10वीं के बाद कॉमर्स लेने के फायदे: जानिए विस्तार से?

इस लेख की रूपरेखा:

भारत मे अधिकतम स्टूडेंट 10वीं पास करने के बाद इस बात को लेकर कंफ्यूज रहते है कि अब हमको आगे की पढ़ाई के लिए कौन सा विषय का चुनाव करना चाहिए।

10वीं पास करने के बाद स्टूडेंट के पास आगे की पढ़ाई के लिए मुख्य रूप से Arts, Commerce और Science का ऑप्शन होता है।

यदि आप इन तीनो में से अपनी आगे की पढ़ाई के लिए यदि कॉमर्स का चुनाव करते है तो ये आपको कई तरह के फायदे का सौदा हो सकते है। इस पोस्ट में हम आपके साथ 10th ke baad commerce lene ke fayde और कई महत्वपूर्ण बातों को विस्तार से शेयर करेगें।

10वीं के बाद कॉमर्स लेते समय इन बातों को खाश ध्यान रखे?

जब आप इंडिया में 10वीं पास करने के बाद आगे की पढ़ाई के लिए commerce Stream का चुनाव करने की सोचते है तो आपको कई सारी बातों को ध्यान में रखना होता है। यहां पर हम कुछ महत्वपूर्ण बातों को शेयर कर रहा हु। आप commerce Stream लेने से पहले इन बातों का जरूर ध्यान में रखना।

  • Commerce stream में आपको कैरियर के अवसरों की विस्तृत श्रृंखला मिलती है। 10वीं के बाद Commerce stream से पढ़ाई करके आप वित्त, बैंकिंग और व्यवसाय प्रबंधन जैसी फील्ड में अपना एक उज्ज्वल कैरियर बना सकते है। इसलिए कह सकते है कि भारत मे कॉमर्स का स्कोप बहुत अच्छा है।
  • 10वीं के बाद Commerce की पढाई एक अच्छे board से करना बहुत जरूरी है। आप अपने भविष्य की योजनाएं के अनुसार सीबीएसई, आईसीएसई और राज्य बोर्ड में से किसी एक का चुनाव कर सकते है।
  • Commerce stream में आपको विषयों का सही combination को चुनना बहुत जरूरी है। Commerce stream में विभिन्न विषय होते है। इसलिए आपको अपने रुचि और भविष्य के लक्ष्य के अनुसार सही विषयो के combination का चुनाव करना चाहिए!
  • भारत मे कई सारे कॉलेज है जो commerce stream की पढ़ाई करवाते है। आपको अपने लिए सबसे बेस्ट कॉलेज का चुनाव करना भी जरूरी है। आप बढ़िया कॉलेज का चुनाव उसके सुविधाएं, प्लेसमेंट, और प्रतिष्ठा को देखकर कर सकते है।
  • 10वीं के बाद किसी भी कॉलेज में कॉमर्स की पढ़ाई करने के लिए एडमिसन कराने से पहले आपको उस कॉलेज की fee structure को जरूर चेक कर लेना चाहिए। आपको अपने बजट के अनुसार ही किसी कॉलेज में एडमिसन लेना चाहिए
  • आप कॉमर्स की पढ़ाई के लिए ऐसे कॉलेज में भी एडमिसन ले सकते है जो आपको छात्रवृत्ति का विकल्प देता हो। ऐसे कॉलेज में एडमिसन लेकर आप अपने वित्तीय बोझ को कम कर सकते है।
  • आपको हमेशा कॉमर्स फील्ड के latest trends और developments से updated रहना चाहिए। ये भी एक बहुत जरूरी पॉइंट है।

10वीं के बाद कॉमर्स चुनते समय ऊपर की बातों का खाश ध्यान रखे। इन बातों को ध्यान में रखकर ही आप आगे का कदम उठाये। कभी इन बातों को इग्नोर करने की कोशिश ना करे नही तो आने वाले समय मे इनकी वजह से आपको कई सारे नुकसान हो सकता है।

10th Ke Baad Commerce Lene Ke Fayde | 10वीं के बाद कॉमर्स लेने के फायदे

10th Ke Baad Commerce Lene Ke Fayde को जाने

भारत मे 10th Ke Baad Commerce Lene Ke Fayde बहुत सारे है। इनके कुछ महत्वपूर्ण फायदे को हम आपके साथ यहां पर शेयर करने जा रहे है। उम्मीद है कि आपको ये जानकारी पसंद आयेगी।

