गवर्नमेंट जॉब के लिए कौन सा कंप्यूटर कोर्स करें? टॉप 6 कोर्स

यदि आप एक ऐसा कंप्यूटर कोर्स करना चाहते हैं जिसके माध्यम से आपको गवर्नमेंट जॉब पा मिल सके। तो आप बिल्कुल सही जगह पर आये हैं। भारत में बहुत से अच्छे अच्छे कंप्यूटर कोर्स है जिनको करके आप एक उच्च कोटि की हाई सैलरी वाली गवर्नमेंट जॉब पा सकते हैं।

इस लेख में हम आपको गवर्नमेंट जॉब के लिए कौन सा कंप्यूटर कोर्स करें उनके बारे में पूरे विस्तार से बतायेगें। इस पूरे लेख को पढ़ने के बाद आपको एक आईडिया लग जायेगा कि गवर्नमेंट जॉब के लिए कौन सा कंप्यूटर कोर्स करना चाहिए।

गवर्नमेंट जॉब के लिए कौन सा कंप्यूटर कोर्स करें?

यहाँ हम आपके साथ कुछ उच्च कोटि के कंप्यूटर कोर्स के बारे में बताने जा रहे हैं। यदि अपने इन कंप्यूटर कोर्स को कर लेते हैं तो आपको गवर्नमेंट जॉब के अलावा प्राइवेट सेक्टर में भी उच्च कोटि की हाई सैलरी वाली जॉब के मिलने की संभावना काफी बढ़ जायेगी।

1. सीसीसी कोर्स (CCC Course):

सीसीसी का मतलब कोर्स ऑन कंप्यूटर कॉन्सेप्ट्स होता है। सीसीसी कोर्स एक काफी प्रसिद्ध कंप्यूटर कोर्स है। सीसीसी कोर्स में विद्यार्थियों को कंप्यूटर के बुनियादी सिद्धांतों, हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर और ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में ज्ञान दिया जाता है। इसके साथ साथ सीसीसी कोर्स में वर्ड प्रोसेसिंग, स्प्रेडशीट और इंटरनेट ब्राउजिंग के बारे में भी सिखाया जाता है।

भारत के कई राज्यो में गवर्नमेंट जॉब के लिए सीसीसी कोर्स को अनिवार्य कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश सरकार ने भी डेटा एंट्री ऑपरेटर, क्लर्क और स्टेनोग्राफर जैसी गवर्नमेंट जॉब के लिए सीसीसी कोर्स को अनिवार्य कर दिया है।

सीसीसी कंप्यूटर कोर्स उन विद्यार्थियों के लिए बेहतरीन हैं जो कंप्यूटर की बेसिक जानकारी लेना चाहते है। सीसीसी कंप्यूटर कोर्स के माध्यम से आप कई जगहों पर सरकारी और प्राइवेट जॉब ले सकते हैं।

सीसीसी कोर्स की अवधि: सीसीसी कोर्स की अवधि आमतौर पर 3 महीना होता है। इन 3 महीने में सीसीसी कोर्स के माध्यम से कंप्यूटर की बेसिक जानकारी को विद्यार्थियों के साथ पूरे विस्तार से साझा किया जाता है।

सीसीसी कोर्स की फीस: अलग अलग संस्थानों में सीसीसी कोर्स की फीस अलग अलग होती है। अगर बात करें एक औसत सीसीसी कोर्स की फीस तो वह ₹1000 से ₹3000 तक हो सकता है।

सीसीसी कोर्स के लिए योग्यता: कोई भी विद्यार्थी जो भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं पास हो वह सीसीसी कोर्स कर सकता है।

सीसीसी कोर्स बाद गवर्नमेंट जॉब:

सीसीसी कोर्स करने के बाद आप कई सारे गवर्नमेंट जॉब में आवेदन करके अपने लिए एक सरकारी नौकरी ले सकते हैं। कुछ महत्वपूर्ण जॉब निम्नलिखित है।

  • स्टेनोग्राफर
  • डेटा एंट्री ऑपरेटर
  • फ्रंट डेस्क कार्यकारी
  • बैक ऑफिस कार्यकारी
  • कंप्यूटर लैब सहायक
  • क्लर्क असिस्टेंट
  • प्रोग्रामर
इसको भी पढ़े-   BAMS Ke Baad Government Job: 10 बेहतरीन सरकारी नौकरियां?

