DCA Karne Ke Fayde: डीसीए कोर्स क्या होता है? पूरी जानकारी

भारत मे आज के समय मे हर एक फील्ड में काफी प्रतिस्पर्धा है। आज के समय मे भारत मे करियर बनाना काफी मुश्किल हो गया है। यदि आपको कंप्यूटर जैसे फील्ड में रुचि है तो आप DCA कोर्स करके अपना एक बढ़िया कैरियर बना सकते है।

आज हम इस आर्टिकल में आपको DCA कोर्स क्या होता है, DCA Karne Ke Fayde और DCA कोर्स की फीस कितनी है जैसी और भी महत्वपूर्ण बातों को विस्तार से बतायेगें। इस पूरे आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको DCA कोर्स के बारे मे काफी अच्छी जानकारी हो जायेगी।

DCA कोर्स क्या होता है? | What is DCA in Hindi

DCA कोर्स क्या होता है

DCA का मतलब Diploma in Computer Application होता है। यह एक कंप्यूटर डिप्लोमा कोर्स होता है। यह डिप्लोमा कोर्स उनके लिए सबसे बढ़िया होता है जिनको कंप्यूटर जैसे फील्ड में रुचि होती है और वह अपना करियर कंप्यूटर जैसी फील्ड में बनाना चाहते है।

DCA 1 साल का एक डिप्लोमा कोर्स होता है। इसमे विद्यर्थियों को मुख्य रूप से कंप्यूटर एप्लीकेशन और सॉफ्टवेयर का ज्ञान दिया जाता है।

इस कोर्स को करने के बाद विद्यार्थी वेब डिजाइनिंग, एमएस वर्ड, पावरप्वाइंट, ग्राफिक्स डिजाइन, एमएस वर्ड, पावरप्वाइंट, एमएस एक्सेल और कई सारी चीज़ों में एक्सपर्ट बन जाते है। DCA को पूरा करने के बाद आपको एक प्रमाणित डिग्री भी मिलती है।

DCA करने के प्रमुख फायदे | DCA Karne Ke Fayde

यदि आप DCA का डिप्लोमा कोर्स करने जा रहे है तो आपके दिमाक में ये बात जरूर आई होगी कि DCA Karne Ke Fayde क्या क्या हो सकते है। यहां हम आपके साथ DCA करने के महत्वपूर्ण फायदे को बताने जा रहे है।

  • यदि आप DCA का डिप्लोमा कोर्स कर लेते है उसके बाद आपको कॉलेज, बैंक, सरकारी कार्यालय और प्राइवेट कंपनी जैसे जगहों पर कंप्यूटर ऑपरेटर की जॉब मिल सकती है। यह भी एक गजब का DCA Karne Ke Fayde है।
  • DCA का डिप्लोमा कोर्स करने के बाद आप गवर्नमेंट और प्राइवेट की बड़ी बड़ी कंपनियों में अपने लिए एक अच्छा जॉब पा सकते है।
  • DCA का डिप्लोमा कोर्स करने के बाद आपको कंप्यूटर का अच्छा ज्ञान हो जाता है जिसके वजह से आप इस ज्ञान का उपयोग फ्रीलांस में करके घर बैठे पैसा कमा सकते है।
  • DCA कोर्स करने के बाद आप अपनी खुद की कंप्यूटर की एक शॉप खोलकर कई सारी सुविधाएं अपने ग्राहक को दे सकते है। यह भी एक गजब का DCA Karne Ke Fayde है।
  • DCA कोर्स करने के बाद आप अपनी खुद की कंप्यूटर की एक शॉप खोलकर कई सारी सुविधाएं अपने ग्राहक को दे सकते है।
  • DCA कोर्स करने के बाद आप एक सरकारी नौकरी भी ले सकते है क्योंकि आजकल हर एक सरकारी विभाग में कंप्यूटर और सॉफ्टवेयर का प्रयोग होता है। यह भी एक गजब का DCA Karne Ke Fayde है।
  • DCA कोर्स के आपको इंटरनेट के बारे में पूरे विस्तार से ज्ञान दिया जाता है। आप इंटरनेट का उपयोग करके आप ईमेल, ऑनलाइन संचार, वेब डिजाइनिंग, और ई-कॉमर्स जैसी महत्वपूर्ण कामो को बहुत ही आसानी से कर सकते है।
  • DCA कोर्स में विद्यार्थियों को कंप्यूटर नेटवर्किंग के बारे मे भी पढ़ाया जाता है। आप इस ज्ञान का उपयोग नेटवर्क संरचना, सिक्योरिटी, और नेटवर्क समस्याओं को समझने में कर सकते है।
  • DCA कोर्स करने के बाद आप सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर, और कंप्यूटर समस्याओं को सुलझाने में एक्सपर्ट बन जाते है।
इसको भी पढ़े-   DNYS Course Details: DNYS कोर्स क्या होता है? पूरी जानकारी

