बढ़िया कैरियर ऑप्शन है।

3. नर्सिंग पर्यवेक्षक:

GNM कोर्स करने के बाद आप नर्सिंग पर्यवेक्षक के रूप में भी काम कर सकते है। नर्सिंग पर्यवेक्षक का मुख्य काम कर्मचारियों के काम की निगरानी करना होता है। इसके साथ साथ नर्सिंग पर्यवेक्षक नर्सिंग विभाग के स्टाफिंग और संसाधन को भी मैनेज करता है।

4. सैन्य नर्स:

Military nurses मुख्य रूप सशस्त्र बल में स्वास्थ्य देखभाल करती है। एक नर्स के लिए यह एक जोखिम भरा काम होता है। यदि आपको देश सेवा करने में मज़ा आता है तो ये कैरियर ऑप्शन आपके लिए सबसे बढ़िया है।

5. गृह स्वास्थ्य नर्स:

होम हेल्थ नर्स लोगो को स्वास्थ्य देखभाल उनके घर पर जाकर देते है। यह बहुत ही अच्छा जॉब माना जाता है। इसमें आपको अलग अलग जगह जाकर स्वास्थ्य देखभाल करना होता है।

इन 5 करिअर पथ के अलावा और भी बहुत सारे ऐसे जगह है जहां पर GNM course करने के बाद काम करके अपना कैरियर बना सकते है। अब ये आपके ऊपर निर्भर है कि आपको कौन सा करिअर पथ पसंद आता है।

सरकारी नर्स की सैलरी कितनी होती है | Sarkari Nurse Ki Salary Kitni Hoti Hai?

सरकारी नर्स की सैलरी उसके योग्यता, अनुभव और उसके सरकारी संगठन पर निर्भर करती है। एक नये Staff Nurse की औसत सैलरी 25000-30000 हर महीना होता है। अनुभव के साथ साथ सैलरी भी बढ़ती जाती है।

वही एक नये नर्सिंग अधीक्षक की सैलरी हर महीना 50000-70000 रुपये तक होता है। अनुभव होने पर यह सैलरी 100000 से ऊपर तक हो सकती है।

इसके साथ साथ एक नये नर्सिंग अधिकारी की सैलरी उसके पोस्ट के हिसाब से हर महीना 45000- 150000 तक होती है।

सरकारी नर्स को सैलरी के अलावा कई तरह के भत्ता भी मिलता है जैसे महंगाई भत्ता, मकान किराया भत्ता, चिकित्सा भत्ता और भविष्य निधि उनमे से मुख्य है। इस तरह से कह सकते है कि एक सरकारी नर्स की सैलरी बहुत ही अच्छी होती है।

GNM कोर्स करने के बाद आगे अध्ययन के विकल्प?

GNM कोर्स करने के बाद आगे अध्ययन के कई सारे विकल्प है जिसको करके आप अपना एक बढ़िया करियर बना सकते हैं! कुछ महत्तपूर्ण अध्ययन के विकल्प के विकल्प निम्नलिखित है?

  • बीएससी नर्सिंग
  • पोस्ट बेसिक बीएससी नर्सिंग (पीबीएससी नर्सिंग)
  • मास्टर ऑफ नर्सिंग (M.Sc. Nursing)
  • पोस्टग्रेजुएट डिप्लोमा इन नर्सिंग (PGD Nursing)
  • डिप्लोमा इन ओपरेशन थिएटर नर्सिंग (OT Nursing)
  • डिप्लोमा इन पब्लिक हेल्थ नर्सिंग (PH Nursing)
  • नर्सिंग में सर्टिफिकेट कोर्स
  • नर्सिंग में फ्रीलांसिंग

निष्कर्ष:

GNM Course Details in Hindi के इस लेख को पढ़ने के बाद आपको GNM Kya Hota Hai और GNM के अन्य बातों के बारे में अच्छी जानकारी हो गई होगी।

GNM कोई बहुत कठिन कोर्स नही है। यदि आप मेहनत करके GNM का कोर्स कर लेते है तो इससे कितना फायदा हो सकता है इसके बारे में आपको पता चल गया होगा।

GNM के बारे में दी गई इस विस्तार आर्टिकल आपको कैसा लाग हमको कमेंट करके जरूर बताये और इस बेहतरीन पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे।

GNM Kya Hota Hai के बारे में सामान्य प्रश्न?

