MBBS के लिए NEET में कितने मार्क्स चाहिए? जानिए विस्तार से?

इस लेख की रूपरेखा:

भारत मे बहुत से विद्यार्थी ऐसे है। जो MBBS Ke Liye Neet Me Kitne Marks Chahiye ये जानना चाहते है। यदि आप भी यही जानकारी जानना चाहते है तो आप बिल्कुल सही जगह पर आये है।

आज हम इस आर्टिकल में आपको MBBS Ke Liye Neet Me Kitne Marks Chahiye इसके बारे में पूरे विस्तार से बतायेगें। इसके साथ साथ हम आपके साथ और भी कई महत्वपूर्ण जानकारी शेयर करेगें। इस पूरे आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको MBBS के लिए नीट में कितने मार्क्स चाहिए इसके बारे में काफी अच्छी जानकारी हो जायेगी।

NEET क्या होता है? | What is NEET in Hindi

NEET क्या होता है

NEET Ka Full Form National Eligibility cum Entrance Test होता है। यह एक तरह की मेडिकल प्रवेश परीक्षा होती है। यह मेडिकल प्रवेश परीक्षा हर साल NTA  (National Test Agency) के द्वारा करवाया जाता है।

जो विद्यार्थी NEET का एग्जाम पास कर लेते है उनका एडमिसन उनके रैंक के अनुसार  मेडिकल कॉलेज में होता है। NEET का एग्जाम पास करने के बाद आप MBBS, BDS और BAMS जैसे कई मेडिकल कोर्स में एडमिसन ले सकते है।

NEET में कितने सब्जेक्ट होते है?

NEET के प्रवेश परीक्षा में ज्यादातर सवाल बायोलॉजी, रसायन विज्ञान और भौतिक विज्ञान से आते है। इस तरह से कह सकते हैं कि NEET में मुख्य रूप से 3 सब्जेक्ट होते हैं। NEET के एग्जाम में सवालों का लेवल 10वीं और 12वी क्लास तक का होता है। इस तरह से अब आपको एक आईडिया लग गया होगा कि NEET में कितने सब्जेक्ट होते है।

MBBS क्या होता है? | What is MBBS in Hindi

MBBS क्या होता है

MBBS का मतलब Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery होता है। यह एक मेडिकल कोर्स होगा है। आप NEET के एग्जाम को पास करके डायरेक्ट MBBS में एडमिशन ले सकते है। आप MBBS की पढ़ाई पूरा करके एक डॉक्टर बन सकते है।

MBBS एक 5 साल 6 महीना का कोर्स होता है। जिसमे 1 साल की इंटर्नशिप भी शामिल है। MBBS के पाठ्यक्रम को 9 सेमेस्टर में बाटा गया है। हर एक सेमेस्टर 6-6 महीने का होता है। MBBS की पढ़ाई पूरा करने के बाद आपको एक डॉक्टर की पदवी मिलती है।

MBBS के लिए नीट में कितने मार्क्स चाहिए | MBBS Ke Liye Neet Me Kitne Marks Chahiye

MBBS Ke Liye Neet Me Kitne Marks Chahiye

बहुत से विद्यार्थियों के मन मे ये सवाल होता है कि MBBS Ke Liye Neet Me Kitne Marks Chahiye. हम आपको बता दे कि NEET के एग्जाम 720 नंबर के होते है। MBBS के लिए नीट में कितने परसेंट चाहिए इसके बारे में यहाँ नीचे बताने जा रहे हैं!

इसको भी पढ़े-   NEET में कितने मार्क्स चाहिए गवर्नमेंट कॉलेज के लिए?

यदि आप सामान्य वर्ग मतलब की जनरल कैटेगरी में आते है तो इस स्तिथि में आपको MBBS में एडमिशन लेने के लिए NEET के एग्जाम में कम से कम 50% अंक आना चाहिए।

वही यदि आप आरक्षित वर्ग मतलब OBC/ SC/ ST में आते है तो MBBS में एडमिशन लेने के लिए NEET के एग्जाम में आपको कम से कम 40% अंक लाना आवश्यक है।

NEET के एग्जाम में आपका जितना बढ़िया और ज्यादा अंक आता है उतना ही बढ़िया आपको कॉलेज मिलता है। यदि आप एक बढ़िया गवर्नमेंट कॉलेज में प्रवेश लेना चाहते है तो इस स्तिथि में आपको NEET के एग्जाम 720 नंबर में से कम से कम 600 नंबर लाना होगा।