  • 10th Ke Baad Commerce Lene Ke Fayde के बाद आप अपना कैरियर कई महत्वपूर्ण फील्ड में बना सकते है। जैसे accounting, finance, banking, taxation और business management उनमे से मुख्य है।
  • भारत मे कॉमर्स स्नातक के विद्यार्थी की मांग बहुत ज्यादा है। भारत के कई बड़े बड़े इंडस्ट्रीज में वाणिज्य स्नातक के विद्यार्थी को लोग जॉब पर रख रहे है।
  • जो विद्यार्थी 10वीं के बाद कॉमर्ससे अपनी आगे की पढ़ाई करता है उनको कई तरह की अच्छी अच्छी जॉब मिलती है। इसके साथ साथ उनके जॉब की सैलरी भी बहुत ही अच्छी होती है। जॉब में अनुभव और विशेषज्ञता होने पर सैलरी और अधिक हो जाती है। ये भी एक कमाल का 10th Ke Baad Commerce Lene Ke Fayde है!
  • वाणिज्य नौकरियां का भारत मे अधिक डिमांड के कारण इनकी नौकरी में अधिक स्थिरता होती है। 10वीं के बाद कॉमर्स से पढ़ाई करने का ये भी एक अच्छा फायदा है।
  • जो विद्यार्थी कॉमर्स से पढ़ाई करता है उनके अंदर एक analytical skills और निर्णय लेने का कौशल जैसी बेहतरीन skills विकसित होती है।
  • जो विद्यार्थी कॉमर्स से पढ़ाई करता है उनके अंदर communication skills भी विकसित होती है। आज के इस व्यापार जगत की दुनिया मे किसी के अंदर communication skills का होना बहुत जरूरी है।
  • कॉमर्स से पढ़ाई करने वाले स्टूडेंट के अंदर नेतृत्व कौशल भी विकसित होता है। यदि आपके अंदर नेतृत्व कौशल होता है तो आप कोई नया business शुरू करके उसको बहुत आगे तक ले जा सकते है।
  • Commerce stream एक Flexibility का विषय होता है। इनमे आप बहुत ही Flexibal तरीके से अपना विषयों, विशेषज्ञता, और कैरियर पथ को चुन सकते है।
  • science के मुकाबले Commerce stream बहुत ही आसान होता है। इनके विषयो में पढ़ाये जाने वाले पाठ को बहुत ही आसानी से समझ सकते है। इसलिए कह सकते है कि कॉमर्स एक समझने में आसान वाली stream है। ये भी एक बढ़िया और कमाल का 10th Ke Baad Commerce Lene Ke Fayde है!
  • 10वीं के बाद जितने भी वाणिज्य पाठ्यक्रम होते है वह बहुत ही कम अवधि के होते है। दूसरे streams के मुकाबले आप इनके पाठ्यक्रम को बहुत ही जल्दी खत्म कर सकते है।
  • कॉमर्स की पढ़ाई का मुख्य ध्यान व्यावहारिक अनुप्रयोगों पर होता है। Commerce की पढ़ाई से मिलना वाले ज्ञान को आप आम जिंदगी में भी उपयोग कर सकते है।
  • कॉमर्स की पढ़ाई आपके अंदर वित्तीय साक्षरता को विकसित करती है। जो व्यक्तिगत वित्तीय प्रबंधन के लिए बहुत ही जरूरी है।
  • कॉमर्स की पढ़ाई आपके अंदर teamwork के skills को भी विकसित करती है। आज के समय मे कोई भी business बिना टीम work के सफल नही हो सकता है।
  • यदि आप Commerce stream से पढ़ाई करते है तो ये आपके अंदर समय प्रबंधन के कौशल को विकसित करती है। आज के समय मे समय प्रबंधन का skills आपके अंदर रहना बहुत जरूरी है।
  • Commerce stream आपके अंदर रोजगार क्षमता को बढ़ाता है। यदि आपके अंदर रोजगार क्षमता होगा तो आप बहुत ही आसानी से अपने लिए नौकरी के अवसर को खोज सकते है।
  • कॉमर्स से पढ़ाई करके आप अपने लिए विदेशो में भी जॉब खोज सकते है। आप इसकी मदद से वित्त और लेखा की जॉब दूसरे देश मे भी कर सकते है।
इसको भी पढ़े-   BCA के बाद कौनसा कोर्स करें: 7 बेहतरीन और उच्च कोटि के कोर्स