यहाँ हमने आपके साथ कुछ महत्वपूर्ण DCA Karne Ke Fayde के बारे मे बताया है। इनके अलावा और भी बहुत से फायदे है DCA के। मुझे पूरी उम्मीद है कि ये जानकारी आपके लिए उपयोगी होगी।

DCA कोर्स करने के लिए योग्यता | DCA Course Eligibility?

जब आप किसी कॉलेज में DCA कोर्स करने जाते है तो कई सारी योग्यता की जरूरत पड़ती है। यहाँ हम आपके साथ DCA कोर्स के लिए योग्यता क्या क्या होनी चाहिए उसके बारे में शेयर करने जा रहे है।

  • भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं पास होना जरूरी है। इसके साथ साथ आपकी 12वीं में 50% से अधिक अंक आने चाहिए
  • DCA कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको कंप्यूटर की बेसिक जानकारी होनी चाहिए।
  • यदि आप DCA कोर्स दूसरे देश से करना चाहते तो इस स्तिथि में आपको IELTS या TOEFL का टेस्ट स्कोर देना पड़ता है।
  • DCA कोर्स में एडमिशन लेने के लिए उम्र की कोई सीमा नही है। आप किसी भी उम्र में इसमे एडमिसन ले सकते है।

DCA कंप्यूटर कोर्स कितने साल का होता है?

DCA कंप्यूटर कोर्स आमतौर पर 1 साल का होता है। इन 1 सालो में विद्यर्थियों को 2 सेमेस्टर की पढ़ाई करवाई जाती है। DCA कंप्यूटर कोर्स में मुख्य रूप से कंप्यूटर एप्लीकेशन, सॉफ्टवेयर और कंप्यूटर नेटवर्किंग का बेसिक ज्ञान दिया जाता है।

इस कोर्स को करने के बाद स्टूडेंट माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस, इंटरनेट ब्राउज़िंग, डेटाबेस प्रबंधन, प्रोग्रामिंग और वेब डिजाइनिंग में एक्सपर्ट बन जाते है। आप इन सभी चीज़ों का उपयोग ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों जगहों पर कर सकते है।

DCA कोर्स की फीस कितनी होती है | DCA Course Fees

भारत मे DCA कोर्स की फीस अलग अलग कॉलेजो में अलग अलग होती है। अगर बात करें एक औसत DCA कोर्स के फीस की तो वह 5,000 से 15,000 रुपये सालाना तक हो सकता है।

इस फीस के अलावा स्टूडेंट के और भी खर्चे होते है। जैसे छात्रों के किताबें, प्रयोगशाला शुल्क, रूम रेंट और खाने के खर्चे मुख्य है। हमने आपको ऊपर बताया है कि DCA 1 साल का कोर्स होता है और इसमे 2 सेमेस्टर में पढ़ाई होती है।