यदि आप MBBS, बीडीएस और बीएससी नर्सिंग जैसे कोर्स के लिए अच्छा सरकारी कॉलेज चाहिए आपको NEET के एग्जाम अच्छा अंक लाना होगा। जितना ज्यादा अंक आपका NEET के एग्जाम में आयेगा उतना ही बढ़िया आपको कॉलेज और कोर्स मिलेगा।

वर्गनीट 2023 कट ऑफ मार्क्सनीट 2023 कट ऑफ प्रतिशत
सामान्य वर्ग360+50%
ओबीसी288+40%
एससी/एसटी288+40%

MBBS कोर्स करने के बाद नौकरी | Job After MBBS Course?

MBBS कोर्स करने के बाद सैलरी

NEET के माध्यम से MBBS करने के बाद आप एक उच्च कोटि के डॉक्टर बन सकते हैं। डॉक्टर के अलावा MBBS कोर्स करने के बाद आपको और भी कई तरह की नौकरी मिल सकती हैं। यहाँ हम आपके साथ MBBS कोर्स करने के बाद कौन कौन सी नौकरी मिल सकती है उसकी लिस्ट को शेयर करने जा रहे हैं।

  • फिजिशियन असिस्टेंट
  • मेडिकल लेक्चरर
  • मेडिकल राइटर
  • चिकित्सा अनुसंधानकर्ता
  • चिकित्सा उपकरण इंजीनियर
  • डॉक्टर
  • जूनियर डॉक्टर
  • रिसर्चर
  • चिकित्सा प्रशासनिक अधिकारी
  • चिकित्सा कानूनी सलाहकार
  • चिकित्सा वैज्ञानिक

MBBS कोर्स करने के बाद सैलरी | Salary After MBBS Course?

MBBS कोर्स करने के बाद मिलने वाली सैलरी आपके जॉब के प्रकार और आपके अनुभव पर निर्भर करता है! यहाँ हम आपके साथ MBBS कोर्स करने के बाद मिलने वाली नौकरी के कुछ औसतन सैलरी के बारे में बताने जा रहे हैं। उम्मीद है ये जानकारी आपके काम आयेगी।

नौकरी का नाम औसतन महीने की सैलरी
जूनियर डॉक्टर₹25000- ₹60000
डॉक्टर₹56000- ₹90000
फिजिकल असिस्टेंट₹25000- ₹57000
रिसर्चर₹25000- ₹75000
मेडिकल लेक्चरर ₹40000- ₹65000
मेडिकल राइटर₹30000- ₹45000

नीट 2023 के लिए कट ऑफ मार्क्स?

वर्गनीट 2023 कट ऑफ परसेंटाइल नीट 2023 कट ऑफ मार्क्स
General/ EWS50        720-137
OBC40         136-107
SC40        136-107
ST40      136-107
General/ EWS- PwD 45             136-121
OBC- PwD40       120-107
SC- PwD40      120-107
ST- PwD40     120-108

MBBS के लिए नीट में कितने परसेंट चाहिए?

एमबीबीएस के लिए नीट में कितने परसेंटेज चाहिए

बहुत से स्टूडेंट ऐसे होते है जो MBBS में एडमिशन के लिए NEET का एग्जाम देते है लेकिन उनको इस चीज़ की जानकारी नही होती है कि आखिर MBBS के लिए नीट में कितने परसेंट चाहिए। यदि आप भी ये चीज़ जानना चाहते है तो आप एकदम सही जगह आये है।

यदि आप सामान्य वर्ग मतलब की जनरल कैटेगरी से आते है तो इस स्तिथि में आपको MBBS के लिए नीट में कम से कम 50% या फिर उससे ज्यादा अंक लाना होगा।

वही यदि आप आरक्षित वर्ग में आते है। तब इस स्तिथी में आपको MBBSके लिए नीट में कम से कम 45% या फिर उससे ज्यादा अंक लाना होगा।

720 में से MBBS के लिए नीट में कितने अंक चाहिए?