ऊपर हमने आपको विस्तार से 10th ke baad commerce lene ke fayde को बताया है। इनके अलावा कॉमर्स पढ़ने के फायदे और भी कई सारे होते है। इनको पढ़कर आपको इस चीज़ की जानकारी हो गई होगी कि आपको 10वीं के बाद कॉमर्स क्यो लेना चाहिए।

कॉमर्स में कौन कौन सी नौकरी मिल सकती है?

कॉमर्स में कौन कौन सी नौकरी मिल सकती है

जब विद्यार्थी कॉमर्स के माध्यम से अपनी पढ़ाई करता है तो उसके मन मे ये सवाल जरूर आता होगा कि कॉमर्स लेकर पढ़ाई करने पर हमको कौन कौन सी नौकरी मिल सकती है?

भारत मे कॉमर्स के द्वारा पढ़ाई करने पर कई तरह की नौकरी मिल सकती है। क्योकि कॉमर्स स्ट्रीम स्टूडेंट को नौकरी के व्यापक अवसर प्रदान करता है।

यहां पर हम आपके साथ कॉमर्स स्ट्रीम से पढ़ाई करने पर मिलने वाले नौकरी की एक लिस्ट को शेयर कर रहे है। इनको पढ़ने के बाद आपको आईडिया लग जायेगा कि कॉमर्स स्ट्रीम से पढ़ाई करने पर कौन कौन सी नौकरी मिल सकती है।

  • Accountant
  • Chartered Accountant
  • Financial Planner
  • Loan Officer
  • Stockbroker
  • Treasury Manager
  • Financial Analys
  • Investment Banker
  • Auditor
  • Tax Consultant
  • Management Accountant
  • Payroll Manager
  • Purchasing Manager
  • Business Analyst
  • Budget Analyst
  • Credit Analyst
  • Insurance Underwriter
  • Cost Accountant
  • Compliance Officer
  • Risk Manager

ऊपर की लिस्ट से आपको आईडिया लग गया होगा कि कॉमर्स स्ट्रीम से पढ़ाई करने पर कितनी अलग अलग और अच्छी अच्छी नौकरी आपको मिल सकती है। इसलिए आप 10वीं के बाद कॉमर्स स्ट्रीम से पढ़ाई करके अपना एक बेहतरीन कैरियर बनाकर अपने सपने को साकार कर सकते है।

क्या कॉमर्स लेना एक अच्छा करियर है?

क्या कॉमर्स लेना एक अच्छा करियर है

बहुत से विद्यार्थी के दिमाक में ये बात चलती है कि क्या कॉमर्स लेना एक अच्छा करियर ऑप्शन है! यदि आप भी यही सोचते है तो हम आपको बता दे कि यदि आपकी रुचि व्यापार, वित्त, लेखा और अर्थशास्त्र में है तो कॉमर्स आपके लिए एक बेहतरीन करियर विकल्प हो सकता है।

कॉमर्स से पढ़ाई करने वाले स्टूडेंट का भारत मे बहुत ही ज्यादा डिमांड है। भारत मे बहुत से कंपनियां है जो कॉमर्स से पढ़ाई करने वाले स्टूडेंट को अच्छे अच्छे जॉब देते है।

कॉमर्स का भारत मे डिमांड ज्यादा इसलिए भी है क्योंकि इसकी पढ़ाई में आपको सैद्धांतिक और व्यावहारिक दोनों तरह के ज्ञान स्टूडेंट को मिलते है। कॉमर्स की पढ़ाई करने वाले स्टूडेंट को जो जॉब मिलती है उसकी सैलरी भी बहुत अधिक होती है।

जो विद्यार्थी कॉमर्स लेकर पढ़ाई करता है। उनके अंदर analytical, communication, और leadership जैसी skills विकसित होती है। यह सब skills एक विद्यार्थी को सफल बनाने में बहुत काम करती है।

इस तरह से हम कह सकते है कि व्यवसाय से संबंधित क्षेत्रों में रुचि रखने वालों स्टूडेंट के लिए कॉमर्स एक अच्छा करियर विकल्प है।

कॉमर्स के लिए कौन सा बोर्ड बेहतर है?