GNM में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए?

GNM में दो तरह का एग्जाम होता है theory और practical! GNM में पास होने के लिए आपको theory और practical दोनों में 50% मार्क लाना अनिवार्य है तभी आप इसमे पास होंगें।

क्या GNM नर्स डॉक्टर बन सकती है?

नही! एक GNM नर्स डॉक्टर नही बन सकती है। एक डॉक्टर बनने के लिए आपको अलग शैक्षिक पथ और प्रशिक्षण की जरूरत पड़ती है। इसीलिए हम कह सकते है कि एक GNM नर्स डॉक्टर नही बन सकती है?

जीएनएम में कितने सब्जेक्ट होते हैं

जीएनएम एक तीन साल का डिप्लोमा कोर्स है और इसमे कुल 29 से अधिक सब्जेक्ट होते है। पहले साल में आपको 17 सब्जेक्ट की पढ़ाई करनी पड़ती है वही दूसरे साल में भी 4 सब्जेक्ट पढ़ना होता है तथा तीसरे साल 8 सब्जेक्टको पढ़ना होता है।

नर्सिंग में सबसे अच्छा कोर्स कौन सा है?

नर्सिंग में कई सारे ऐसे कोर्स है जो अच्छे होते है। एक्सपर्ट के अनुसार नर्सिंग का सबसे अच्छा कोर्स जनरल नर्सिंग एण्ड मिडवाइफरी (GNM) , बैचलर ऑफ़ नर्सिंग (BScN), पोस्ट बेसिक बैचलर ऑफ़ साइंस इन नर्सिंग (PBBScN) और मास्टर ऑफ़ नर्सिंग (MScN) का है।

नर्स की ड्यूटी कितने घंटे की होती है?

नर्स की ड्यूटी का कोई तय समय नही होता है। भारत मे औसत नर्स की ड्यूटी का समय दिन में 8-12 घंटे का होता है। कई जगहों पर नर्स दिन में 16 घंटे तक कि ड्यूटी करती है। नर्स की ड्यूटी का समय उनके हॉस्पिटल या क्लिनिक के मालिक तय करते है।

GNM नर्स की ट्रेनिंग कितने महीने की होती है?

GNM नर्स का कोर्स ३ साल के लिए होता है! जब आप इसके ३ साल के कोर्स को कर लेते है उसके बाद आपको इसके नर्स की ट्रेंनिंग के लिए ६ महीने देना पड़ता है! इस तरह से हम कह सकते है की नर्स की ट्रेनिंग 6 महीने के लिए होती है!

मेरा नाम सद्दाम हुसैन है और मैं इस ब्लॉग का फाउंडर और कंटेंट राइटर हूँ। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन, सरकारी नौकरी, जॉब, कैरियर, बिजनेस, कोर्सेज और सेलेबस से रिलेटेड हर नई और महत्वपूर्ण लेख को रेगुलर बेसिक पर प्रकाशित करता रहता हूँ।

11 thoughts on “GNM Kya Hota Hai: योग्यता, फीस, सिलेबस, बेस्ट कॉलेज और सैलरी”

    • Rajasthan mein GNM College kaafi jagah par hain. Yah college government aur private dono hain.

      Government GNM Colleges

      Rajasthan College of Nursing, Jaipur
      GNM OR Basak Nursing College, Bharatpur
      Government College of Nursing, Ajmer
      Government College of Nursing, Bikaner
      Government College of Nursing, Jodhpur
      Government College of Nursing, Kota
      Government College of Nursing, Udaipur

      Private GNM Colleges

      Nirwan University, Jaipur
      SMCET Jaipur
      Balaji College of Nursing, Jaipur
      CMR College of Nursing, Jaipur
      Mewar College of Nursing, Udaipur
      Shri Ram College of Nursing, Jaipur
      Shree Balaji College of Nursing, Ajmer
      Yahan kuchh aur Private GNM Colleges hain:

      GNM College, Bharatpur
      GNM College, Bikaner
      GNM College, Jodhpur
      GNM College, Kota
      GNM College, Udaipur

      Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!