यदि आप NEET का एग्जाम दे रहे है तो आपके दिमाक में ये बात जरूर आई होगी कि आखिर 720 में से MBBS के लिए NEET में कितने अंक लाना होगा।

यदि आप 720 मे से 610 या फिर उससे ज्यादा अंक लाते है तब आपको भारत के एक बढ़िया गवर्नमेंट कॉलेज में MBBS के लिए एक सीट मिल सकता है। जितना बढ़िया आपको MBBS के लिए गवर्नमेंट कॉलेज मिलेगा उतना ही बढ़िया तरीके से आप MBBS की पढ़ाई कर सकते हैं।

इसको भी पढ़े-   BAMS के लिए NEET में कितने Marks चाहिए: जानिए विस्तार से?

यदि आप नीट एग्जाम पास करने के बाद एक बढ़िया मेडिकल कॉलेजों में एडमिसन चाहते है तो इस स्तिथी में आपको नीट एग्जाम में 720 अंक में से कम से कम 600 अंक लाना अनिवार्य होगा।

नीट के लिए 10वीं में कितने मार्क्स चाहिए?

यदि आप अभी 10वीं क्लास में पढ़ रहे है और आगे चलकर आप NEET का एग्जाम देने के बारे में सोच रहे है तो आपको पता होना चाहिए कि NEET का एग्जाम देने के लिए आपको 10वीं क्लास में 60% या फिर उससे ज्यादा अंक से पास होना अनिवार्य है।

यदि आप 10वीं में 60% से कम अंक लाते है तो आगे चलकर आपको NEET का एग्जाम देने में दिक्कत हो सकती है। इसलिए यदि आप अभी 10वीं क्लास में है तो इस बात का आपको विशेष ध्यान देना चाहिए।

नीट के लिए 12वीं में कितने मार्क्स चाहिए?

NEET का एग्जाम देने के लिए लिए सबसे पहले आपको 12वीं साइंस स्ट्रीम से पास होना बेहद जरूरी है। यदि आप जनरल कैटेगरी के छात्र है तब आपको NEET करने के लिए 12th क्लास में 50% या फिर उससे अधिक अंक से पास होना जरूरी है। वही यदि आप एससी / एसटी / ओबीसी कैटेगरी में आते है तो इस स्तिथि में आपको 12वीं क्लास 45% या फिर उससे अधिक अंक से पास होना अनिवार्य है।

NEET में कितने नंबर आने पर सरकारी कॉलेज मिलता है?

NEET में कितने नंबर आने पर सरकारी कॉलेज मिलता है

बहुत से विद्यार्थी जो NEET का एग्जाम देते है उनका सपना होता है कि वह NEET के एग्जाम में एक बढ़िया नंबर लाये ताकि उनको आगे की मेडिकल की पढ़ाई के लिए एक बढ़िया सरकारी कॉलेज मिले। बहुत से विद्यार्थियों के मन मे ये सवाल आता है कि NEET में कितने नंबर आने पर सरकारी कॉलेज मिलता है।

यदि आप जनरल कैटेगरी में आते है तो इस स्तिथि में आपको एक बढ़िया सरकारी कॉलेज के लिए NEET के एग्जाम में 720 नंबर में से कम से कम 630 नंबर या फिर उससे अधिक नंबर लाना होगा। 630 नंबर या फिर उससे अधिक अंक लाने के बाद ही आपको बढ़िया सरकारी कॉलेज मिल सकती है।

वही यदि आप OBC/ SC/ ST कैटेगरी में आते है तो इस स्तिथी में आपको NEET के एग्जाम में 720 में से 450 या फिर उससे अधिक अंक लाने पड़ेगा। NEET के एग्जाम जितना ज्यादा अंक आयेगा उतना ही बढ़िया आपको मेडिकल कोर्स करने के लिए सरकारी कॉलेज मिलेगा।

BDS के लिए नीट में कितने मार्क्स चाहिए | BDS Ke Liye NEET Mein Kitne Number Chahiye

यहाँ हम आपके साथ एक टेबल के द्वारा BDS के लिए नीट में कितने मार्क्स चाहिए उसके बारे में बताने जा रहे हैं। उम्मीद है कि यह उच्च कोटि की जानकारी आपके काफी काम आयेगी।

कैटेगरी नीट में मार्क्स
जनरल कैटेगरी 580+ अंक
ओबीसी कैटेगरी 570+ अंक
एससी कैटेगरी 470+ अंक
एसटी कैटेगरी 450+ अंक

BUMS के लिए NEET में कितने अंक चाहिए?