भारत मे 10वीं के बाद कई सारे बोर्ड है जो स्टूडेंट को वाणिज्य शिक्षा की पढ़ाई करवाते है। यदि आप कॉमर्स के माध्यम से आगे की पढ़ाई करने चाहते है तो आपको एक सही बोर्ड का चयन करना बहुत जरूरी है।

भारत मे पढ़ाई के मामले में मुख्य रूप से तीन बोर्ड आते है जिनका नाम सीबीएसई, आईएससी और राज्य बोर्ड है। इन तीनो बोर्ड के अपने अपने फायदे और नुकसान है।

कॉमर्स विद्यार्थी के लिए CBSE और ISC को भारत का सबसे लोकप्रिय और मान्यता प्राप्त बोर्ड माना जाता है। यह दोनों बोर्ड विद्यार्थी को व्यापक और समग्र शिक्षा प्रधान करते है। इन दोनों बोर्ड का focus व्यावहारिक कौशल, समस्या सुलझाने की क्षमता और महत्वपूर्ण सोच पर सबसे ज्यादा होता है।

इसको भी पढ़े-   बीटीसी करने के फायदे: बीटीसी क्या होता है, योग्यता और फीस?

वही भारत की हर एक राज्य की अपनी खुद की स्टेट बोर्ड भी स्टूडेंट को वाणिज्य शिक्षा से पढ़ाई करने का अवसर देती है। State Boards में कॉमर्स का पाठ्यक्रम और शिक्षण विधियों हर एक राज्य की अलग अलग होती है। CBSE और ISC के मुकाबले State Boards के पढ़ाई का स्तर थोड़ा कम होता है।

विद्यार्थी अपने कैरियर के लक्ष्यों के अनुसार इन तीनो बोर्ड में से किसी एक चुनाव कर सकते है। किसी भी बोर्ड का चुनाव करते समय उसके शक्तियां और कमजोरियां की अच्छे से research जरूर कर ले। अच्छे से research करने के बाद ही आप आगे का फ़ैसला ले।

क्या 10वीं के बाद कॉमर्स में कोई डिप्लोमा है?

इंडिया में 10वीं पास करने के बाद कई डिप्लोमा पाठ्यक्रम की पढ़ाई आप कर सकते है। यह डिप्लोमा पाठ्यक्रम विद्यार्थी को विशेष ज्ञान और कौशल प्रदान करते है।

यहां पर हम आपके साथ कुछ कॉमर्स में लोकप्रिय डिप्लोमा पाठ्यक्रम को शेयर कर रहे है। इन पाठ्यक्रम को आप 10वीं के बाद कॉमर्स में कर सकते है।

  • Diploma in Business Management
  • Diploma in Financial Accounting
  • Diploma in Taxation
  • Diploma in Banking
  • Diploma in Insurance

यह सभी डिप्लोमा कोर्स को विश्वविद्यालयों, कॉलेजों, और व्यावसायिक प्रशिक्षण केंद्र पर कराया जाता है। 10वीं पास करने के बाद आप इन डिप्लोमा कोर्स को कर सकते है।

कॉमर्स के डिप्लोमा कोर्स 1-2 साल के होते है। इन डिप्लोमा कोर्स में महत्वपूर्ण सोच, समस्या को सुलझाने, संचार, और नेतृत्व के बारे में अच्छी तरह से पढ़ाया जाता है।

10वीं के बाद जब कोई विद्यार्थी commerce में डिप्लोमा कोर्स कर लेता है फिर उसके बाद उसकी आगे की पढाई के लिए एक मज़बूत नींव तैयार हो जाता है। इस तरह से आप 10वीं के बाद कॉमर्स में डिप्लोमा कोर्स करके अपनी पढ़ाई की नींव को और मजबूत कर सकते है।

कॉमर्स में सबसे ज्यादा वेतन वाली नौकरी कौन सी है?