सीसीसी करने के बाद जॉब सैलरी: औसतन ₹20000- ₹25000 प्रति महीना

2. कंप्यूटर साइंस में बी.टेक (B.Tech in Computer Science):

कंप्यूटर साइंस में बी.टेक एक उच्च कोटि की हाई सैलरी वाला कंप्यूटर कोर्स है। इस कोर्स को करने के बाद आपके अंदर कंप्यूटर साइंस का बेहतरीन ज्ञान आ जाता है। इस कोर्स में विद्यार्थियों को प्रोग्रामिंग भाषाएं, डेटाबेस प्रबंधन, सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग और कंप्यूटर नेटवर्क के बारे में उच्च कोटि का ज्ञान दिया जाता है।

कुछ लोगो को लगता है कि कंप्यूटर साइंस में बी.टेक करने के बाद हमको केवल प्राइवेट सेक्टर में ही जॉब मिलता है। यदि आप भी ऐसा सोचते है तो आप गलत सोचते है। कंप्यूटर साइंस में बी.टेक करके आप कई सारी सरकारी विभाग जैसे भारतीय रेल, बीएसएनएल, इसरो, डीआरडीओ, ईसीआईएल, संघ लोक सेवा आयोग और सीडीएस में उच्च कोटि की हाई सैलरी वाली गवर्नमेंट जॉब पा सकते हैं।

कंप्यूटर साइंस में बी.टेक कोर्स की अवधि: कंप्यूटर साइंस में बी.टेक की अवधि आमतौर पर 4 साल का होता है। इन 4 साल को 8 सेमेस्टर में बाटा गया है।

कंप्यूटर साइंस में बी.टेक कोर्स फीस: कंप्यूटर साइंस में बी.टेक कोर्स की फीस हर एक कॉलेज और संस्थान में अलग अलग होती है। अगर बात करें एक औसतन फीस की तो वह 2 लाख से 4 लाख प्रति साल तक हो सकता है।

कंप्यूटर साइंस में बी.टेक कोर्स के लिए योग्यता: कंप्यूटर साइंस में बी.टेक कोर्स के लिए विद्यार्थी 12वीं साइंस स्ट्रीम से 50% से ज्यादा अंक से पास होना चाहिए।

कंप्यूटर साइंस में बी.टेक कोर्स के बाद गवर्नमेंट जॉब:

कंप्यूटर साइंस में बी.टेक कोर्स करने के बाद आप कई सारे गवर्नमेंट जॉब में आवेदन करके अपने लिए एक सरकारी नौकरी ले सकते हैं। कुछ महत्वपूर्ण जॉब को नीचे शेयर कर रहा हूँ।

  • सॉफ्टवेयर इंजीनियर
  • सॉफ्टवेयर डेवलपर
  • डेटा वैज्ञानिक
  • डेटाबेस प्रशासक
  • नेटवर्क व्यवस्थापक

3. एडवांस डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन ( ADCA ):

ADCA एक एक बेहतरीन कंप्यूटर कोर्स है जो आपको एक बढ़िया गवर्नमेंट जॉब लेने में काफी सहायता कर सकता है। ADCA कंप्यूटर कोर्स में विद्यार्थियों को मुख्य रूप से ऑपरेटिंग सिस्टम, वर्कशीट, C और C++, HTML और JavaScript के बारे में उच्च कोटि का ज्ञान दिया जाता है।

ADCA कोर्स की अवधि: ADCA कोर्स की अवधि आमतौर पर 1 साल का होता है। इन 1 साल को 2 सेमेस्टर में बाटा गया है।

ADCA कोर्स की फीस: ADCA कोर्स की फीस हर एक कॉलेज और संस्थान में अलग अलग होती है। अगर बात करें एक औसतन फीस की तो वह ₹5000 से ₹10000 तक हो सकता है।

ADCA कोर्स के लिए योग्यता: ADCA कोर्स के लिए विद्यार्थी 12वीं साइंस स्ट्रीम से 45% से ज्यादा अंक से पास होना चाहिए। इसके साथ साथ विद्यार्थी की उम्र कम से कम 15 साल तक होनी चाहिए।

ADCA कोर्स करने के बाद गवर्नमेंट जॉब:

ADCA कोर्स करने के बाद आप कई सारे गवर्नमेंट जॉब में आवेदन करके अपने लिए एक सरकारी नौकरी ले सकते हैं। कुछ महत्वपूर्ण जॉब को नीचे शेयर कर रहा हूँ।

  • जूनियर प्रोग्रामर
  • डेटा एंट्री ऑपरेटर
  • कंप्यूटर ऑपरेटर
  • वेब डेवलपर
  • सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर

4. बैचलर इन कंप्यूटर एप्लीकेशन (BCA):

यदि आप गवर्नमेंट जॉब के लिए एक बेहतरीन कंप्यूटर कोर्स करने के बारे में सोच रहे हैं तो बैचलर इन कंप्यूटर एप्लीकेशन (BCA) आपके लिए एक बेस्ट विकल्प हो सकता है। बैचलर इन कंप्यूटर एप्लीकेशन में विद्यार्थियों को मुख्य रूप से कंप्यूटर एप्लीकेशन, प्रोग्रामिंग लैंग्वेज, डेटाबेस मैनेजमेंट और सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट के बारे में उच्च स्तरीय ज्ञान दिया जाता है।

इसको भी पढ़े-   12वीं के बाद ट्रैफिक पुलिस कैसे बनें: सबकुछ विस्तार से जाने?