BUMS के लिए NEET में कितने अंक चाहिए

BUMS का मतलब बैचलर ऑफ यूनानी मेडिसिन एंड सर्जरी होता है। BUMS कोर्स में स्टूडेंट को यूनानी चिकित्सा के बारे में पढ़ाया जाता हैं। BUMS कोर्स की अवधि 6 वर्ष होता हैं जिसमे से 1 साल का इंटर्नशिप भी होता हैं।

बहुत से विद्यार्थी ऐसे होते हैं जो NEET के माध्यम से BUMS में एडमिशन लेने चाहते हैं लेकिन उनको इस चीज़ की जानकारी नही होती हैं कि एक बढ़िया मेडिकल कॉलेज में BUMS में एडमिशन लेने के लिए NEET के एग्जाम में कितना नंबर चाहिए होता हैं।

यदि आप भी यही जानना चाहते हैं तो आप सही जगह पर आये हैं। यहाँ हम आपको BUMS के लिए नीट एग्जाम में कितने अंक चाहिए उसके बारे में अच्छे से बताने जा रहें हैं।

जनरल कैटेगरी: यदि आप जनरल कैटेगरी से आतें हैं तो NEET के माध्यम से BUMS कोर्स में एडमिशन लेने के लिए NEET एग्जाम में आपको 720 में से 540 से ज्यादा अंक लाना होगा।

इसको भी पढ़े-   MBBS करने के बाद गवर्नमेंट जॉब: 13 बेस्ट सरकारी नौकरियां?

अन्य पिछड़ी जाति (OBC): यदि आप अन्य पिछड़ी जाति से आतें हैं तो NEET के माध्यम से BUMS कोर्स में एडमिशन लेने के लिए NEET एग्जाम में आपको 720 में से 500 से ज्यादा अंक लाना होगा।

अनुसूचित जाति (SC): यदि आप अनुसूचित जाति से आतें हैं तो NEET के माध्यम से BUMS कोर्स में एडमिशन लेने के लिए NEET एग्जाम में आपको 720 में से 450 से ज्यादा अंक लाना होगा।

अनुसूचित जनजाति (ST): यदि आप अनुसूचित जनजाति से आतें हैं तो NEET के माध्यम से BUMS कोर्स में एडमिशन लेने के लिए NEET एग्जाम में आपको 720 में से 420 से ज्यादा अंक लाना होगा।

BAMS के लिए NEET में कितने अंक चाहिए होगा?

BAMS का मतलब बैचलर ऑफ आयुर्वेद मेडिसिन एंड सर्जरी होता है। यदि आप NEET एग्जाम के माध्यम से BAMS में एडमिशन लेने चाहते है तो उसके लिए आपको NEET एग्जाम में अच्छे अंक लाने पड़ेगा।

यदि आप NEET एग्जाम में 720 अंक में से 550 या फिर उससे ज्यादा अंक ला देते है तो BAMS के लिए आपको एक सरकारी कॉलेज मिल सकता है। वही यदि आप नीट में 180 या फिर उससे ज्यादा अंक लाते है तो आपको BAMS के लिए प्राइवेट कॉलेज मिल सकता है। अब तक आपको एक आईडिया लग गया होगा कि BAMS के लिए NEET में कितने मार्क्स चाहिए होगा।

BHMS के लिए NEET में कितने अंक चाहिए?

BHMS का मतलब बेचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी होता है। आप NEET एग्जाम के माध्यम से BHMS में एडमिशन ले सकते है। यदि आप आप NEET में 180-550 अंक के बीच मे लाते है तो आपका एडमिसन BHMS हो सकता है।

BHMS के लिए आपको प्राइवेट कॉलेज मिलेगा या फिर सरकारी ये आपके NEET एग्जाम के अंक के ऊपर निर्भर करेगा। जितना ज्यादा आपको अंक मिलेगा उतना ही ज्यादा आपको सरकारी कॉलेज मिलने की संभावना होगी।

MBBS करने में कितना पैसा लगता है?