यदि आप कॉमर्स से पढ़ाई कर रहे होगें तो आपके दिमाक में ये सवाल जरूर आता होगा कि आखिर कॉमर्स में सबसे ज्यादा वेतन वाली नौकरियाँ कौन कौन सी है। यहाँ हम आपके साथ कॉमर्स में सबसे ज्यादा वेतन वाली नौकरियों की पूरी लिस्ट को शेयर कर रहे है। उम्मीद है आपको ये जानकारी पसंद आयेगी।

  • ह्यूमन रिसोर्स मैनेजर
  • रिटेल मैनेजर
  • कॉस्ट अकाउंटेंट
  • इन्वेस्टमेंट बैंकर
  • रीसर्च एक्जेक्युटिव
  • चीफ एक्जीक्यूटिव ऑफिसर
  • चार्टर्ड फाइनेंशियल एनालिस्ट
  • सर्टिफाइड पब्लिक एकाउंटेंट
  • एक्टुअरी कम्पनी
  • सेक्रेटरी
  • पर्सनल फाइनेंस एडवाइजर
  • चार्टर्ड एकाउंटेंट
  • बिज़नेस अकाउंटेंट एंड टैक्सेशन
  • मार्केटिंग मैनेजर

मैं कॉमर्स में टॉप कैसे कर सकता हूं?

कॉमर्स में टॉप करने के लिए आपको लगातार कड़ी मेहनत, समर्पण और पढ़ाई में व्यवस्थित दृष्टिकोण रखना होगा। यहां पर हम आपके साथ कुछ पॉइंट को शेयर करने जा रहे है उन पॉइंट को ध्यान में रखकर आप कॉमर्स में टॉप कर सकते है।

  • आपको कॉमर्स में टॉप करने के लिए एक गोल सेट करना होगा। और आपको अपने गोल तक पहुचने के लिए एक बेहतरीन योजना बनाना होगा।
  • कॉमर्स में टॉप करने के लिए आपको अपने बुनियादी बातों पर ध्यान देना होगा। हर एक विषय के बुनियादी बातों पर ध्यान देकर आपको एक मजबूत नींव तैयार करना होगा।
  • अपने अध्ययन, कार्य, और पाठ्येतर गतिविधियों के लिए एक Time Management प्लान तैयार करना होगा। आपको रोज का अपना हर एक काम अपने Time Management के अनुसार करना होगा।
  • अपनी प्रगति का आकलन करने के लिए हर रोज अभ्यास करना होगा। इसके साथ साथ आपको रोज सैंपल पेपर, और मॉक टेस्ट को भी हल करना होगा।
  • नवीनतम रुझान और परिवर्तन को समझने के लिए आपको हर रोज व्यापार पत्रिकाओं, समाचार पत्रों और ब्लॉगों को पढ़ते रहना चाहिए।
  • आपको हमेशा समूह चर्चा में भाग लेना चाहिए और अपने साथियों के साथ doubts clarify करते रहना चाहिए। ये चीज़ आपके स्टडी में बहुत मदद करती है।
  • हमेशा अपने शिक्षक, संरक्षक और विषय विशेषज्ञ से मार्गदर्शन लें। उनसे अपने doubts clarify करें।
  • हमेशा सकारात्मक और हमेशा अपने पढ़ाई में एक सकारात्मक रवैया रखे। इसके साथ साथ हमेशा अपने आप पर यकीन रखो।

ऊपर बताये गए चीज़ों को फॉलो करके आप कॉमर्स में अच्छा नंबर लाने के साथ साथ आप इसमे टॉप भी कर सकते है। मैं उम्मीद करता हूँ। कि आप इन पॉइंट को अपने पढ़ाई में शामिल करके आने वाले समय मे कॉमर्स में जरूर टॉप करेगें।

कॉमर्स का स्टूडेंट 12 के बाद क्या कर सकता है?

जब कोई विद्यार्थी 12वीं कॉमर्स से पास कर लेता है तो उसको इस बात की टेंशन बनी रहती है कि आखिर अब हम किस चीज़ की पढ़ाई करे ताकि आगे चलकर हमारा एक अच्छा कैरियर बन सके।

12वीं कॉमर्स से पढ़ने के बाद स्टूडेंट के पास उच्च अध्ययन के लिए विभिन्न प्रकार के विकल्प उपलब्ध होते है। कॉमर्स के छात्रों के लिए कुछ लोकप्रिय विकल्प को हम यहां आपके साथ शेयर करने जा रहे है।

Bachelor’s Degree in Commerce (B.Com): 12वीं कॉमर्स से पास करने के बाद आप आगे की पढ़ाई के लिए B.Com को चुन सकते है। B.Com एक तीन साल की बैचलर डिग्री होती है। इसको करने के बाद आपको लेखा, वित्त, कराधान और व्यवसाय प्रबंधन की एक गहरी समझ हो जाती है।