यदि आप DCA कोर्स की फीस के बारे में एकदम सटीक जानकारी चाहते है तो आप जिस कॉलेज में एडमिशन लेने जा रहे है उसके ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर उनके संपर्क करके जानकारी ले सकते है।

DCA कोर्स का पाठ्यक्रम | DCA Syllabus in Hindi

हमने आपको पहले ही बताया है कि DCA 1 साल का डिप्लोमा कोर्स होता है। इन 1 साल में 6-6 महीने के 2 सेमेस्टर होते है। यहां हम आपके साथ DCA Syllabus in Hindi को सेमेस्टर के क्रम में शेयर करने जा रहे है।

सेमेस्टर 1

  • कंप्यूटर और विंडोज की बुनियादी बातों ( Fundamentals of Computer and Windows )
  • विंडोज, सेटिंग और एक्सेसरीज का परिचय ( Introduction to Windows, Setting & Accessories )
  • टेक्स फॉर्मेटिंग ( Text Formatting )
  • एकाधिक दस्तावेज़ों को कैसे प्रबंधित करें ( How to handle multiple documents )
  • दस्तावेज़ खोलना और बंद करना ( Opening & Closing Documents )
  • डेटा प्रोसेसिंग में सूचना या डेटा अवधारणाओं का प्रतिनिधित्व ( Representation of Information or Data Concepts in Data Processing )
  • विशेष लक्षण ( Special features )
  • मेल मर्ज करें (Mail Merge)
  • बुनियादी नेटवर्किंग अवधारणाएँ (Basic Networking Concepts)
  • मल्टीमीडिया ( Multimedia )
इसको भी पढ़े-   BHM Course Details in Hindi: BHM क्या होता है? पूरी जानकारी

सेमेस्टर 2

  • शीट्स का हेरफेर (Manipulation of Sheets)
  • कंप्यूटर संचार (Computer Communication)
  • स्प्रेडशीट का परिचय (Introduction to Spreadsheets)
  • इंटरनेट और इसका उपयोग (Internet & its Usage)
  • प्रमुख सूत्र और कार्य (Major Formulas & Functions)
  • कोशिकाओं का हेरफेर (Manipulation of Cells)
  • डेटाबेस प्रबंधन प्रणाली (Database Management System)
  • कंप्यूटर संचार और इंटरनेट (Computer Communication & Internet)
  • प्रबंधन सूचना प्रणाली (Management Information System)
  • दस्तावेज़ प्रबंधन (Document Handling)
  • वित्तीय लेखांकन (Financial Accounting)
  • डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू और वेब ब्राउज़र (WWW & Web Browsers)
  • प्रोग्रामिंग के सिद्धांत (Principles of Programming)

DCA कोर्स के लिए बेस्ट यूनिवर्सिटी | Best University For DCA Course

भारत मे कई सारे यूनिवर्सिटी है जहाँ पर DCA का कोर्स बढ़िया तरीके से करवाया जाता है। यदि आप DCA कोर्स के लिए एक बढ़िया यूनिवर्सिटी खोज रहे है तो आपकी खोज यहाँ खत्म होती है। यहाँ हम आपके साथ DCA कोर्स के लिए भारत की बेस्ट यूनिवर्सिटी को शेयर करने जा रहा हूँ।

  • राष्ट्रीय प्रबंधन संस्थान मुंबई, महाराष्ट्र
  • माधव विश्वविद्यालय सिरोही, राजस्थान
  • अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय
  • रवींद्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय भोपाल, मध्य प्रदेश
  • एनेक्स कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट कोलकाता, पश्चिम बंगाल
  • मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज चेन्नई, तमिलनाडु
  • मुंबई विश्वविद्यालय मुंबई, महाराष्ट्र
  • डीएवी कॉलेज जालंधर, पंजाब
  • कलिंगा इंस्टीट्यूट ऑफ इंडस्ट्रियल टेक्नोलॉजी
  • होली क्रॉस कॉलेज तिरुचिरापल्ली, तमिलनाडु
  • जमाल मोहम्मद कॉलेज तिरुचिरापल्ली, तमिलनाडु
  • प्रोविडेंस कॉलेज कालीकट, केरल