MBBS का मतलब बैचलर ऑफ मेडिसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी होता है। बहुत से विद्यार्थी के मन मे ये सवाल होता है कि MBBS करने में कितना पैसा लगता है। यदि आप भी यही चीज़ जानना चाहते है तो आप सही जगह पर आये है।

हमने आपको पहले ही बताया है कि MBBS इंटरशिप को मिलाकर 5 साल 6 महीने का कोर्स होता है। यदि आप एक सरकारी कॉलेज से MBBS करते है तब आपकी औसत सालाना फीस ₹20000 से लेकर ₹50000 तक हो सकती है।

वही यदि आप MBBS प्राइवेट कॉलेज से करते है तो इस स्तिथी में आपकी औसत सालाना फीस 50,00,00 से लेकर  ₹10,00,000 तक लग सकती है।

निष्कर्ष:-

मुझे पूरी उम्मीद है जी इस पूरे लेख को पढ़ने के बाद आपको MBBS Ke Liye Neet Me Kitne Marks Chahiye इसके बारे में काफी अच्छी जानकारी हो गई होगी। यदि इनके अलावा आपका कोई और सवाल या फिर सुझाव है तो आप कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है। हम आपके उस सवाल या फिर सुझाव का उत्तर जल्द से जल्द देने जी कोशिश करेगें।

MBBS Ke Liye Neet Me Kitne Marks Chahiye के बारे में सामान्य प्रश्न?

MBBS के लिए NEET में कितने अंक चाहिए?

एक अच्छी मेडिकल कॉलेज में प्रवेश के लिए NEET एग्जाम में आपको अच्छे नंबर की जरूरत पड़ती है। हर साल NEET की cut-off marks अलग अलग होती है। यदि आप NEET में 600 या फिर उससे ज्यादा अंक लाते है तो आपका एडमिसन MBBS में एक बढ़िया कॉलेज में हो सकता है।

नीट एग्जाम कितने मार्क्स का होता है?

NEET के पेपर में कुछ 180 सवाल होते है। हर एक सवाल 4 नंबर का होता है। इस तरह से कह सकते है कि NEET का एग्जाम 720 मार्क्स का होता है।

NEET के पेपर में पासिंग मार्क्स क्या है?

यदि आप जनरल केटेगरी से है तब आपके लिए पासिंग मार्क्स 50% हो सकता है। वही एससी/ एसटी और ओबीसी के लिए पासिंग मार्क्स 40% तक हो सकता है।

भारत में MBBS के लिए सरकारी कॉलेज की फीस कितनी है?

भारत में MBBS के लिए  सरकारी कॉलेज की औसत फीस ₹20000 से लेकर ₹50000 तक हो सकती है। प्राइवेट कॉलेज के मुकाबले सरकारी कॉलेज की फीस बहुत कम होती है।

नीट में कितने नंबर आने पर सरकारी कॉलेज मिलता है?

यदि आप ये जानना चाहते है की नीट में कितने नंबर आने पर सरकारी कॉलेज मिलता है तो हम आपको बता दे की यदि आपका नीट एग्जाम में 720 में से 630 से ज्यादा अंक आता है तो आपको एक बढ़िया सरकारी मेडिकल कॉलेज मिल सकता है!

MBBS डॉक्टर की 1 महीने की सैलरी कितनी होती है?

यदि आप नीट के माध्यम से MBBS करके एक डॉक्टर बन जाते है तो आपको औसतन शुरुवाती सैलरी 40,000 से 2 लाख प्रति महीना तक मिल सकती है ! समय के साथ साथ अनुभव होने पर यह सैलरी और अधिक होती जाएगी!

डॉक्टर की पढ़ाई कितने साल की होती है?

डॉक्टर की पढाई आमतौर पर 5 साल 6 महीने का होता है जिसमे एक साल का इंटर्नशिप भी शामिल होता है!

मेरा नाम सद्दाम हुसैन है और मैं इस ब्लॉग का फाउंडर और कंटेंट राइटर हूँ। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन, सरकारी नौकरी, जॉब, कैरियर, बिजनेस, कोर्सेज और सेलेबस से रिलेटेड हर नई और महत्वपूर्ण लेख को रेगुलर बेसिक पर प्रकाशित करता रहता हूँ।

5 thoughts on “MBBS के लिए NEET में कितने मार्क्स चाहिए? जानिए विस्तार से?”

Leave a Comment

error: Content is protected !!