इसको भी पढ़े-   PGDCA Karne Ke Fayde: PGDCA कोर्स क्या है? पूरी जानकारी

Bachelor’s Degree in Business Administration (BBA): बीबीए एक 3 साल का अंडरग्रेजुएट डिग्री है। इसकी पढ़ाई करने के बाद आपको व्यवसाय प्रबंधन, उद्यमिता, और नेतृत्व की गहरी जानकारी हो जायेगी। 12वीं के बाद बीबीए करके भी आप अपना कैरियर बना सकते है।

Bachelor’s Degree in Economics: यदि आपको आर्थिक सिद्धांत, नीतियां और व्यवहार जैसे विषयों में रुचि है तो आप 12वीं कॉमर्स से पढ़ने के बाद आगे की पढ़ाई के लिए अर्थशास्त्र में स्नातक की डिग्री भी ले सकते है।

Professional Courses: 12वीं कॉमर्स से पढ़ने के बाद आप आप कई तरह के Professional Courses को भी कर सकते है। जैसे Chartered Accountancy, Company Secretary और Cost and Management Accounting उनमे से मुख्य है।

Law Degree: 12वीं के बाद वाणिज्य के छात्र कानून की पढ़ाई करके कानून की डिग्री भी ले सकते है। LLB जैसी कानून की डिग्री को लेकर विद्यार्थी वाणिज्यिक कानून और कॉर्पोरेट प्रशासन में एक्सपर्ट बन सकते है।

Career Options: कॉमर्स के स्टूडेंट के लिए कई सारे कैरियर के विकल्प बाजार में उपलब्ध है। कॉमर्स के स्टूडेंट अपना कैरियर बैंकिंग, वित्त, लेखा, मानव संसाधन और प्रबंधन जैसी जगह पर बहुत ही आसानी से बना सकते है।

ऊपर की बातों से हम कह सकते है कि 12वीं के कॉमर्स के स्टूडेंट के लिए कई विकल्प उपलब्ध हैं। अब ये आपकी रुचि और गोल पर निर्भर करता है कि आप इन सभी विकल्पों में से अपने लिए कौन से विकल्प का चुनाव करते है।

10वीं के बाद साइंस या कॉमर्स में कौन सा बेहतर है?

आज के समय मे विद्यार्थी को 10वीं के बाद साइंस और कॉमर्स में से किसको चुने उसको लेकर काफी चिंता रहती है। साइंस और कॉमर्स स्ट्रीम के अपने अपने फायदे और नुकसान है। ये आपके रुचि का निर्भर करता है कि आप इन दोनों में से किसका चुनाव करें।

अगर बात करे साइंस स्ट्रीम की तो उसके भी अपने अपने फायदे है। आप 10वीं के बाद साइंस स्ट्रीम से पढ़ाई करके भौतिकी, रसायन शास्त्र, जीव विज्ञान और गणित जैसे विषयों में विशेषज्ञ बन सकते है।

10वीं के बाद आप साइंस स्ट्रीम से पढ़ाई करके आप आईआईटी एनआईटी और एम्स जैसी संस्थाओं में जा सकते है। यदि आप इन संस्थाओं में एक बार चले गए उसके बाद आपका एक बढ़िया करियर बन सकता है।

इसके साथ साथ आप 10वीं के बाद साइंस स्ट्रीम से पढ़ाई करके डॉक्टर, इंजीनियर, फॉरेंसिक साइंस और एथिकल हैकिंग जैसी उच्च वेतन वाला जॉब पा सकते है।।

वही यदि आपको बिज़नेस करने में ज्यादा रुचि है तो ऐसी स्तिथि में आप 10वीं के बाद कॉमर्स स्ट्रीम का चुनाव कर सकते है। कॉमर्स स्ट्रीम से पढ़ाई करने पर आपको कंपनी सेक्रेट्री, चार्टर्ड अकाउंटेंट (CA), फाइनेंशियल एनालिस्ट जैसी पोस्ट पर काम कर सकते है।

10वीं के बाद कॉमर्स स्ट्रीम से पढ़ाई करने पर आपके अंदर व्यापारिक और आर्थिक मुद्दों की समझ बढ़ जाती है। आप कॉमर्स स्ट्रीम से पढ़ाई करके अपना खुद का व्यापार भी शुरू कर सकते है।