DCA के बाद कौन सा कोर्स करें? | Which Course To Do After DCA

यदि आप DCA का कोर्स पूरा कर लेते है तो उसके बाद आपके दिमाक में ये सवाल जरूर आयेगा की DCA के बाद कौन सा कोर्स करें। यहाँ हम आपके साथ DCA के बाद करने वाले कुछ कोर्स के विकल्प को शेयर कर रहे है। उम्मीद है ये जानकारी आपको पसंद आयेगी।

एडवांस डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन (ADCA): इस कोर्स में आपको कंप्यूटर एप्लीकेशन के बारे मे काफी एडवांस चीज़े सिखायी जाती है। इस कोर्स के मुख्य विषय डेटाबेस मैनेजमेंट, वेब डेवलपमेंट, विज़ुअल बेसिक और ऑपरेटिंग सिस्टम है। DCA के बाद आप इस कोर्स को करके अपना एक बढ़िया करियर बना सकते है।

डिप्लोमा इन वेब डिजाइनिंग (DWD): यदि आपको वेब डिजाइनिंग में रुचि है तो आप DCA के बाद इस कोर्स को भी कर सकते है। इस कोर्स में मुख्य रूप से वेबसाइट डिजाइनिंग, HTML, CSS, JavaScript, ग्राफिक डिजाइनिंग और वेब डेवलपमेंट के बारे में काफी गहराई से सिखाया जाता है।

डिप्लोमा इन कंप्यूटर नेटवर्किंग (DCN): DCA के बाद इस डिप्लोमा कोर्स को करके आप कंप्यूटर नेटवर्किंग की फील्ड में अपना करियर बना सकते है। यह भी एक बहुत ही बढ़िया कोर्स है जिसको आप DCA के बाद कर सकते है।

डिप्लोमा इन सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग (DSE): यदि आप सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट और प्रोग्रामिंग के फील्ड में अपना करियर बनाना चाहते है तो यह कोर्स आपके लिए एक बढ़िया विकल्प हो सकता है। DSE में मुख्य रूप से प्रोग्रामिंग भाषाओं, डेटाबेस, सॉफ्टवेयर टेस्टिंग, परियोजना प्रबंधन और सॉफ्टवेयर विकास के बारे मे सिखाया जाता है।

यहाँ हमने आपके साथ DCA के बाद कौन सा कोर्स करें उसके बारे में कुछ ही विकल्प को शेयर किया है। इनके अलावा और भी बहुत से कोर्स है जिनको आप DCA के बाद कर सकते है। आप अपनी रुचि और करियर लक्ष्य के अनुसार इनमे से किसी का चुनाव कर सकते है।

इसको भी पढ़े-   CFA Course Details in Hindi: CFA क्या होता है? पूरी जानकारी

DCA करने के बाद कौन सी जॉब मिलती है?

DCA (डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन) कोर्स करने के बाद आपको कई सारे फील्ड में अच्छे अच्छे रोजगार के अवसर मिलते है। यहाँ हम आपके साथ कुछ प्रसिद्ध जॉब प्रोफ़ाइल को शेयर कर रहे है। आप DCA के बाद इन पदों पर रोजगार पा सकते है।

  • कंप्यूटर ऑपरेटर
  • सॉफ्टवेयर टेस्टर
  • वेब डेवलपर
  • सॉफ्टवेयर डेवलपर
  • डेटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर
  • डेटा एन्ट्री ऑपरेटर
  • ग्राफिक डिजाइनर
  • नेटवर्क एडमिनिस्ट्रेटर
  • आईटी सपोर्ट एनालिस्ट
  • मोबाइल एप्लिकेशन डेवलपर
  • वीडियो गेम डेवलपर
  • सोशल मीडिया मैनेजर
  • इंटरनेट मार्केटिंग स्पेशलिस्ट
  • डेटा एनालिस्ट
  • सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर
  • ई-कॉमर्स स्पेशलिस्ट
  • कंप्यूटर ग्राफिक्स स्पेशलिस्ट
  • टेक्निकल सपोर्ट इंजीनियर

क्या DCA एक अच्छा कोर्स है?