बैचलर इन कंप्यूटर एप्लीकेशन (BCA) कोर्स में जिन चीज़ों के बारे में पढ़ाया जाता है उनका गवर्नमेंट विभाग में काफी डिमांड है। बैचलर इन कंप्यूटर एप्लीकेशन (BCA) कोर्स के बाद मिलने वाला जॉब उच्च कोटि की हाई सैलरी वाला होता है।

BCA कोर्स की अवधि: BCA कोर्स की अवधि आमतौर पर 3 साल का होता है। इन 3 साल को 6 सेमेस्टर में बाटा जाता है।

BCA कोर्स की फीस: BCA कोर्स की फीस हर एक कॉलेज और संस्थान में अलग अलग होती है। अगर बात करें एक औसतन फीस की तो वह ₹20000 से ₹100000 तक हो सकता है।

BCA कोर्स के लिए योग्यता: BCA कोर्स के लिए विद्यार्थी 12वीं साइंस स्ट्रीम से 45% से ज्यादा अंक से पास होना चाहिए। इसके साथ साथ विद्यार्थी की उम्र कम से कम 17 साल तक होनी चाहिए।

BCA कोर्स करने के बाद गवर्नमेंट जॉब:

BCA कोर्स करने के बाद आप कई सारे गवर्नमेंट जॉब में आवेदन करके अपने लिए एक सरकारी नौकरी ले सकते हैं। कुछ महत्वपूर्ण जॉब को नीचे शेयर कर रहा हूँ।

  • सॉफ्टवेयर डेवलपर
  • प्रोग्रामर
  • सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर
  • आईटी मैनेजर

5. बीएससी इन कंप्यूटर साइंस कोर्स (B.Sc in Computer Science):

बीएससी इन कंप्यूटर साइंस एक बेहतरीन और काफी प्रसिद्ध कंप्यूटर कोर्स है। यह कोर्स विद्यार्थियों को कई सारे गवर्नमेंट जॉब लेने का अवसर प्रदान करता है। बीएससी इन कंप्यूटर साइंस कोर्स में विद्यार्थियों को मुख्य रूप से कंप्यूटर प्रोग्रामिंग, डेटा स्ट्रक्चर, एल्गोरिदम, कंप्यूटर नेटवर्क और सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग का उच्च कोटि का ज्ञान दिया जाता है।

बीएससी इन कंप्यूटर साइंस कोर्स की अवधि: बीएससी इन कंप्यूटर साइंस कोर्स की अवधि मुख्य रूप से 3 साल का होता है। इन 3 साल को 6 सेमेस्टर में बाटा जाता है।

बीएससी इन कंप्यूटर साइंस कोर्स की फीस: बीएससी इन कंप्यूटर साइंस कोर्स की फीस सरकारी कॉलेजो में ₹30000 से ₹50000 प्रति साल तक होती है। वही प्राइवेट कॉलेजो में यही फीस ₹90000 से ₹150000 प्रति साल तक होता है।

बीएससी इन कंप्यूटर साइंस कोर्स के लिए योग्यता: बीएससी इन कंप्यूटर साइंस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए विद्यार्थी 12वीं PCM से पास होना चाहिए। इसके साथ साथ उनका 12वीं में 50% से ज्यादा अंक आना चाहिए।

बीएससी इन कंप्यूटर साइंस कोर्स करने के बाद गवर्नमेंट जॉब:

बीएससी इन कंप्यूटर साइंस कोर्स करने के बाद आप कई सारे गवर्नमेंट जॉब पा सकते है। कुछ महत्वपूर्ण और प्रसिद्ध गवर्नमेंट जॉब को हम यहाँ शेयर कर रहे है।

  • इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी अफसर
  • जूनियर प्रोग्रामर
  • टेक्निकल असिस्टेन्ट
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियर
  • साइंटिस्ट/इंजीनियर

6. डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन कोर्स ( DCA ):

भारत मे कई सारे सरकारी विभाग हैं जहाँ पर जॉब पाने के लिए डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन कोर्स की जरूरत पड़ती है। एक डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन कोर्स में विद्यार्थियों को कंप्यूटर प्रोग्रामिंग, सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट, वेब डिज़ाइन, डेटाबेस मैनेजमेंट और कंप्यूटर नेटवर्किंग के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की जाती है।

डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन की अवधि: डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन की अवधि मुख्य रूप से 6 महीन से 1 साल तक होता है। 6 महीन से 1 साल तक के कोर्स में विद्यार्थियों को कंप्यूटर प्रोग्रामिंग, सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट, वेब डिज़ाइन, डेटाबेस मैनेजमेंट और कंप्यूटर नेटवर्किंग के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की जाती है।

इसको भी पढ़े-   बीएससी एग्रीकल्चर के बाद गवर्नमेंट जॉब: टॉप 10 करियर विकल्प?

डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन की फीस: डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन की फीस अलग अलग कॉलेजो और संस्थानों में अलग अलग होती है। डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन की एक औसत फीस ₹10000 से ₹50000 तक हो सकती है।

डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन कोर्स के लिए योग्यता: भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं पास विद्यार्थी डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन कोर्स में एडमिशन ले सकता है।

डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन के बाद गवर्नमेंट जॉब:

डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन कोर्स करने के बाद आप कई सारे गवर्नमेंट जॉब पा सकते है। कुछ महत्वपूर्ण और प्रसिद्ध गवर्नमेंट जॉब को हम यहाँ शेयर कर रहे है।

  • कंप्यूटर ऑपरेटर
  • डेटा एंट्री ऑपरेटर
  • नेटवर्क तकनीशियन
  • सिस्टम एनालिस्ट

निष्कर्ष:

इस लेख में हमने देखा कि एक बढ़िया सरकारी नौकरी लेने के लिए आप कंप्यूटर कोर्स का सहारा ले सकते है। सीसीसी कोर्स, बीटेक कंप्यूटर साइंस, एडवांस्ड डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लिकेशन, बीसीए, और बीएससी कंप्यूटर साइंस जैसे कंप्यूटर कोर्स छात्रों को सरकारी नौकरियों में अच्छे रोजगार के अवसर प्रदान कर सकते हैं।

मुझे पूरी उम्मीद है जी इस पूरे लेख को पढ़ने के बाद आपको गवर्नमेंट जॉब के लिए कौन सा कंप्यूटर कोर्स करें उसके बारे में काफी अच्छी जानकारी हो गई होगी। यदि आपका इस लेख को लेकर कोई और सवाल हो तो आप पूछ सकते हैं। हम आपके सवाल का जबाब जल्द से जल्द देने की कोशिश करेगें।

गवर्नमेंट जॉब के लिए कौन सा कंप्यूटर कोर्स करें के बारे में सामान्य प्रश्न?

भविष्य के लिए कौन सा कंप्यूटर कोर्स बेस्ट है?

भविष्य के लिए सबसे बेहतरीन कंप्यूटर कोर्स बीटेक (बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन) है। इस कंप्यूटर कोर्स में विद्यर्थियों को प्रोग्रामिंग भाषाएँ, डेटाबेस मैनेजमेंट, और सॉफ़्टवेयर डेवलपमेंट के बारे में ज्ञान दिया जाता है।

कंप्यूटर सीखने के बाद कौन सी नौकरी मिल सकती है?

कंप्यूटर सीखने के बाद आपको कई तरह की नौकरियां मिल सकती हैं। जैसे डाटा एंट्री ऑपरेटर, कंप्यूटर ऑपरेटर, वेब डेवलपर, सॉफ्टवेयर इंजीनियर, डेटा साइंटिस्ट, नेटवर्क एडमिनिस्ट्रेटर और यूज़र इंटरफ़ेस डिज़ाइनर उनमे से मुख्य है।

क्या सरकारी नौकरी के लिए सीसीसी अनिवार्य है?

हां, सरकारी नौकरी के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने सीसीसी प्रमाणपत्र को अनिवार्य कर दिया है। यह प्रमाणपत्र डाटा एंट्री ऑपरेटर, क्लर्क और स्टेनोग्राफर जैसे नौकरियों के लिए ही अनिवार्य है।

मेरा नाम सद्दाम हुसैन है और मैं इस ब्लॉग का फाउंडर और कंटेंट राइटर हूँ। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन, सरकारी नौकरी, जॉब, कैरियर, बिजनेस, कोर्सेज और सेलेबस से रिलेटेड हर नई और महत्वपूर्ण लेख को रेगुलर बेसिक पर प्रकाशित करता रहता हूँ।

2 thoughts on “गवर्नमेंट जॉब के लिए कौन सा कंप्यूटर कोर्स करें? टॉप 6 कोर्स”

  1. Howdy! This is kind of off topic but I need some help from an established blog.
    Is it difficult to set up your own blog? I’m not very techincal
    but I can figure things out pretty quick. I’m thinking
    about making my own but I’m not sure where to begin. Do you have any points or suggestions?
    Cheers

    Reply
  2. First off I want to say terrific blog! I had a quick question that
    I’d like to ask if you do not mind. I was curious to know how you
    center yourself and clear your mind prior to writing.
    I have had difficulty clearing my mind in getting my thoughts out.
    I do take pleasure in writing but it just seems like the first
    10 to 15 minutes are lost just trying to figure out how to begin. Any ideas
    or tips? Appreciate it!

    Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!