साइंस और कॉमर्स दोनों ही बहुत महत्वपूर्ण स्ट्रीम है। आपको अपनी रुचि के हिसाब से दोनों में से किसी एक का चुनाव करना चाहिए। यदि आपको वैज्ञानिक तथा तकनीकी विषयों में रुचि है तो आप 10वीं के बाद साइंस स्ट्रीम का चुनाव करें। वही यदि आपको व्यापार, आर्थिक मुद्दे और विपणन में रुचि है। तो इस स्तिथि में आपको 10वीं के बाद कॉमर्स स्ट्रीम का चुनाव करें।

निष्कर्ष:

अब तक के आर्टिकल में आपको 10th Ke Baad Commerce Lene Ke Fayde के अलावा और भी कई महत्तपूर्ण चीज़ो के बारे में अच्छी जानकारी मिल गई होगी! 10वीं के बाद कॉमर्स से पढाई करके आप एक बढ़िया करियर बना सकते है!

यदि आपका इस पुरे आर्टिकल को लेकर कोई सवाल या फिर सुझाव हो तो आप कमेंट माध्यम से हमसे पूछ सकते है! हम आपके उस सवाल या फिर सुझाव का एक उचित जबाब जल्द से जल्द देने की कोशिश करेगें!

10वीं के बाद कॉमर्स लेने के फायदे के बारे में सामान्य प्रश्न?

कॉमर्स स्टूडेंट को कितने घंटे पढ़ाई करनी चाहिए?

कॉमर्स स्टूडेंट को कितने घंटे पढ़ाई करनी चाहिए ये उसके सीखने की शैली, कार्यभार और लक्ष्य पर निर्भर करता है। एक कॉमर्स स्टूडेंट को औसत हर रोज कम से कम 4-5 घंटे की पढ़ाई करना बहुत जरूरी है।

क्या कॉमर्स में मैथ्स होते हैं?

हां! गणित कॉमर्स शिक्षा का एक हिस्सा है! कॉमर्स के विद्यार्थीबीजगणित, ज्यामिति, त्रिकोणमिति और सांख्यिकी जैसे basic mathematics को पढ़ते है।

कॉमर्स में सबसे अच्छी नौकरी कौन सी है?

कॉमर्स में सबसे अच्छी नौकरी चार्टर्ड अकाउंटेंसी, निवेश बैंकिंग, वित्तीय विश्लेषण, कराधान और प्रबंधन परामर्श की होती है। इनका वेतन और पैकेज भी बहुत ज्यादा होता है।

क्या कॉमर्स वाले BA कर सकते हैं?

हां! कॉमर्स वाले Bachelor of Arts (BA) कर सकते हैं? लेकिन मैं आपको कभी भी सलाह नही दुंगा की 12वीं कामर्स से पढ़ने के बाद BA करें। क्योंकि BA और commerce दोनों अलग क्षेत्र है।

क्या 12वीं कॉमर्स कठिन है?

12वीं का कॉमर्स आपके लिए थोड़ा चुनौतीपूर्ण हो सकता है क्योंकि इसमे विषयों की विस्तृत श्रृंखला होती है। इसलिए आपको 12वीं कॉमर्स की पढ़ाई अनुशासित दृष्टिकोण के साथ करनी पड़ेगी।

भारत मे सीए (CA) की 1 महीने की सैलरी कितनी होती है?

भारत मे सीए (CA) की नौकरी को एक उच्च वेतन वाला नौकरी माना जाता है। भारत मे एक औसत सीए (CA) की सैलरी 80000-90000 रुपये प्रति महीना तक हो सकती है। समय के साथ साथ अनुभव होने पर यह सैलरी 150000-500000 रुपये प्रति महीना तक हो सकती है।

मेरा नाम सद्दाम हुसैन है और मैं इस ब्लॉग का फाउंडर और कंटेंट राइटर हूँ। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन, सरकारी नौकरी, जॉब, कैरियर, बिजनेस, कोर्सेज और सेलेबस से रिलेटेड हर नई और महत्वपूर्ण लेख को रेगुलर बेसिक पर प्रकाशित करता रहता हूँ।

Leave a Comment

error: Content is protected !!