हाँ! DCA (डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन) एक अच्छा कोर्स है। यह कोर्स आपको कंप्यूटर और सॉफ्टवेयर के बारे में काफी अच्छा ज्ञान देता है। आप इन ज्ञान की मदद से घर बैठे फ्रीलांस की मदद से बहुत ज्यादा पैसे कमा सकते है।

DCA (डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन) में मुख्य रूप से कंप्यूटर नेटवर्किंग, वेब डेवलपमेंट और सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट के बारे में काफी अच्छे से सिखाया जाता है। इन सभी स्किल का डिमांड अभी इंडिया में बहुत ज्यादा है।

इसलिए कह सकते है DCA की मदद से आप इन सभी स्किल को सीखकर अपना एक बढ़िया करियर बनाकर काफी अच्छा पैसा कमा सकते है।

निष्कर्ष:

यह पूरा आर्टिकल पढ़ने के बाद आपको एक आईडिया लग गया होगा कि DCA काफी अच्छा कोर्स है। इस पोस्ट में हमने आपको DCA कोर्स क्या होता है और DCA Karne Ke Fayde कौन कौन से है के बारे में पूरे विस्तार से बताया है।

यदि आपका अब भी DCA को लेकर कुछ और चीज़ जानना चाहते है तो कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है। हम आपके सवाल का जबाब जल्द से जल्द देने की कोशिश करेगें।

DCA Karne Ke Fayde के बारे में सामान्य प्रश्न?

क्या मैं 6 महीने में DCA कर सकता हूं?

हाँ, आप 6 महीने में DCA कोर्स पूरा कर सकते हैं। भारत के कई सारे कॉलेज में DCA का पूरा कोर्स 6 महीने में ही खत्म करवा दिया जाता है।

DCA की फीस कितनी होती है?

DCA (डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन) की फीस हर एक कॉलेज में अलग अलग होती है। अगर बात करे DCA की एक औसत फीस की तो वह 5,000 से 15,000 रुपये के बीच मे हो सकती है।

DCA कोर्स में क्या क्या पढ़ाया जाता है?

DCA में मुख्य रूप से कंप्यूटर अपरेटिंग सिस्टम, ऑफिस अनुप्रयोग, प्रोग्रामिंग, इंटरनेट जैसी चीज़ों के बारे में पढ़ाया जाता है।

DCA करने के बाद कौन सी जॉब मिलती है?

DCA का कोर्स पूरा करने के बाद आपको कंप्यूटर ऑपरेटर, डेटा एंट्री ऑपरेटर, ऑफिस असिस्टेंट, डेटाबेस ऑपरेटर और कंप्यूटर टीचर के रूप में जॉब मिल सकती है।

मेरा नाम सद्दाम हुसैन है और मैं इस ब्लॉग का फाउंडर और कंटेंट राइटर हूँ। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन, सरकारी नौकरी, जॉब, कैरियर, बिजनेस, कोर्सेज और सेलेबस से रिलेटेड हर नई और महत्वपूर्ण लेख को रेगुलर बेसिक पर प्रकाशित करता रहता हूँ।

1 thought on “DCA Karne Ke Fayde: डीसीए कोर्स क्या होता है? पूरी जानकारी”

  1. My spouse and I stumbled over here different web page and thought I might check things
    out. I like what I see so i am just following you.
    Look forward to checking out your web page
    repeatedly.

    Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!